Two crores plants planted in Uttarakhand in a day says trivendra singh rawat - उत्तराखंड में एक दिन में रोपे जाएंगे दो करोड़ पौधे: त्रिवेंद्र सिंह रावत DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तराखंड में एक दिन में रोपे जाएंगे दो करोड़ पौधे: त्रिवेंद्र सिंह रावत

Trivendra Singh Rawat

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि सरकार विकास के साथ ही हिमालय के पर्यावरण को लेकर भी सजग है। इसी के चलते हर साल हरेला पर्व पर ज्यादा से ज्यादा पौधरोपण किया जा रहा है। सरकार ने अगले साल एक दिन में दो करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है।

'हिन्दुस्तान हिमालय-बचाओ पॉलीथिन हटाओ' अभियान के तहत देहरादून में आयोजित समारोह में त्रिवेंद्र ने कहा कि, वेदों में कहा गया है कि, एक वृक्ष दस पुत्रों के बराबर है। इसलिए सरकार पर्यावरण संरक्षण के लिए लोगों को जोड़ने का काम कर रही है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज हालात ऐसे हो गए हैं कि एनसीआर में लोग उत्तराखंड की शुद्ध हवा बेच रहे हैं। हिमालय बहुत बड़े भूभाग को पानी उपलब्ध कराता है। इसलिए न केवल हिमालय, बल्कि उसकी जलवायु में अहम योगदान निभाने वाले वृक्ष, नदी, झरनों का भी संरक्षण करना होगा। समारोह में मुख्यमंत्री ने 'हिन्दुस्तान हिमालय बचाओ, पॉलीथिन हटाओ' विषय पर आयोजित भाषण प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया।

आर्गेनिक खेती पर दिया जोर
सीएम त्रिवेंद्र ने कहा कि गंगा और यमुना में जल प्रदूषण का बड़ा कारण खेतों में रासायनिक खादों का अत्यधिक प्रयोग भी है। रसायन न केवल हिमालय बेसिन की उपजाऊ जमीन की उर्वरता कम कर रहे हैं, बल्कि नदियों के पानी को भी दूषित कर रहे है। ऐसे में हमारे किसानों को कोशिश करनी चाहिए कि वे जैविक खेती या प्राकृतिक खेती का रुख कर इस संकट को खत्म करें।

दो लाख कपड़े के बैग बांटे जाएंगे : मेयर
'हिन्दुस्तान हिमालय बचाओ-पॉलीथिन हटाओ' अभियान के समापन कार्यक्रम में मेयर सुनील उनियाल गामा ने कहा कि, देहरादून का पालीथिनमुक्त करने के लिए नगर निगम ने पूरी तैयारी कर ली है। नगर निगम ने दो लाख कपड़े के बैग तैयार करवाए हैं। ये बैग शहर के दो लाख परिवारों को बांटे जाएंगे। 

बदरीनाथ-केदारनाथ धाम होंगे कूड़ारहित : थपलियाल
बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल ने कहा कि बदरीनाथ और केदारनाथ धाम को कूड़ारहित बनाया जाएगा। प्लास्टिक कूड़े के काम्पेक्टर मशीन लगने से दोनों धाम कूड़ारहित हो जाएंगे। इस कूड़े से आईआईपी देहरादून डीजल बनाने के लिए भेजा जाएगा। थपलियाल ने कहा कि छोटे-छोटे प्रयास ही हिमालय को स्वस्थ्य और सुरक्षित बना सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Two crores plants planted in Uttarakhand in a day says trivendra singh rawat