Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडबारिश से हजारों मोबाइल फोन बने शोपीस,इंटरनेट सेवा से लेकर संचार सेवाएं ठप 

बारिश से हजारों मोबाइल फोन बने शोपीस,इंटरनेट सेवा से लेकर संचार सेवाएं ठप 

हिन्दुस्तान टीम, अल्मोड़ा चंपावत Himanshu Kumar Lall
Wed, 20 Oct 2021 02:49 PM
बारिश से हजारों मोबाइल फोन बने शोपीस,इंटरनेट सेवा से लेकर संचार सेवाएं ठप 

इस खबर को सुनें

अल्मोड़ा  में पिछले तीन दिनों से हो रही आफत की बारिश से लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। जिले में मूसलाधार बारिश ने शहर से गांव तक आफत खड़ी कर दी है। वही तेज बारिश के बीच बीएसएनएल समेत निजी कंपनियों की सेवाएं काल समेत इंटरनेट सेवाएं ध्वस्त होने से लोगों की परेशानी दोगुनी हो गई। लोग एक दुसरे से संपर्क नहीं कर सके। 

दरअसल लगातार बारिश के चलते मंगलवार को बीएसएनएल की ओएफसी लाइन तीन जगहों पर ब्रेक डाउन हो गई थी। जिस वजह से बीएसएनएल के साथ निजी कंपनियों की सेवाएं भी ठप हो गई। वहीं इंटरनेट सेवा पूरी तरह चरमरा गई। इस दौरान लोगों के फोन से नेटवर्क गायब रहा। दिनभर लोगों के फोन शोपीस बने रहे। जिससे लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। देर शाम बीएसएनएल की सेवाएं सुचारू हो सकी। 

80 हजार से अधिक बीएसएनएल के उपभोक्ताओं के शोपीस बने मोबाइल:आसमानी आफत के चलते जिलेभर में बीएसएनएल के उपभोक्ताओं के मोबाइल शोपीस बने रहे। मोबाइल सेवा ठप होने से एक दुसरे का हाल चाल नही जान सके। जिससे लोगों को अपने परिजनों की चिंताएं सताने लगी। जबकि आपदा की जानकारी भी प्रशासन तक पहुंचाने में लोगों को भारी परेशानी झेलनी पड़ी।

बारिश के चलते हल्द्वानी से अल्मोड़ा के बीच ओएससी लाइन तीन जगहों पर ब्रेक डाउन हो गई थी। जिसे देर शाम दुरस्त कर सेवाएं सुचारू कर दी गई।
सत्य नारायण रावत, उप महाप्रबंधक बीएसएनल, अल्मोड़ा।

चम्पावत के पहाड़ी इलाकों में दिनभर ठप रहा नेटवर्क   
चम्पावत जिले के पहाड़ी इलाकों में मंगलवार को दिनभर संचार व्यवस्था पूरी तरह ठप रही। नेटवर्क सिस्टम पूरी तरह ठप होने के बाद लोगों में आक्रोश दिखा। यहां दिनभर एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया और जिओ समेत अन्य सभी कंपनियों के नेटवर्क मोबाइल से गायब रहे।जिस कारण लोगों को दिनभर परेशानियां झेलनी पड़ी।

हालांकि बीएसएनल संचार व्यवस्था ने लोगों को राहत दी। एक मात्र बीएसएनएल के अलावा अन्य सभी संचार व्यवस्था है पहाड़ी क्षेत्रों में ठप रही।  कारनेटवर्क ना होने से परेशान उपभोक्ताओं को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। लोग अपने तरीके से फोन की खराबी भांपते हुए लगातार फोन को ऑन-ऑफ करते रहे। सर्वर ठप रहने से सेवाएं बिल्कुल भी शुरू ही नहीं हो पाईं। 
 

epaper

संबंधित खबरें