DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  पारिवारिक महिला पर अभद्र टिप्पणी से नाराज सगे भाईयों ने युवक की कर दी हत्या, एक गिरफ्तार दूसरा फरार
उत्तराखंड

पारिवारिक महिला पर अभद्र टिप्पणी से नाराज सगे भाईयों ने युवक की कर दी हत्या, एक गिरफ्तार दूसरा फरार

हिन्दुस्तान टीम, विकासनगर Published By: Himanshu Kumar Lall
Mon, 14 Jun 2021 04:37 PM
पारिवारिक महिला पर अभद्र टिप्पणी से नाराज सगे भाईयों ने युवक की कर दी हत्या, एक गिरफ्तार दूसरा फरार

विकासनगर में शनिवार की देर रात को उदियाबाग के टी-स्टेट ट्रक चालक की नृशंस हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इस हत्याकांड को दो सगे भाइयों ने अंजाम दिया है। पुलिस ने हत्याकांड में शामिल छोटे भाई को गिरफ्तार कर दिया है। जबकि दूसरा आरोपी फरार है। पुलिस ने हत्या में शामिल दोनों आरोपी भाइयों के खिलाफ हत्या का मुकदमा तरमीम कर दिया है। गिरफ्तार आरोपी को पुलिस कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है। जबकि फरार आरोपी की पुलिस तलाश में जुटी है। शनिवार करीब ग्यारह बजे रात को गांव के चौकीदार ने कोतवाल विकासनगर को सूचना दी कि टी-स्टेट में डेड बॉडी पडी है। जिस पर कोमवाल प्रदीप बिष्ट के नेतृत्व में पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। चाय बागान मे पड़े मृतक के शव की पहचान सौरव उर्फ सागर 23 पुत्र राजकुमार निवासी लक्ष्मीपुर थाना सहसपुर जनपद देहरादून रूप में हुई।

मौके से साक्ष्य संकलन की कार्यवाही कर मृतक के शव का पंचायतनामा व पोस्टमार्टम की कार्यवाही की गई। इस मामले में मृतक के भाई रोहित पुत्र राजकुमार की तहरीर पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरु की। इस मामले में पुलिस ने घटना स्थल का मौका मुआयना करने के साथ साक्ष्य जुटाये। जिसमें पुलिस को मौके पर दो मोबाइल फोन, चप्पल, शराब पीने के तीन डिस्पोजल गिलास व एक प्लास्टिक की प्लेट मिली। मौके पर मिले इन महत्वपूर्ण साक्ष्यों, सीसीटीवी कैमरों को खंगालने व आसपास के लोगों से पूछताछ के बाद पुलिस ने आरोपियों पर अपना शिकंजा कसा। इस मामले में पुलिस सर्विलांस टीम की सहायता ली।

पूरी जांच पड़ताल में दो सगे भाइयों कमरेज पुत्र खालिद व उसके छोटे भाई कंचन पुत्र खालिद दोनों मूल निवासी तारकपुर लालबाग, थाना बोरपुर जिला मुर्शिदाबाद पश्चिम बंगाल हाल किरायेदार गुडरिच उदियाबाग का नाम सामने आया। जिस पर पुलिस ने आरोपी कंचन को गिरफ्तार किया। लेकिन हत्यारोपी बड़ा भाई कमरेज फरार हो गया। जो अब तक पुलिस के हत्थे नहीं चढा। गिरफ्तार कमरेज ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि उन दोनो भाइयों ने लात घूंसे मारकर व गला घोंटकर सौरभ उर्फ सागर को मौत के घाट उतारा। जिस पर पुलिस ने आरोपी कंचन व उसके भाई कमरेज के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया। सीओ वीडी उनियाल ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपी कंचन को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया है। जबकि दूसरे आरोपी कमरेज की तलाश जारी है। पुलिस की टीम में कोतवाल प्रदीप बिष्ट, एसएसआई कुलवंत सिंह, चौकी प्रभारी हरर्बपुर प्रमोद कुमार, बाजार चौकी प्रभारी अर्जुनसिंह गुसांई, एसआई सुरेश चंद्र बलूनी, कांस्टेबल किरणपाल सिंह, जावेद, त्रेपन, राजेश, मनोज, राजीव, गजेन्द्र शामिल रहे।

पारिवारिक महिला पर अभद्र टिप्पणी बनी हत्या का कारण
सौरभ की हत्या के मामले में पहले से ही कयास लगाये जा रहे थे कि किसी महिला को लेकर हत्या की गयी। इस मामले में गिरफ्तार कंचन ने बताया कि शराब पीने के दौरान सौरभ उर्फ सागर ने उनकी पारिवारिक महिला के बारे में बहुत गंदी व अभद्र टिप्पणी की। जिसके दोनो भाइयों का खून खौल गया और उन्होने लात घूसों व मुक्कों से उसकी पिटाई कर बाद में गला घोंटकर हत्या कर दी।

हत्या से पहले शराब पी
पुलिस की गिरफ्त में आये कंचन ने बताया कि वह मूल रूप से पश्चिमी बंगाल का रहने वाला है। यहां पर अपने भाई कमरेज, भाभी व मां के साथ रह रहा है। कुछ समय पूर्व उसकी जान पहचान मृतक सौरव उर्फ सागर से हुई। घटना के दिन शनिवार को सागर उसके कमरे पर दिन में डेढ बजे शराब का क्वार्टर लेकर आया। जिसे दोनों ने पिया। उसके बाद सागर घर चला गया। बताया कि रात के दस बजे फिर सौरभी दो क्वार्टर शराब लेकर उनके कमरे पर आया। जहां उसका भाई कमरेज मौजूद था। फिर सागर की मोटर साइकिल पर बैठकर हम टीस्टेट में शराब पीने चले गये।

 

 

संबंधित खबरें