DA Image
29 जून, 2020|2:15|IST

अगली स्टोरी

Corona: सिरदर्द बन रहा पैरासिटामॉल दवा खरीदना, जानें वजह

japanese medicine for flu

नैनीताल जिले में पैरासिटामॉल की गोली खरीदना लोगों के लिए सिरदर्द बन गया है। पहले तो बिना डॉक्टर के लिखे पैरासिटामॉल सहित सर्दी, जुकाम की दवाएं मिल नहीं रही।

डॉक्टर के लिखे पर्चे पर दवा खरीद भी ली तो स्वास्थ्य विभाग के फोन लोगों के लिए मुसीबत बन रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग आशाओं की मदद से रोजाना मेडिकल स्टोर से सर्दी, जुकाम और बुखार की दवा खरीद रहे लोगों के नाम और मोबाइल नंबर जमा कर रहा है।

इसके बाद इन लोगों को फोन कर बीमारी की स्थिति और दवा के बारे में जानकारी ली जा रही है। इससे एक ओर तो लोग डर रहे हैं वहीं कई लोग अपना गुस्सा भी जाहिर कर रहे हैं।

आशाओं के साथ स्वास्थ्य कर्मियों को भी इस गुस्से का सामना करना पड़ रहा है। ड्रग इंस्पेक्टर मीनाक्षी बिष्ट के अनुसार हर दवा विक्रेता से इन दिनों सर्दी, जुकाम और बुखार की दवा खरीदने वालों का विवरण रखने को कहा गया है। कोरोना के संक्रमण को देखते हुए व्यवस्था लोगों की सुविधा के लिए की गई है।

 

कोरोना का बढ़ता संक्रमण प्रमुख कारण
कोरोना वायरस का पहला लक्षण बुखार और सर्दी-जुकाम है। मगर लोग अमूमन बुखार आने पर सीधे बिना डॉक्टरी सलाह दुकान से पैरासिटामॉल दवा खरीदकर खा लेते हैं।

इस कारण कोई कोरोना संदिग्ध होगा तो लक्षण दब जाएंगे। यह स्थिति मरीज के साथ उसके साथ रहने वाले लोगों को भी परेशानी हो सकती है। इसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग हर दवा खरीद रहे व्यक्ति से संपर्क कर पूछताछ की कोशिश कर रहा है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:residents facing problem purchasing paracetamol tablets amid corona virus pandemic in uttarakhand