ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड1.6 करोड़ की चोरी करने का नायाब तरीका, फर्जी बिलों से चूना लगा रही कंपनी की जांच में कर विभाग भी हैरान

1.6 करोड़ की चोरी करने का नायाब तरीका, फर्जी बिलों से चूना लगा रही कंपनी की जांच में कर विभाग भी हैरान

अधिकारियों के अनुसार गोपनीय जांच एवं डाटा की समीक्षा करने पर यह भी पाया गया कि ये बोगस फर्मे टायर की खरीद अस्तित्वहीन फर्मों से दिखा रही थी। साथ ही देहरादून की फर्म को पेण्टिंग, फ्लैक्स की बिक्री की।

1.6 करोड़ की चोरी करने का नायाब तरीका, फर्जी बिलों से चूना लगा रही कंपनी की जांच में कर विभाग भी हैरान
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तानSat, 17 Feb 2024 07:06 PM
ऐप पर पढ़ें

राज्य कर विभाग की टीम ने प्रचार सामग्री के कारोबार से जुडी दून की एक फर्म पर छापा मारकर 1.6 करोड रुपये की जीएसटी चोरी पकड़ी है। यह कंपनी जीएचटी चोरी के लिए ऐसी कंपनियों के बिलों का इस्तेमाल कर रही थी, जो धरातल पर मौजूद ही नहीं है।

छापे के बाद फर्म के संचालकों ने मौके पर ही 33.20 लाख रुपये भी जमा कराए हैं। कर आयुक्त डॉ. इकबाल अहमद के निर्देश पर सहायक आयुक्त मनमोहन असवाल और टीका राम चन्याल की टीम ने शनिवार को दून विश्वविद्यालय रोड पर स्थित फर्म के कार्यालय और संचालक के घर पर छापा मारा।

जांच में पाया गया कि फर्म ने सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग से भी करीब 18 करोड़ का भुगतान लिया है। फर्म ने जीएचटी चोरी के लिए दिल्ली की कुछ फर्मों से बोगस इन्वाईस इस्तेमाल किए हैं। इन फर्मों के पास बेचे गये माल की न तो खरीद थी और न ही माल के परिवहन का कोई प्रमाण था।

अधिकारियों के अनुसार गोपनीय जांच एवं डाटा की समीक्षा करने पर यह भी पाया गया कि ये बोगस फर्मे टायर की खरीद अस्तित्वहीन फर्मों से दिखा रही थी। साथ ही देहरादून की फर्म को पेण्टिंग, फ्लैक्स की बिक्री भी दिखा रही थी।

फिलहाल करीब 1.65 करोड़ की टैक्स चोरी सामने आई है। फर्म के कार्यालय परिसर में भी कोई काम होता नहीं पाया गया। फर्म मालिक ने जांच के दौरान 33.20 लाख रूपये जमा कराये गये हैं। बाकी टैक्स की ब्याज सहित वसूली के लिए कार्यवाही की जा रही है।

राज्य कर विभाग की हरिद्वार की विशेष अनुसंधान शाखा ने भी जीएसटी चोरी कर रही फर्मों पर छापेमारी की कार्यवाही करते हुये 20 लाख रूपये जमा कराये गये हैं। जांच टीम में राज्य कर अधिकारी असद अहमद, अलीशा बिष्ट, ईशा, गजेन्द्र सिंह भण्डारी, शैलेन्द्र चमोली एवं निरीक्षक हेमा पुण्डीर शामिल रहे।

फर्जी बिल लगाने वाली फर्मों पर होगी लगातार कार्रवाई
आयुक्त राज्य कर डॉ. इकबाल ने बोगस बिलिंग या फर्जी इनपुट का लाभ उठाकर कर चोरी करने वाली अन्य फर्मों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए है साथ ही सभी करदाताओं से समय पर सही कर जमा कराने की अपील भी की। व्यापारी हेल्पलाइन नं0- 1800120122277 पर अपनी समस्याओ का समाधान भी पा सकते हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें