Saturday, January 22, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडओमिक्रॉन को लेकर सख्ती,दिल्ली-यूपी सहित पड़ोसी राज्यों से आने वालों की उत्तराखंड बॉर्डर पर कोरोना जांच, विदेश से आने वाले क्वारंटाइन

ओमिक्रॉन को लेकर सख्ती,दिल्ली-यूपी सहित पड़ोसी राज्यों से आने वालों की उत्तराखंड बॉर्डर पर कोरोना जांच, विदेश से आने वाले क्वारंटाइन

हिन्दुस्तान टीम, देहरादूनHimanshu Kumar Lall
Tue, 30 Nov 2021 06:57 PM
ओमिक्रॉन को लेकर सख्ती,दिल्ली-यूपी सहित पड़ोसी राज्यों से आने वालों की उत्तराखंड बॉर्डर पर कोरोना जांच, विदेश से आने वाले क्वारंटाइन

कोरोना के दूसरी स्वरूप ‘ओमिक्रॉन’ वायरस और कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। मंगलवार सुबह से उतराखंड के अंतर्राज्यीय बॉर्डर पर स्वास्थ्य विभाग सहित जिला प्रशासन की टीमें मौजूद रहीं। दिल्ली, यूपी सहित पड़ोसी राज्यों से आने वाले लोगों की रैंडम कोरोना जांच कर पूरी डिटेल नोट करने के बाद ही यात्रियों को उतराखंड में आने की अनुमति दी गई। 

देहरादून स्थित जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर भी रैंडम कोरोना जांच शुरू हो गई है। उत्तराखंड-यूपी बॉर्डर पर आशारोडी चेकपोस्ट सहित रायवाला, कुल्हान बार्डर पर जांच के लिए टीमें पहुंच रही हैं। यहां पर जांच रैंडम तरीके से की जाएगी। जिला सर्विलांस अधिकारी डा. राजीव दीक्षित ने बताया कि टीमों का गठन कर दिया गया है। एयरपोर्ट पर सभी की जांच की जा रही है। बस अड्डों, चौराहों और सीमाओं पर रैंडम सैंपलिंग की जानी शुरू की गई है।

विदेश से लौटे 14 लोगों को किया क्वारंटाइन
सीएमओ डॉ मनोज उप्रेती ने बताया कि हाल ही में जिले में विदेश से 14 लोग लौटे हैं। जिन को चिन्हित सोमवार को क्वारंटाइन कर दिया गया है। उनकी जांच कराई जा रही है, सैंपल लेकर जांच को भेज दिए हैं। इनमें 6 लोग वह भी शामिल है जो दक्षिण अफ्रीका से लौटे हैं। उनकी भी सैंपलिंग की गई है और जांच कराई जा रही है।

जिला प्रशासन पुलिस के सहयोग से सभी को स्वास्थ विभाग की टीम निगरानी कर रही है। उन्हें 15 दिन के लिए क्वारंटाइन किया गया है। उन्हें घर से न निकलने की सलाह दी गई है और किसी भी तरह की स्वास्थ संबंधी परेशानी होने पर संपर्क करने के लिए कहा गया है। वहीं मेडिकल टीम भी लगातार उनके संपर्क में रहेगी। विदेशों से आने वाले लोगों पर विशेष नजर बनाए हुए हैं म एयरपोर्ट पर मंगलवार से सभी की जांच शुरू हो जाएगी और आशा रोटी पर भी जांच की तैयारी शुरू कर दी है।

नारसन बॉर्डर पर शुरू हुई कोविड जांच
कोविड के नए वैरिएंट को लेकर बढ़ी चिंताओं के बीच शासन-प्रशासन एक बार फिर से अलर्ट हो गया है। प्रदेश में बाहर से आने वाले लोगों की बॉर्डर पर कोविड जांच काम काम फिर शुरू कर दिया गया। शुक्रवार को नारसन बॉर्डर पर शाम तक 65 लोगों की कोविड जांच की गई। लंबे समय से उत्तराखंड आने वाले यात्रियों की कोविड जांच का कार्य बॉर्डर पर किया जा रहा था।

लेकिन अभी कुछ समय पूर्व कोविड के मामलों में आई गिरावट के बाद बॉर्डर पर कोविड जांच का कार्य बंद कर दिया गया था। लेकिन अब फिर से जांच शुरू हो गयी है। बाहर से आने वाले यात्रियों के वाहन रोककर नारसन बॉर्डर पर कोविड जांच का कार्य शुरू कर दिया गया है। नारसन बॉर्डर से दिल्ली, एनसीआर और पश्चिम यूपी से लोग उत्तराखंड में आते हैं।

नारसन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात डॉ. उस्मान ने बताया कि बॉर्डर पर कोविड जांच का कार्य एक निजी कंपनी को सौंपा गया है। बाहर से आने वाले यात्रियों की रैंडम एंटीजन जांच की जा रही है। मंगलवार को शाम तक करीब 65 लोगों की कोविड जांच की गई। लगातार बढ़ रहे कोविड मामलो को लेकर शासन-प्रशासन एक बार फिर से अलर्ट हो गया है।

प्रदेश में बाहर से आने वाले लोगों की बॉर्डर पर कोविड जांच का काम फिर शुरू कर दिया गया। शुक्रवार को नारसन बॉर्डर पर शाम तक 65 लोगों की कोविड़ जांच की गई। लंबे समय से उत्तराखंड आने वाले यात्रियों की कोबिड़ जांच का कार्य बॉर्डर पर किया जा रहा था। लेकिन अभी कुछ समय पूर्व कोविड के मामलों में आई गिरावट के बाद बॉर्डर पर कोविड जांच का कार्य बंद कर दिया गया था। लेकिन अब फिर से मामले बढ़ने शुरू हुए तो शासन प्रशासन अलर्ट हो गया है।

बाहर से आने वाले यात्रियों के वाहन रोककर नारसन बॉर्डर पर कोविड जांच का कार्य शुरू कर दिया गया है। नारसन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात डॉ. उस्मान ने बताया कि बॉर्डर पर कोविड जांच का कार्य एक प्राइवेट कंपनी को सौंपा गया है। बाहर से आने वाले यात्रियों की रेंडम एंटीजन जांच की जा रही है। मंगलवार को शाम तक करीब 65 लोगों की कोविड जांच की गई।

सीमा पर जांच के लिए टीम गठित
भगवानपुर थाने में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पुलिस कर्मियों की कोरोना रैपिड जांच की। प्रधानमंत्री के दौरे से पूर्व सभी पुलिस कर्मियों की जांच करायी जा रही है। थानाध्यक्ष पीडी भट्ट ने बताया कि सभी पुलिस कर्मियों की जांच की गई। वहीं, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र प्रभारी डॉ. विक्रांत सिरोही ने बताया कि स्वास्थ्य टीम ने पुलिसकर्मियों की रैपिड जांच के साथ ही सीमा से लगे चेक पोस्टों पर भी टेस्ट के लिए टीम गठित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

काशीपुर के सूर्या व अलीगंज बॉर्डर पर हो रही जांच
काशीपुर।
एकाएक कोरोना संक्रमण बढ़ने और कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के मामले पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार से यूपी सीमा पर बने जांच सेंटर पर टीम तैनात कर दी हैं। टीम यूपी सीमा पर निजी वाहनों से आने वाले यात्रियों के रैपिड और आरटीपीसीआर सैंपल ले रही है।

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट होने के साथ जांच का दायरा भी बढ़ा दिया है। स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर एलडी भट्ट सरकारी अस्पताल की टीम यूपी सीमा के सूर्या व अलीगंज बॉर्डर पर जांच कर रही है। कोरोना नोडल अधिकारी डॉ. अमरजीत साहनी ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश के बाद सीमा पर जांच की जा रही है।

बताया काशीपुर ब्लॉक क्षेत्र से पहले 200 से 250 जांच की जा रही थी जो कि अब बढ़ाकर 300 तक कर दी गई है। वहीं दोनों बॉर्डर पर प्रतिदिन 50-60 आरटीपीसीआर व एंटीजन टेस्ट लिए जा रहे हैं। अभी कोई भी व्यक्ति संक्रमित नहीं आया है। वहीं बाहर से आने वाले यात्रियों की जांच उसकी हिस्ट्री लेकर की जा रही है।  उनके नाम -पते और मोबाइल नंबर नोट करने के साथ ही रिपोर्ट आने तक लोगों को आईसोलेट होने के लिए कहा जा रहा है।

खटीमा में यूपी बॉर्डर पर दो दिन से चल रही यात्रियों की कोरोना जांच
खटीमा।
अचानक कोरोना के मामले बढ़ने और कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के मामले साउथ अफ्रीका में पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग चौकन्ना हो गया है। स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार से यूपी सीमा पर बने जांच सेंटर पर टीम तैनात कर दी है। मंगलवार को डॉ. शैलजा त्रिपाठी के नेतृत्व में टीम ने यूपी सीमा पर बसों व निजी वाहनों से आने वाले यात्रियों के रैपिड और आरटीपीसीआर सैंपल लिए।

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर नागरिक चिकित्सालय की टीम यूपी सीमा पर जांच कर रही है। कोरोना नोडल अधिकारी डॉ. वीपी सिंह ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश के बाद सीमा पर जांच की जा रही है। अभी तक 150 आरटीपीसीआर सैंपल जांच के लिए भेजे जा चुके हैं।

50 रैपिड में कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं आया है। बाहर से आने वाले यात्रियों की जांच उसकी हिस्ट्री लेकर की जा रही है।  उनके नाम पते नोट किए जा रहे हैं। जब तक रिपोर्ट नहीं आती तब तक यहां आने वाले लोगों को आईसोलेट होने के लिए कहा जा रहा है। 

epaper

संबंधित खबरें