DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  कुंभ हरिद्वार:शाही स्नान को लेकर भारी वाहनों पर रोक,जानिए ट्रैफिक डायवर्ट प्लान 

उत्तराखंडकुंभ हरिद्वार:शाही स्नान को लेकर भारी वाहनों पर रोक,जानिए ट्रैफिक डायवर्ट प्लान 

हिन्दुस्तान टीम, हरिद्वारPublished By: Himanshu Kumar Lall
Fri, 09 Apr 2021 10:59 AM
कुंभ हरिद्वार:शाही स्नान को लेकर भारी वाहनों पर रोक,जानिए ट्रैफिक डायवर्ट प्लान 

हरिद्वार कुंभ के लिए 12 और 14 अप्रैल के मुख्य शाही स्नान को लेकर लाखों श्रद्धालुओं के हरिद्वार पहुंचने की उम्मीद को देखते हुए यातायात व्यवस्था बनाए रखने और भीड़ को नियंत्रित के लिए रूट प्लान जारी किया गया है। भारी वाहनों की गुरुवार मध्यरात्रि से शहर में एंट्री बंद कर दी गई है। वहीं, छोटे और हल्के  वाहनों को भीड़ बढ़ने पर शहर में आने से रोका जाएगा। सभवत: 10 अप्रैल से छोटे वाहनों को भी आने से रोक दिया जाएगा। ट्रैफिक प्लान के मुताबिक शहर में किसी भी तरह के वाहनों को नहीं आने दिया जाएगा। रोडवेज की बसों को भी शहर से बाहर निर्धारित पार्किंग में खड़ा कराया जाएगा। बड़े और छोटे दोनों तरह के वाहनों के लिए प्लान जारी किया गया है। वहीं पहली बार पार्किंग से शहर के पास तक यात्रियों को लाने के लिए यात्री सिटी बसों को चलाया जाएगा।

देहरादून, ऋषिकेश से आने वाले वाहन उत्तर हरिद्वार तक आएंगे : देहरादून ऋषिकेश मार्ग से आने वाले वाहनों को दूधियाबंध कृषि भूमि पर बनी पार्किंग पर पार्क कराया जायेगा। इस पार्किग के भर जाने पर देहरादून, ऋषिकेश की तरफ से आने वाली सभी बड़ी गाड़ियां मोतीचूर रेलवे फाटक के पास मोतीचूर-रोह पर बने पार्किंग में पार्क की जाएंगी। छोटे वाहनों को हरिपुर कलां मार्ग से होकर सप्तऋषि आश्रम के सामने सप्तऋषि पार्किंग स्थल पर पार्क कराया जाएगा।

सहारनपुर से आने वाले धीरवाली पार्किंग तक आएंगे : सहारनपुर की ओर से आने वाले बड़े और छोटे वाहन बड़कला, छुटमलपुर, गागलहेड़ी से भगवानपुर होते हुए ईमलीखेड़ा, धनौरी पुल पार कर करते हुए कांवड़ पटरी से काली माता तिराहे के सामने से बीएचईएल तिराहे से सलेमपुर पिकेट मोड़ से राजा बिस्कुट तिराहे से सिडकुल मार्ग किरबी चौराहे से चिन्मय डिग्री कॉलेज से शिवालिक नगर तिराहे, बीएचईएल मध्य मार्ग से लाकर सेक्टर-04 फाउंड्री गेट के सामने बनी धीरवाली पार्किंग तक आ सकेंगे।

दिल्ली से आने वाले वाहन दक्षद्वीप तक आएंगे
दिल्ली, मेरठ, मुजफ्फरनगर की ओर से आने वाले वाहन मंगलौर और रुड़की से लक्सर रोड, सुल्तानपुर फेरुपुर से मातृसदन होकर दक्षद्वीप पार्किंग में आएंगे। इन वाहनों को सिंहद्वार से बहादराबाद-रुड़की होकर वापस भेजा जाएगा। इस मार्ग पर यातायात का दवाब ज्यादा होने पर इन्हें मेरठ, मवाना, बिजनौर अथवा मुजफ्फरनगर, जानसठ, मीरापुर, बिजनौर, नजीबाबाद रोड से लाकर गौरीशंकर पार्किंग पर भी पार्क कराया जाएगा और इसी मार्ग से इनको वापस भेजा भी जाएगा।

रोडवेज बसों के लिए  ये रहेगी व्यवस्था 
दिल्ली से आने वाली रोडवेज की बसों को पुरकाजी के पास से लक्सर रोड के लिए डायवर्ट किया जायेगा। ये बसें लक्सर मार्ग से होते हुए दक्षद्वीप में बने अस्थाई बस अड्डे तक आएंगी। सहारनुपर से आने वाली रोडवेज की बसों को छुटमलपुर, गागलहेड़ी से भगवानपुर होते हुए ईमलीखेड़ा, धनौरी पुल से धीरवाली पार्किंग में बने अस्थाई बस अड्डे पर पार्क कराया जाएगा। नजीबाबाद कोटद्वार मार्ग से आने वाली रोडवेज बसों को 4.2 किमी से गौरीशंकर के पार्किंग में भेजा जाएगा। ऋषिकेश-देहरादून की ओर से आने वाली उत्तराखंड, हिमाचल की रोडवेज बसों को दूधाधारी चौक से मोतीचूर रेलवे स्टेशन के पास बने निर्धारित पार्किंग स्थल पर पार्क कराया जाएगा। 

बाहरी राज्यों के भारी वाहन दून होकर जाएंगे पहाड़: हरिद्वार कुंभ में रूट डायवर्ट होने पर बाहरी राज्यों से पहाड़ी जिलों में जाने वाले भारी वाहन वाया देहरादून होकर गुजरेंगे। वाहनों का संचालन रात दस बजे से सुबह पांच बजे के बीच होगा। इसे लेकर गुरुवार को एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने बैठक लेकर कार्ययोजना तैयार की।

भीड़ प्रबंधन बेहतर रखना सब की जिम्मेदारी: डीजीपी 
हरिद्वार। 12 और 14 अप्रैल को होने वाले कुंभ के शाही स्नान को लेकर पुलिसकर्मियों ने गुरुवार से कमान संभाल ली है। पुलिसकर्मी स्नान ड्यूटी पर तैनात हो गए हैं। डीजीपी अशोक कुमार ने ब्रीफिंग करते हुए कहा कि भीड़ प्रबंधन बेहतर रखना सभी की जिम्मेदारी है। शाही स्नानों के लिए हरकी पैड़ी अखाड़ों के लिए आरक्षित रहेगा, इसलिए श्रद्धालुओं को अन्य घाटों पर जाने की राह दिखाएं। 12 अप्रैल को सोमवती अमावस्या, 13 को नवसम्वत्सर और 14 को सबसे मुख्य बैसाखी के शाही स्नान को सकुशल सम्पन्न कराये जाने और सुदृढ़ पुलिस प्रबन्ध किये जाने के उद्देश्य से गुरुवार को मेला पुलिस लाइन मायापुर में ब्रीफिंग की गई। जिसमें पुलिस, पीएसी, अर्द्धसैनिक बलों एवं अन्य अनुशांगिक इकाइयों की ब्रीफिंग की गई। 

 

संबंधित खबरें