ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडरिलायंस ज्वेलरी शोरूम में करोड़ों की डकैती में खुले कई  राज, यहां रची साजिश-किए अपराधी हायर

रिलायंस ज्वेलरी शोरूम में करोड़ों की डकैती में खुले कई  राज, यहां रची साजिश-किए अपराधी हायर

एक गैंग के सरगना सुबोध सिंह से लातूर में महाराष्ट्र और उत्तराखंड पुलिस पूछताछ कर रही है। सुबोध बिहार की जेल में बंद था, पता चला है कि वो जेल में रहकर अपनी और सहयोगी गैंग को ऑपरेट करता था।

रिलायंस ज्वेलरी शोरूम में करोड़ों की डकैती में खुले कई  राज, यहां रची साजिश-किए अपराधी हायर
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तानWed, 15 Nov 2023 11:50 AM
ऐप पर पढ़ें

रिलायंस ज्वेलरी शोरूम में हुई करोड़ों रुपयों की डकैती में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। देहरादून पुलिस की जांच में कई अहम सुराग भी हाथ लगे हैं। देहरादून के राजपुर रोड पर रिलायंस के ज्वैलरी शोरूम में हुई डकैती के खुलासे के लिए पुलिस अब संदिग्ध गैंगों में शामिल अपराधियों की धरपकड़ में जुट गई है।

एक गैंग के सरगना सुबोध सिंह से लातूर में महाराष्ट्र और उत्तराखंड पुलिस पूछताछ कर रही है। सुबोध बिहार की जेल में बंद था, पता चला है कि वो जेल में रहकर अपनी और सहयोगी गैंग को ऑपरेट करता था। संभावना जताई जा रही है कि इन्हीं गैंगों ने दून की घटना को अंजाम दिया।

देहरादून के एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि संदिग्ध गैंग में शामिल अभियुक्तों की धरपकड़ के लिए विभिन्न प्रांतों में टीमें दबिश दे रही हैं। उन्होंने बताया कि सुबोध सिंह पुत्र ईश्वरी सिंह निवासी चिश्तीपुर चंडी थाना चंडी जिला नालंदा बिहर की गैंग द्वारा बिहार सहित विभिन्न राज्यों में इस प्रकार की 20 से अधिक लूट और डकैती की घटनाओं को अंजान दिया गया है।

उन्होंने फाइनेंस कंपनियों, ज्वैलरी शोरूम और बैंकों को टारगेट किया और हथियारों के दम पर लूट की। सुबोध और उसके सहयोगी गैंगों पर विभिन्न राज्यों में संगीन धाराओं में लगभग दो दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। उन्होंने बताया कि सुबोध को फिलहाल महाराष्ट्र पुलिस की ओर से कस्टडी रिमांड पर लातूर लाया गया है, जहां देहरादून पुलिस की टीम उससे पूछताछ कर रही है। पूछताछ में दून की डकैती से जुड़े कई अहम सुराग हाथ लगे हैं।

जेल से अपराधियों को करते हैं हायर
एसएसपी ने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि गैंग द्वारा बिहार और पश्चिम बंगाल की जेल में बंद लड़कों को लूट या डकैती के लिए हायर किया जाता है। उन्हें प्रत्येक टास्क के लिए बाकायदा पांच से 10 लाख रुपये एडवांस दिए जाते हैं। यही नहीं हर घटना के लिए अलग-अलग लड़कों का इस्तेमाल होता था, ताकि गैंग के सदस्य एक-दूसरे को न जान पाएं। घटना में प्रयुक्त होने वाले वाहनों का इंतजाम गैंग लीडर द्वारा किया जाता है।

रिलायंस शोरूम में 14 करोड़ की हुई लूट
एसएसपी ने बताया कि दून में रिलायंस शोरूम में लूटी गई ज्वैलरी की पूरी जानकारी जुटा ली गई है। उन्होंने बताया कि डॉक्यूमेंट वेरिफाई करने के बाद डकैती की कुल अनुमानित कीमत 14 करोड़ रुपये आंकी गई है।

रिलायंस शोरूम में डकैती को लेकर पुलिस की टीमें विभिन्न राज्यों में डेरा डाले हुए हैं। जल्दी ही आरोपियों की गिरफ्तारी की उम्मीद है।
अजय सिंह, एसएसपी देहरादून


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें