अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिंताजनक:उत्तराखंड की नदियों में लगातार घट रही गोल्डन महाशीर

उत्तराखंड में कभी बहुतायत में पायी जाने वाली गोल्डन महाशीर कम हो रही हैं। कोसी के निचले इलाकों में पानी गर्म होने से इनकी संख्या वहां कम हुई हैं। ये भी सामने आया है कि ये तेजी से ऊपर की ओर जा रही हैं, जहां पानी का तापमान कम है। वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट के शोध में ये बात अभी सामने आ रही है। इंस्टीट्यूट के डीन डा. जेएस रावत ने बताया कि कोसी नदी में मछलियों की स्थिति का पता लगाने के लिए इनमें सर्वे किया जाना है। प्रथम चरण में कोसी में सर्वे शुरू हो गया है। इंस्टीट्यूट की छात्रा भावना धवन ये सर्वे कर रही हैं। भावना ने मंगलवार को इंस्टीट्यूट के आंतरिक शोध सम्मेलन में अपना अब तक का सर्वे रखा। इसमें प्रारंभिक तौर पर अभी तक ये सामने आया है कि नदी के करीब 700 मीटर ऊंचाई वाले इलाकों में ये मछलियां कम हो गई हैं। जबकि अभी 1200 मीटर के आसपास के क्षेत्र में काफी संख्या में मछलियां हैं। इसके पीछे निचले इलाकों का पानी गर्म होना एक बड़ी वजह है। दूसरा लोगों को इसमें ज्यादा दखल भी वजह है। डा. रावत के अनुसार गोल्डन महाशीर हिमालय की मछली है जो कि ठंडे पानी में प्रजनन करती है। इसी वजह से ये ऊपर की ओर बढ़ रही है। बांध बनने से भी इनके नदियों में ऊपर जाने पर रोक लगी है और इससे इनका प्रजनन घट रहा है।

आबादी में आते ही मिलेगी हाथियों की सूचना : वाइल्डलाइफ इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर डा. वीबी माथुर ने बताया कि अभी छत्तीसगढ़ में हाथियों को रेडियो कालर करने का प्रयोग चल रहा है। इससे हाथी के आबादी में आने पर अलर्ट मिलेगा।
नयार और नंधौर में भी होना है सर्वे 
डा. जेएस रावत के अनुसार कोसी के अलावा नयार और नंधौर में भी इन मछलियों की स्थिति को लेकर सर्वे होना है। कोसी में मछलियों को रेडिया कालर करना है। जिससे ये पता चल सकेगा कि ये कितनी ऊंचाई पर जा रही हैं। जिससे वहां जाकर इसकी प्रजनन स्थतियों का पता लगाया जाएगा। 
राज्य की आर्थिकी होगी मजबूत
डा. रावत के अनुसार अगर राज्य में गोल्डन महासीर का अगर संरक्षण और तरीके से दोहन होता है तो ये राज्य की आर्थिकी को काफी मजबूत कर सकता है। बैंगलौर की मोयार नदी की तर्ज पर यहां की नदियों में फिश एंगलिंग आधारित पर्यटन विकसित हो सकता है। लोगों को रोजगार भी मिलेगा।  

 
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:strength of golden mahseer reducing in uttarakhand