DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईना दिखाया: कोट के ग्रामीणों ने खुद सड़क बनानी शुरू की

कई दशकों से सड़क निर्माण की राह देख रहे ग्रामीणों का सब्र जवाब दे गया। अपने गांव को मुख्य मार्ग से जोड़ने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीण एकजुट हुए और उन्होंने हाथों में कुदाल, फावड़ा और बेलचा उठाकर सड़क निर्माण कार्य शुरू कर सरकार को आईना दिखा दिया। जौनपुर ब्लॉक के श्रीकोट के कोट गांव के ग्रामीण लम्बे समय से गांव के मुख्य मार्ग से जुड़ने की राह देख रहे हैं। लेकिन जब इस दिशा में कई दशक बीतने के बाद भी कुछ सकारात्मक पहल नहीं हुई। सड़क निर्माण की कई बार गुहार लगायी। लेकिन उनकी मांग पूरी नहीं हुई। थक-हारकर शुक्रवार को इस गांव के सौ से अधिक ग्रामीण एकजुट हुए और अपने हाथों में कुदाल, फावड़ा, बेलचा लेकर सड़क बनाने के लिए निकल पड़े। अब ग्रामीणों ने श्रमदान कर स्वयं सड़क बनाने का निर्णय लिया है। सड़क बनाने के कार्य में लगे जयवीर सिंह बिष्ट, प्रेम सिंह बिष्ट, सुमेर सिंह बिष्ट, नरेंद्र सिंह बिष्ट, उमेद बिष्ट, भारत सिंह बिष्ट, राजेंद्र सिंह, मनोज पंवार, सूरत सिंह, देवेन्द्र सिंह आदि ने बताया कि सड़क ना होने से ग्रामीणों को आवाजाही में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इस कारण उन्होंने श्रमदान से सड़क बनाई। 

 
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:residents from village kot construct road themselves in tehri district