DA Image
21 जनवरी, 2020|11:45|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेंगू को रोकने को जागरूकता अहम

शहर में डेंगू के मामले बढ़ने पर आपके अपने अखबार ‘हिन्दुस्तान’  की ओर से चलाए जा रहे  अभियान ‘मच्छर को टक्कर’ के तहत शुक्रवार को कर्जन रोड स्थित कार्यालय में डेंगू पर संवाद का आयोजन किया गया। इसमें जनप्रतिनिधियों, एनजीओ संचालकों और अफसरों ने डेंगू की रोकथाम पर मंथन किया। संवाद में सभी ने संकल्प लिया कि वह लोगों के बीच फैले डेंगू के डर को दूर कर डेंगू को टक्कर देंगे। स्कूलों एवं कॉलेजों में बच्चों को जागरूक करने पर लोगों ने ज्यादा जोर दिया। 

डेंगू के लक्षण दिखें तो विशेषज्ञ डॉक्टर से लें जरूरी सलाह 
छात्रों को प्रार्थना सभा में दें जानकारी 

संवाद के दौरान यह बात प्रमुखता से उठी कि डेंगू की रोकथाम के लिए स्कूल-कॉलेजों में प्रार्थना सभा के दौरान डेंगू पर जागरूकता के बार में जरूर बताया जाए। पार्षद संजीव मल्होत्रा ने कहा कि स्कूली बच्चा जब स्कूल से डेंगू के बारे में जानकर जाएगा तो वह पूरे मोहल्ले के लोगों को जागरूक करेगा। कहा कि शिक्षा विभाग को इसकी शुरुआत करनी चाहिये। आरोप लगाया कि कई स्कूल सीएमओ के निर्देश के बाद भी कोई पहल नहीं कर रहे हैं। 
झोलाछापों ने लोगों में बढ़ाई दहशत: संवाद में सामाजिक कार्यकर्ता दीपा शर्मा, पार्षद संजीव मल्होत्रा, सामाजिक कार्यकर्ता विजय राज ने कहा कि झोलाछाप डाक्टरों ने लोगों में ज्यादा दहशत फैलाई हुई है। वह बेवजह ही उन्हें डेंगू का डर दिखाकर उन्हें भर्ती कर ग्लूकोज चढ़ा रहे हैं। फिर बाद में जब मर्ज बढ़ जाता है तो उन्हें अस्पतालों में जाने को कह देते है। उन्होंने कहा कि हमें डेंगू से डरने की जरूरत नहीं है। पहले ही किसी विशेषज्ञ डाक्टर को दिखाएं। ताकि सही उपचार मिल सके।

कीवी, नारियल के रेट पर लगे लगाम 
अधिवक्ता प्रमोद शर्मा, पार्षद प्रमिला कोहली, संजीव मल्होत्रा ने डेंगू के दौरान महंगाई का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि बाजार में एक कीवी 35 रुपये की दी जा रही है। वहीं, नारियल 50 से 60 रुपये का। फलों के दाम भी आसमान छू रहे है। सरकार को इन पर कंट्रोल करना चाहिये। जैसे सरकार आलू प्याज की किल्लत पर काउंटर लगाती है, ऐसे ही इनके लिए भी काउंटर लगाए। 

संवाद में ये भी रहे मौजूद 
पार्षद संजीव मल्होत्रा, निखिल कुमार, प्रमिला कोहली, रोडवेज के डीजीएम विधि और नया सवेरा सोसायटी के अध्यक्ष प्रदीप सती, छोटी सी दुनिया सामाजिक संस्था के अध्यक्ष विजय राज, योग संजीवन, कला संस्कृति की अध्यक्ष दीपा शर्मा, अधिवक्ता प्रमोद शर्मा, सामाजिक कार्यकर्ता शैलेंद्र थपलियाल मौजूद रहे। 


साफ-सफाई रखने से नहीं पनपेंगे मच्छर 

डेंगू को रोकने के लिए शासन स्तर पर पहले से ही कार्ययोजना बन जानी चाहिये थी। अपने वार्ड के स्कूल में जाकर जागरूकता फैला रहे है।
संजीव मल्होत्रा, पार्षद 

त्र में शिविर लगाए गए थे, लेकिन जांच किये गये मरीजों की रिपोर्ट विभाग ने अब तक नहीं दी है। रिपोर्ट समय पर  मिलनी चाहिए। 
प्रमिला कोहली, पार्षद 

अपने घर से जागरूकता की पहल करनी होगी। अपने घर में साफ-सफाई रखनी होगी और लार्वा पनपने से रोकना होगा। 
प्रमोद कुमार शर्मा, अधिवक्ता, राजपुर रोड 

हम क्षेत्र में जागरूकता अभियान चला रहे हैं। अपने आहार में हरी सब्जियां शामिल करें। कीवी खाएं प्लेटलेट्स नार्मल रहेंगी। 
दीपा शर्मा, सामाजिक कार्यकर्ता

हिन्दुस्तान का अभियान अच्छा है। ऐसे कार्यक्रम हर जगह होने चाहिये। शिविर लगाकर लोगों को जागरूक करना जरूरी है।
प्रदीप सती, डीजीएम विधि, रोडवेज

डेंगू को लेकर लोगों में भ्रांतियां पैदा हो गई हैं। पहले हमे उसे दूर करना है। कब और कहां जांच करानी है। इस ओर जागरूक करना होगा।
विजय राज, सामाजिक कार्यकर्ता 

दून अस्पताल में डेंगू पीड़ितों के लिए 46 बेड बनाये गये हैं। मेडिकल कॉलेज के छात्र डेंगू से बचाव को प्रभावित क्षेत्रों में नुक्कड़ नाटक के जरिए जागरूक कर रहे हैं। उनके लिए एक कुर्ता पजामा बनवाया है।
डा. आशुतोष सयाना,  प्राचार्य दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल

क्षेत्र में लार्वानाशक का छिड़काव एवं फॉगिंग कराई जा रही है। हम सबको ही  डेंगू पर रोकथाम की कोशिश करनी होगी। 
निखिल कुमार, पार्षद 

कई स्कूल डेंगू के बारे में जागरूक नहीं कर रहे हैं।  शिक्षा विभाग को ऐसे अफसरों पर कार्रवाई करनी चाहिए।
शैलेंद्र थपलियाल, सामाजिक कार्यकर्ता 

शहर के100 वार्डों में 200 से अधिक कर्मचारी 104 छोटी और छह बड़ी फॉगिंग मशीनें से फॉगिंग कर रहे हैं। 
डा. आरके सिंह, नगर स्वास्थ्य अधिकारी 

डेंगू से निपटने के लिए 300 से अधिक आशाएं क्षेत्र में काम कर रही हैं। 
सुभाष जोशी, जिला मलेरिया अधिकारी 

 

 


 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:residents opined public awareness is key to check dengue menace in hindustan samwad held held dehradun