DA Image
21 अक्तूबर, 2020|1:24|IST

अगली स्टोरी

गुलदारों के खौफ से मार्निंग वॉक बंद, जानें किस शहर में है गुलदार का आतंक 

leopard attacked a boy who is cutting wheat in lakhimpur


हल्द्वानी ’ कार्यालय संवाददाता 

पाम सिटी की बाउंड्री पर डटे दोनों गुलदार पूरी रात नहीं हटे। सुबह भी उनकी मौजूदगी की खबर से सोसायटी के लोगों ने मॉर्निंग वॉक छोड़ दी और पूरे दिन घरों में कैद रहे।

वन विभाग ने गुलदार पकड़ने के लिए पिंजरा लगाया है। मगर अब तक कामयाबी नहीं मिली है। मानपुर पश्चिम के आसपास गुलदार का मूवमेंट कम नहीं हो रहा है। 

मंगलवार सुबह फिर गुलदार पाम सिटी की बाउंड्री पर बैठ गया। सूचना पर हल्द्वानी रेंजर यूसी आर्य टीम के साथ पहुंचे। मगर गुलदार वहीं बैठा रहा।

माना जा रहा है कि गुलदार के छोटे बच्चे हैं, जिनके लिए वह वहीं बैठा है। रेंजर ने बताया कि इलाके में पिंजरा लगाने को वन विभाग के उच्च अधिकारियों से अनुमति लेने की तैयारी की जा रही है। 

 

रानीबाग के लोगों ने आंदोलन छेड़ने की धमकी दी
हल्द्वानी। रानीबाग के ग्रामीणों ने क्षेत्र में दिख रहे गुलदार से छुटकारा दिलाने की मांग की है। मामले में डीएफओ को ज्ञापन देकर ठोस कार्रवाई की मांग की है।

मंगलवार को ग्राम प्रधान कलावती थापा के नेतृत्व में रानीबाग के ग्रामीणों ने नैनीताल वन प्रभाग के डीएफओ टीआर बीजू लाल को ज्ञापन दिया।

इस दौरान ग्राम प्रधान कलावती ने कहा रानीबाग के कई गांव ने सुबह शाम गुलदार दिख रहा है। रात को घरों के आंगन में पहुंच जा रहा है।

इंदिरानगर क्षेत्र में कुत्ते पर हमला करने की घटना के बाद से लोग और ज्यादा दहशत में आ गए हैं। उन्होंने कार्रवाई कर गुलदार के आतंक से छुटकारा दिलाने की मांग की है।

जल्द कार्रवाई नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। डीएफओ बीजू लाल ने ठोस कार्रवाई का भरोसा ग्रामीणों को दिया है। यहां पूर्व जिला पंचायत सदस्य संजय साह, बीडीसी सदस्य मनीष गौनी, पूनम गोस्वामी, महेश भंडारी, मनोज वर्मा, राजेन्द्र, जीवन सिंह आदि रहे।   

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:residents drop to do morning walk due to leopard terror in palm city haldwani in uttarakhand