DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो साल की उपलब्धियां कुछ खास नहीं : वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत

दो साल के जश्न मनाने की तैयारी कर रही त्रिवेंद्र सरकार को उसके ही एक कबीना मंत्री ने जोर का झटका दिया है। वन मंत्री डा. हरक सिंह ने कहा कि दो साल में हम ज्यादा कुछ बेहतर नहीं कर पाए। दूसरे शब्दों में कहें तो सरकार की दो साल की उपलब्धियां कुछ खास नहीं रहीं।  वन मंत्री ने बुधवार को प्रांतीय वन सेवा संघ के अधिवेशन में ये बात कही। प्रांतीय वन सेवा के अधिकारियों को संबोधित करते हुए हरक सिंह ने दुखी मन से कहा कि जितना करना चाहिए था हम दो साल में उतना बेहतर नहीं कर पाए।  उनके इस बयान से उनकी खुलकर काम ना कर पाने की कसमसाहट भी साफ झलक रही थी।  वन मंत्री ने जोश के साथ ये भी कहा कि लोग पहले उन्हें गढ़वाल का शेर कहते थे और अब उत्तराखंड का शेर कहते हैं। हरक सिंह के इन बयानों के कई राजनैतिक मायने निकाले जा रहे हैं। इससे पूर्व वे राहुल गांधी की तारीफ कर चुके हैं।   

निशंक नहीं बना पाए थे मेडिकल कालेज
हरक सिंह ने कहा उन्होंने कांग्रेस सरकार में चिकित्सा शिक्षा मंत्री रहते हुए दून मेडिकल कालेज का निर्माण करवाया था। जबकि अधिकारियों ने उन्हें कहा था कि मेडिकल कालेज नहीं बन सकता और इसके लिए पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी प्रयास कर चुके हैं। इस पर हरक से तल्ख अंदाज में कहा कि इसके बावजूद मैनें ये कर दिखाया।  

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:uttarakhand forest minister dr harak singh rawat is unhappy over two year tenure in state