rss chief mohan bhagwat says steps would be taken to construct ram temple - ‘श्रीराम विजय मंत्र’ का जाप सारे देश में करेंगे: संघ प्रमुख मोहन भागवत DA Image
9 दिसंबर, 2019|3:34|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘श्रीराम विजय मंत्र’ का जाप सारे देश में करेंगे: संघ प्रमुख मोहन भागवत

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण को संघ प्रमुख मोहन भागवत ने राजनीतिक नहीं, बल्कि हिन्दुओं की धार्मिक भावना से जुड़ा विषय बताया। उन्होंने फिर दोहराया कि जन्मभूमि पर श्रीराम मंदिर के अलावा कुछ नहीं बन सकता। देशभर में सामाजिक चेतना जगाने के लिए हिन्दू नवसंवत्सर पर 13 करोड़ ‘श्रीराम’ विजय मंत्र का जाप किया जाएगा। देहरादून स्थित संघ भवन में अपने प्रवास के अंतिम दिन उन्होंने राज्यभर के विभाग प्रचारक, विभाग कार्यवाह समेत प्रांत कार्यकारिणी के साथ बैठक की। प्रांत पदाधिकारियों की ओर से अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण को लेकर उठी जिज्ञासाओं पर संघ प्रमुख ने दोहराया कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर के अलावा कुछ और नहीं हो सकता। ये अटल सत्य है और इसे लेकर धर्म संसद में जो संकल्प पारित हुए, उस दिशा में संत समाज अग्रसर है। मौजूदा समय में ऐसा कुछ नहीं किया जाएगा, जिससे हम पर यह आरोप लगें कि चुनाव देखते हुए गतिविधि बढ़ाई गई है। आमजन में तो आध्यात्मिक शक्ति जागृत करने की जरूरत है।

भाजपाई जोश में: संघ प्रमुख का प्रवास पूरी तरह सांगठनिक था। उन्होंने भाजपा के चुनिंदा नेताओं के साथ ही नाममात्र का समय गुजारा। मगर, इससे भाजपाई जोश में हैं। पार्टी रणनीतिकारों का मानना है कि ऐन चुनाव से पहले संघ प्रमुख के प्रवास ने कार्यकर्ताओं में जोश भरने का काम किया है। 

हर वर्ग की टटोली नब्ज: देहरादून प्रवास के दौरान संघ प्रमुख का पूरा फोकस युवाओं, परिवार और समाज पर ही केंद्रित रहा। संघ को अब तक रहस्य समझने वाले वर्ग के सामने संघ की तस्वीर साफ करने में वे काफी हद तक सफल भी रहे। उन्होंने बुद्धिजीवी समेत कई वर्गों से सीधा संवाद किया।

आह्वान
छात्रों को निडरता का पाठ

संघ प्रमुख ने शिक्षण संस्थानों में अध्ययनरत स्वयंसेवक छात्रों से निर्भिक रहने का आह्वान किया। वे बोले, शिक्षण संस्थानों में पहचान छुपाने की जरूरत नहीं है। खुलकर बोलें कि हम स्वयंसेवक हैं। युवाओं को अपने साथ जोड़ें। हम युवाओं में सेवा भाव को जगाएंगे।

मुलाकात
शंकराचार्य संघ भवन पहुंचे

संघ भवन में शुक्रवार को संघ प्रमुख से मिलने शंकराचार्य राजराजेश्वाश्रम भी पहुंचे। दोपहर दो बजे उन्होंने संघ प्रमुख से भेंट की। वो ढाई बजे तक यहां रहे। पिछले 4 दिनों में संघ प्रमुख से मिलने वालों में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अजय भट्ट और सतपाल महाराज शामिल रहे।

सामाजिक सद्भाव से रुकेंगे धर्मांतरण
देहरादून। संघ प्रमुख ने साफ किया कि समाज में सामाजिक सद्भाव बढ़ेगा तो असामाजिक गतिविधियों पर अपने-आप रोक लग जाएगी। सामाजिक सद्भाव से ही धर्मांतरण की घटनाएं रुकेंगी। उन्होंने समाज को सशक्त बनाने का आह्वान किया। वे बोले, जब सभी धर्म-पंथ में आपसी सद्भाव बढ़ता रहेगा तो विद्वेष के लिए जगह नहीं रहेगी। उन्होंने यह भी कहा कि धर्मांतरण की बढ़ती गतिविधियों से किसी भी तरह भयभीत होने की जरूरत नहीं है। सिर्फ समाज को मजबूत किए जाने की दिशा में किसी भी तरह का कोई विराम नहीं लगने दें। ऐसा होने पर सभी सवालों का हल अपने-आप हो जाएगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:rss chief mohan bhagwat says steps would be taken to construct ram temple