ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडहोटल में लाश है! प्रैंक से सनसनी मचाना पड़ा भारी, दिल्ली-गाजियाबाद के 3 दोस्त फंसे

होटल में लाश है! प्रैंक से सनसनी मचाना पड़ा भारी, दिल्ली-गाजियाबाद के 3 दोस्त फंसे

नैनीताल एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा के निर्देश पर पुलिस ने सोमवार तीनों को मुक्तेश्वर से पकड़ लिया। पुलिस ने छात्रों का शांतिभंग में चालान कर सख्त वार्निंग भी दी है।

होटल में लाश है! प्रैंक से सनसनी मचाना पड़ा भारी, दिल्ली-गाजियाबाद के 3 दोस्त फंसे
students dirty prank with dead body shocking thing before escaping from hotel
Himanshu Kumar Lallनैनीताल, हिन्दुस्तानMon, 17 Jun 2024 10:21 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली-एनसीआर से घूमने निकले छात्रों ने एक डेड बॉडी (शव) के साथ कुछ ऐसा काम किया पुलिस भी पूरी तरह से दंग रह गई। होटल कर्मियों की सूचना पर पहुंची पुलिस टीम ने जब गहनता से जांच शुरू की तो एक के बाद एक हैरान करने वाले रहस्य उजागर हुए।

इस पूरे मामले में पुलिस ने एक छात्रा समेत तीन छात्रों के खिलाफ सख्त ऐक्शन लिया है। यह सभी छात्र उत्तराखंड के नैनीताल में घूमने के लिए पहुंचे थे। दिल्ली और यूपी के गाजियाबाद (यूपी) से नैनीताल घूमने आए तीन छात्रों को होटल में नकली शव बनाकर प्रैंक किया।

छात्रों का प्रैंक करना उनको भारी पड़ गया। नैनीताल एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा के निर्देश पर पुलिस ने सोमवार तीनों को मुक्तेश्वर से पकड़ लिया। पुलिस ने छात्रों का शांतिभंग में चालान करने के साथ ही आगे से ऐसा काम न करने की सख्त वार्निंग भी दी।

पुलिस के अनुसार, बीते शनिवार को देवाशीष नायक पुत्र चंद्रमणि नायक निवासी 317 जी न्याखंड 3 इंदिरापुरम गाजियाबाद, उज्जवल भारद्वाज पुत्र प्रदीप कुमार भारद्वाज निवासी बी-32 शालीमार गार्डन साहिबाबाद, दिल्ली और दिव्या सोन पुत्री लोकेंद्र कुमार सोन निवासी 91 एफटू शालीमार गार्डन, दिल्ली नैनीताल घूमने आए।

इस दौरान उन्होंने मल्लीताल मस्जिद के समीप एक होटल में कमरा बुक किया। रविवार को चेक आउट से पहले वह कमरे में एक तकिए की मदद से एक नकली शव बनाया जब रूम ब्वॉय सफाई को पहुंचा तो उसने बैड पर शव पड़ा होने की सूचना होटल प्रबंधक को दी।

उन्होंने बगैर हाथ लगाए इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंचे मल्लीताल कोतवाल हरपाल सिंह ने टीम के साथ वीडियोग्राफी के बीच जांच शुरू की तो पता चला कि यह नकली है। जिसकी सूचना उन्होंने एसएसपी को दी।

एसएसपी ने मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए। इस पर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज और लोकेशन ट्रेस कर तीनों को सोमवार को मुक्तेश्वर से बरामद कर उनका शांतिभंग में चालान कर आगे से ऐसा काम न करने की सख्त हिदायत दी।