Wednesday, January 19, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडउत्तराखंड में लगातार चौथे सप्ताह बढ़ा कोरोना संक्रमण,हर हफ्ते कोविड पाजिटिवों की संख्या में इजाफा

उत्तराखंड में लगातार चौथे सप्ताह बढ़ा कोरोना संक्रमण,हर हफ्ते कोविड पाजिटिवों की संख्या में इजाफा

मुख्य संवाददाता, देहरादूनHimanshu Kumar Lall
Sun, 05 Dec 2021 06:36 PM
उत्तराखंड में लगातार चौथे सप्ताह बढ़ा कोरोना संक्रमण,हर हफ्ते कोविड पाजिटिवों की संख्या में इजाफा

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। पिछले चार सप्ताह से मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि दर्ज हो रही है। इससे आने वाले दिनों में संक्रमण को लेकर चिंता बढ़ गई है। एसडीसी फाउंडेशन की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार बीते सप्ताह राज्य में कोरोना के कुल 162 नए मरीज मिले हैं। जो सितम्बर के बाद से एक सप्ताह में मिले सबसे अधिक मरीज हैं।

यानी बीते सप्ताह राज्य में पिछले 10 सप्ताह में सबसे अधिक मरीज सामने आए हैं। चिंता की बात यह है कि संक्रमण केवल इसी सप्ताह नहीं बढ़ा है। बल्कि पिछले चार सप्ताह से बढ़ ही रहा है और इस दौरान सैंपलों की जांच भी बहुत कम हो रही है। एसडीसी फाउंडेशन के संस्थापक अनूप नौटियाल कहते हैं कि यदि जांच बढ़ाई गई तो मरीजों की संख्या में इजाफा तय है। ऐसे में कम जांच के बावजूद बढ़ता संक्रमण चिंता का विषय बन सकता है।

मरीजों में 100 प्रतिशत का इजाफा
उत्तराखंड में पिछले सप्ताह के मुकाबले बीते सप्ताह मरीजों में 100 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। पिछले चार सप्ताह से संक्रमण के मामले बढ़ ही रहे हैं। कोरोना काल के 86 वें सप्ताह के दौरान राज्य में 48 नए मरीज मिले थे। जो 87 वें सप्ताह में बढ़कर 75 हो गए। 88 वें सप्ताह में राज्य में मरीजों की संख्या 81 रही। 89 वें सप्ताह में यह बढ़कर 88 हो गई जो अब इस सप्ताह बढ़कर 162 हो गई है।

लक्ष्य से 55 प्रतिशत कम जांच
राज्य सरकार ने प्रतिदिन जांच का लक्ष्य 25 हजार सैंपल रखा है। लेकिन राज्य में तय लक्ष्य से 55 प्रतिशत कम जांच हो पा रही है। बीते सप्ताह राज्य भर में कुल 77630 सैंपलों की जांच हुई। जो तय लक्ष्य 175000 का महज 45 प्रतिशत हैं। बढ़ते संक्रमण के बावजूद कम सैंपलों की जांच चिंता का विषय है। खासकर तब जब राजनैतिक रैलियों में लोगों की भीड़ जुट रही है।

जीनोम सीक्वेंसिंग बढ़ाने की जरूरत
उत्तराखंड में मीक्रोन का कोई भी मामला सामने नहीं आया है। लेकिन देश के कई राज्यों में इस वायरस के मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हडकंप की स्थिति है। इसीलिए लगातार जीनोम सीक्वेसिंग बढ़ाए जाने की जरूरत महसूस हो रही है। पूर्व स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ आरपी भट्ट का कहना है कि राज्य में इस वक्त अधिक से अधिक सैंपलों की जीनोम सीक्वेसिंग कराने की जरूरत है। इसके साथ ही कोरोना सैंपलों की जांच बढ़ाए जाने की जरूरत है ताकि संक्रमण को शुरूआती स्तर पर ही पकड़ा जा सके।

राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति नियंत्रण में है। वायरस के नए स्वरूप का अभी तक कोई नया मामला राज्य में नहीं मिला है। फिर भी जांच बढ़ाई जा रही है और सभी जिलों को विशेष सावधानी बरतने के निर्देश दिए गए हैं।
डॉ पंकज पांडेय, सचिव स्वास्थ्य
 
कोरोना के आठ नए मरीज
उत्तराखंड में रविवार को कोरोना के आठ नए मरीज मिले इसके साथ ही मरीजों की कुल संख्या तीन लाख 44 हजार 353 हो गई है। स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार रविवार केा 13 हजार के करीब सैंपलों की रिपोर्ट आई जिसमें आठ मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें तीन नैनीताल, देहरादून में दो जबकि पौड़ी, अल्मोड़ा और हरिद्वार में एक एक नया मरीज मिला है। रविवार को नौ हजार के करीब सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।
 
उत्तराखंड में संक्रमण की दर 0.06 प्रतिशत जबकि मरीजों के ठीक होने की दर 96 प्रतिशत के करीब चल रही है। राज्यभर में संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए पांच कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। रविवार को कुल 42 हजार के करीब लोगों को कोरोना रोधी टीके लगाए गए। इसके साथ ही राज्य में 76 लाख लोगों को एक टीके की डोज लग चुकी है। जबकि दोनों डोज लग चुके लोगों की संख्या 53 लाख को पार कर गई है।a
epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें