ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडकमरा बाहर से बंद और अंदर खून से लथपथ महिला की लाश, बदबू आने पर खुला राज

कमरा बाहर से बंद और अंदर खून से लथपथ महिला की लाश, बदबू आने पर खुला राज

कमरे की खिड़की से उन्होंने अंदर देखा तो आस्था चारपाई पर पड़ी दिखाई थी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा।

कमरा बाहर से बंद और अंदर खून से लथपथ महिला की लाश, बदबू आने पर खुला राज
Himanshu Kumar Lallहल्द्वानी, हिन्दुस्तानThu, 11 Apr 2024 04:04 PM
ऐप पर पढ़ें

दो बेटियों के साथ किराए के मकान में रह रही एक महिला का शव उसके कमरे से मिला है। मूल रूप से सुभाष कॉलोनी, रुद्रपुर निवासी यह महिला करीब दो महीने पहले ही यहां रहने आई थी। यहां वह मजदूरी करती थी।

दो दिन तक कमरे से बाहर न निकलने पर मकान मालिक को शक हुआ, तब महिला की मौत का पता चला। बिस्तर पर खून फैला हुआ देखकर प्रथम दृष्टया इसे हत्या का मामला माना जा रहा है। हालांकि, पुलिस का कहना है कि महिला के शरीर पर चोट के निशान नहीं मिले हैं।

रामपुर रोड स्थित नीलांचल कॉलोनी में बुधवार दोपहर को उस वक्त सनसनी फैल गई जब एक घर की दूसरी मंजिल के कमरे में महिला की लाश मिली। मकान मालिक गंगाराम मौर्य ने बताया कि करीब 35 वर्षीय आस्था उर्फ अफसाना अपनी पांच और तीन साल की दो बेटियों के साथ उनके मकान में किराए पर रहने आई थी।

महिला का पति महीने में एक-दो बार ही यहां आता था। बुधवार को आस्था का शव संदिग्ध हालात में कमरे में मिला। मौर्य ने इसकी सूचना टीपी नगर चौकी पुलिस को दी। सूचना पर कोतवाल उमेश कुमार मलिक, टीपी नगर चौकी प्रभारी दीपक बिष्ट, एसआई बबिता बिष्ट पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।

मकान मालिक ने पुलिस को बताया कि आस्था का पति सुभाष कॉलोनी, रुद्रपुर निवासी गौरव बीती आठ अप्रैल की रात यहां आया था और नौ अप्रैल को तड़के करीब 4 बजे दोनों बेटियों को साथ लेकर चला गया। जब आस्था दो दिन तक कमरे से बाहर नहीं निकली तो उन्होंने उसे फोन किया, लेकिन नंबर स्विच ऑफ आया। बुधवार को जब वह आस्था के कमरे की तरफ गए तो तेज दुर्गंध आ रही थी।

कमरे की खिड़की से उन्होंने अंदर देखा तो आस्था चारपाई पर पड़ी दिखाई थी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा।

चौकी प्रभारी बिष्ट ने बताया कि अभी मामले में कोई तहरीर नहीं मिली है। फिलहाल पुलिस अपने स्तर से मामले की जांच कर रही है। पता चला है कि आस्था ऊर्फ अफसाना और गौरव ने कुछ साल पहले प्रेम विवाह किया था। पति-पत्नी, दोनों ही पेशे से मजदूर बताए गए हैं।

किराएदार का सत्यापन तक नहीं 
मौके पर पहुंची पुलिस को पता चला कि मकान मालिक ने आस्था का किराएदार के रूप में रखने पर पुलिस सत्यापन तक नहीं कराया है। हालांकि, मकान मालिक ने दावा किया कि उन्होंने आस्था का पुलिस सत्यापन कराया है।

बाहर से बंद था दरवाजा, चोट के निशान नहीं
कोतवाल मलिक ने बताया कि महिला के शरीर पर चोट के निशान नहीं मिले हैं। कमरा बंद होने और गर्मी का मौसम होने की वजह से शव थोड़ा सड़ चुका था। उन्होंने बताया कि लोगों से पूछताछ में पता चला है कि मृतका और उसके पति के बीच विवाद चल रहा था।

आठ अप्रैल को भी पति-पत्नी में झगड़ा हुआ था। जिसके बाद अगली सुबह पति गौरव दोनों बेटियों को साथ लेकर चला गया। कोतवाल ने बताया कि जिस कमरे में महिला की लाश मिली है, वह बाहर से बंद था। उन्होंने कहा कि कमरा बाहर से बंद था।

कमरा बंद होने और कमरे में खून फैला होने की वजह से हत्या की बात से इनकार नहीं किया जा सकता। ऐसे में महिला को किसी तरह का विषाक्त पदार्थ खिलाने या महिला द्वारा खुद कोई विषाक्त पदार्थ खाने, सभी एंगल से जांच की जा रही है।


000000000
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें