DA Image
29 अक्तूबर, 2020|2:43|IST

अगली स्टोरी

सीएम त्रिवेंद्र रावत के खिलाफ CBI जांच के हाईकोर्ट के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

cm trivendra rawat of uttarakhand said gift of one thousand to asha worker and anganwadi workers

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने नैनीताल हाईकोर्ट के सीबीआई जांच के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई जांच पर रोक लगा दी है।

मालूम हो कि हाइकोर्ट ने मंगलवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत पर एक पत्रकार की ओर से लगाए गए कथित भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच का आदेश दिया था। पत्रकार ने आरोप लगाया है कि 2016 में जब रावत भाजपा के झारखंड प्रभारी थे, तब उन्होंने एक व्यक्ति को गोसेवा आयोग का अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर धनराशि अपने रिश्तेदारों के खाते में ट्रांसफर कराई थी।

यह भी पढ़ें: सीएम त्रिवेंद्र के खिलाफ सीबीआई जांच पर प्रदेश में सियासी घमासान

कांग्रेस ने मुख्यमंत्री रावत का इस्तीफा मांगा
कांग्रेस ने बुधवार को नैतिक आधार पर रावत का इस्तीफा मांगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा, एक ऐसा मुख्यमंत्री जो भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी सरकार की ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति का बखान करने से नहीं थकता, उसे (अदालत का) ऐसा (सीबीआई जांच का) आदेश आने के बाद अब एक मिनट भी पद पर बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि पार्टी ने राज्यपाल बेबी रानी मौर्य से मिलने का समय मांगा है, जिससे वह उनके सामने इस मुददे को रख सकें और इस मामले में उनसे दखल देने का अनुरोध कर सकें।

यह कोर्ट का मसला है। इस पर न्यायिक दृष्टि से ही काम किया जाएगा। जो भी चीजें होंगी वे कोर्ट के मार्फत ही स्पष्ट होंगी। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दायर की है। 
त्रिवेंद्र रावत, मुख्यमंत्री

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:supreme court stops cbi enquiry ordered by high court nainital against uttarakhand chief minister trivendra rawat bjp government uttarakhand