DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › क्या बदरीनाथ, केदारनाथ सहित चारों धामों में 15 जून से श्रद्धालु कर पाएंगे दर्शन,पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहीं ये बातें
उत्तराखंड

क्या बदरीनाथ, केदारनाथ सहित चारों धामों में 15 जून से श्रद्धालु कर पाएंगे दर्शन,पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहीं ये बातें

हिन्दुस्तान टीम, देहरादूनPublished By: Himanshu Kumar Lall
Mon, 07 Jun 2021 08:45 PM
क्या बदरीनाथ, केदारनाथ सहित चारों धामों में 15 जून से श्रद्धालु कर पाएंगे दर्शन,पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहीं ये बातें

उत्तराखंड में 15 जून से चारधाम यात्रा शुरू किए जाने की खबरों को विराम देते हुए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने सभी समाचारों को भ्रामक करार दिया। उन्होंने साफ किया कि अभी इस मामले में कोई फैसला लिया ही नहीं गया है। न ही कोई बैठक हुई है और न ही यात्रा 15 जून से शुरू किए जाने को लेकर कोई बयान दिया गया है। सोशल मीडिया पर चल रही इस तरह की खबरों को उन्होंने सिरे से नकारते हुए इन्हें भ्रामक करार दिया। सोमवार को सोशल मीडिया में बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में श्रद्धालुओं को दर्शन करने की अनुमति का जमकर प्रचार हो रहा था। आपको बता दें कि देश में कोरोना संक्रणम के बढ़ते मामलों के बीच उत्तराखंड सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए चारधाम यात्रा को स्थगित कर दिया था। 

हालांकि मंदिरों के कपाट अपने तय समय पर ही खोलने की अनुमति दी थी। चारधाम यात्रा शुरू करने से जुड़ी ऐसी भ्रामक और गलत खबरों का संज्ञान लेते हुए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि चारधाम यात्रा अभी शुरू नहीं हो रही है।  कहा कि भले ही प्रदेश में कोरोना केसों में कमी आई है, लेकिन यात्रा को शुरू करने का फैसला सोच समझकर ही लिया जाएगा ताकि भविष्य में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। मई महीने में गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम के कपाट तय समय पर ही खोले गए हैं।  उत्तराखंड सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलाें को देखते हुए 2021 में भी चारधाम यात्रा को स्थगित करते हुए यात्रा पर पूर्ण रोक लगाने के साथ ही मंदिरों में पूर्जा-अर्चना की अनुमित तो दी, लेकिन किसी भी श्रद्धालु को दर्शन करने की अनुमति नहीं दी थी।

गौरतलब है कि यमुनोत्री धाम के कपाट 14 मई, गंगोत्री 15 मई, केदारनाथ 17 मई और बदरीनाथ धाम के कपाट 18 मई को खुल गए हैं। बदरीनाथ समेत चारों धामों के कपाट हर साल अक्टूबर-नवंबर में सर्दियों में बंद कर दिए जाते हैं, जो अगले साल फिर अप्रैल-मई में भक्तों के लिए खोल दिए जाते हैं। भले ही कोरोना का ग्राफ उत्तराखंड में पिछले कुछ दिनों में कम हुआ है, लेकिन सरकार ने कोविड कर्फ्यू की अवधि बढ़ाकर 15 जून कर दी है। कर्फ्यू  के दौरान चुनिंदा दिनों में सर्शत दुकानें खोलने की अनुमति भी दी है, लेकिन अभी तक चारधाम यात्रा को शुरू करने को लेकर कोई भी अधिकारिक बयान नहीं आया है। 

संबंधित खबरें