ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडकॉर्बेट पार्क के बाहर भी बढ़ेगा बाघों का कुनबा, इन क्षेत्रों में भी दिखेंगे बाघ

कॉर्बेट पार्क के बाहर भी बढ़ेगा बाघों का कुनबा, इन क्षेत्रों में भी दिखेंगे बाघ

कॉर्बेट के बाहर के जंगलों में भी बाघों का कुनबा बढ़ेगा। इस साल तराई पश्चिम वन प्रभाग में डब्ल्यूआईआई की ओर से कराई गई बाघों की गिनती में इस बात के संकेत मिले हैं। इससे वन विभाग काफी उत्साहित है।

कॉर्बेट पार्क के बाहर भी बढ़ेगा बाघों का कुनबा, इन क्षेत्रों में भी दिखेंगे बाघ
Himanshu Kumar Lallरामनगर। राजू वर्माSun, 04 Dec 2022 01:51 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

कॉर्बेट के बाहर के जंगलों में भी बाघों का कुनबा बढ़ेगा। इस साल तराई पश्चिम वन प्रभाग में डब्ल्यूआईआई की ओर से कराई गई बाघों की गिनती में इस बात के संकेत मिले हैं। इससे वन विभाग काफी उत्साहित है। कॉर्बेट से सटा तराई पश्चिम वन प्रभाग का जंगल रामनगर, बाजपुर व जसपुर तक फैला है।

यहां कई जगहों पर खुले मैदान हैं, जहां बाघों का मूवमेंट रहता है। चार साल पहले 2018 में हुई गई गिनती में यहां 39 बाघों की उपस्थिति मिली थी। इसके बाद से वन विभाग भी जंगल में बाघों की संख्या बढ़ाने के प्रयास में जुटा है। इसके लिए फाटो जोन में नए ग्रासलैंड और वाटर होल्स बनाए गए हैं।

वन्यजीवों की सुरक्षा के लिए भी हाईटेक इंतजाम किए जा रहे हैं। बाघों की सही संख्या का पता लगाने के लिए उनके कॉरिडोर में कैमरों की संख्या भी पिछली बार से दोगुनी की गई है। वन अधिकारियों के अनुसार कैमरों में बाघों की मूवमेंट पहले से काफी ज्यादा मिली है। फरवरी में जारी होने वाली रिपोर्ट में बाघों की संख्या 60 तक पहुंचने की उम्मीद है।

पर्यटकों को भी आसानी से दिख रहे बाघ: वन अधिकारियों के अनुसार इस जंगल में पड़ने वाले फाटो जोन में पर्यटक सफारी करने आते हैं। वर्तमान में लगभग रोजाना पर्यटकों को बाघ दिखाई दे रहा है। इससे पर्यटकों के साथ वन विभाग के अधिकारी भी उत्साहित हैं। 

कर्मचारी और अधिकारी वन व वन्यजीवों के संरक्षण के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। फाटो जोन में लगभग रोजाना पर्यटकों को बाघ दिख रहा है। इस बार की गिनती में बाघों की संख्या बढ़ने की पूरी उम्मीद है। 
प्रकाश आर्या, डीएफओ, तराई पश्चिम वन प्रभाग