ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडदिल्ली नेशनल हाईवे पर 3 घंटे तक ट्रैफिक जाम, टनल में फंसने से सांस लेने में भी दिक्कत  

दिल्ली नेशनल हाईवे पर 3 घंटे तक ट्रैफिक जाम, टनल में फंसने से सांस लेने में भी दिक्कत  

दिल्ली हाईवे पर आशारोड़ी-मोहंड के बीच शनिवार को डामरीकरण कार्य के चलते लंबा जाम लगा। यहां जाम से पार पाने में तीन घंटे लगे। कई लोगों की ट्रेनें छूट गई। कुछ लोगों को वापस लौटना पड़ा। 

दिल्ली नेशनल हाईवे पर 3 घंटे तक ट्रैफिक जाम, टनल में फंसने से सांस लेने में भी दिक्कत  
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, लाइव हिन्दुस्तानSat, 18 Nov 2023 06:59 PM
ऐप पर पढ़ें

NCR-दिल्ली, UP समेत दूसरे प्रदेशों के लोगों को एक बार फिर नेशनल हाईवे पर ट्रैफिक जाम के झाम का सामना करना पड़ा। हाईवे पर घंटों तक मुसाफिर ट्रैफिक जाम में फंसे रहे। हाईवे पर 3 किलोमीटर तक लंबा जाम लगने से कई यात्रियों की ट्रेनें भी छूट गई। चिंता की बात रही कि आशारोड़ी टनल के अंदर जाम में फंसे लोगों को सांस लेने में भी परेशानी का सामना करना पड़ा।

जाम में फंसे यात्रियों के मोबाइल फोन में मोबाइल नेटवर्क नहीं होने क वजह से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। दूसरी ओर, हाईवे पर जाम पर पुलिस ने ट्रैफिक को पहले ही रोक दिया था, लेकिन फिर भी घटों तक कोई राहत नहीं मिली।ट्रैफिक जाम को खुलवाने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।  

दिल्ली हाईवे पर आशारोड़ी-मोहंड के बीच शनिवार को डामरीकरण कार्य के चलते लंबा जाम लगा। यहां जाम से पार पाने में तीन घंटे लगे। कई लोगों की ट्रेनें छूट गई। कुछ लोगों को वापस लौटना पड़ा। एंबुलेंस भी जाम फंस गई। जाम में फंसे लोगों को भारी परेशानियां झेलनी पड़ी। आशारोड़ी-मोहंड के बीच सड़क पर डामरीकरण का काम चल रहा है।

यह काम दिन में भी हो रहा है। वीकेंड के चलते शनिवार को सुबह से ही पर्यटक वाहनों का दबाव बढ़ने लगा था। दोपहर बाद जाम लगने लगा। देहरादून निवासी राजेश कुमार ने बताया कि उनको परिवार के साथ लुधियाना जाना था। सहारनपुर से शाम चार बजकर बीस मिनट पर ट्रेन थी।

ट्रेन को पकड़ने के लिए एक बजे आईएसबीटी से सहारनपुर के लिए चले, लेकिन आशारोड़ी के पास से ही जाम शुरू हो गया। जाम इतना लंबा था कि एक घंटे तक आशारोड़ी टनल में अंदर फंसे रहे। आशारोड़ी टनल के अंदर जाम में फंसे लोगों को सांस लेने में भी परेशानी का सामना करना पड़ा। प्राइवेट कार के अंदर बैठे बच्चों, महिलाएं समेत बुजुर्गों को जरूर राहत मिली)

लेकिन रोडवेज बसों में सफर करने वाले यात्रियों की परेशानी दोगुनी हो गई थी। तीन घंटे बाद चार बजे तक मोहंड ही पहुंच पाए। यहां से आगे ट्रैफिक सामान्य था, लेकिन ट्रेन छूट गई। बताया कि जाम में एंबुलेंस भी फंसी रही। कुछ लोग वापस लौटे। बताया कि सड़क पर डामरीकरण कार्य और बड़े ट्रकों की आवाजाही से जाम लगा है।

कहा कि डामरीकरण का काम रात के समय होना चाहिए। दिन में बड़े ट्रकों की आवाजाही पर भी रोक होनी चाहिए। दिल्ली समेत यूपी, और अन्य राज्यों से उत्तराखंड घूमने आने वाले यात्रियों का कहना था कि पुलिस को हाईवे पर अतिरिक्त फोर्स तैनात करना चाहिए ताकि लोगों को ट्रैफिक जाम से निजात मिल सके।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें