ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडव्हाट्सएप पर मिलेगा राशन कार्ड, जाति-आय समेत यह प्रमाणपत्र, पुष्कर सिंह धामी सरकार की यह तैयारी

व्हाट्सएप पर मिलेगा राशन कार्ड, जाति-आय समेत यह प्रमाणपत्र, पुष्कर सिंह धामी सरकार की यह तैयारी

आईटीडीए के अधीन संचालित अपणि सरकार पोर्टल पर इस समय राज्य और केंद्र सरकार की कुल 799 सेवाएं ऑनलाइन माध्यम से दी जा रही हैं। पुष्कर सिंह धामी सरकार की तैयारी हो रही है। लोगों को बहुत फायदा होगा।

व्हाट्सएप पर मिलेगा राशन कार्ड, जाति-आय समेत यह प्रमाणपत्र, पुष्कर सिंह धामी सरकार की यह तैयारी
Himanshu Kumar Lallदेहरादून। संजीव कंडवालMon, 19 Feb 2024 01:18 PM
ऐप पर पढ़ें

पुष्कर सिंह धामी सरकार के ‘अपणि सरकार’ पोर्टल के जरिए बनने वाले प्रमाणपत्र अब आपके व्हाट्सएप नंबर पर उपलब्ध हो सकेंगे। अभी उक्त प्रमाणपत्र सीएससी नेटवर्क के जरिए ही मिल पाते थे, इस तरह अब प्रमाणपत्र सीधे यूजर के पास पहुंच जाएंगे।

आईटीडीए के अधीन संचालित अपणि सरकार पोर्टल पर इस समय राज्य और केंद्र सरकार की कुल 799 सेवाएं ऑनलाइन माध्यम से दी जा रही हैं। इसमें जाति प्रमाणपत्र, आय प्रमाणपत्र, स्थायी निवास, जन्म- मृत्यु प्रमाणपत्र, राशन कार्ड, मनरेगा जॉब कॉर्ड के साथ ही केंद्र सरकार के अधीन आने वाली पैन कार्ड, आधार कार्ड जैसी सेवाएं भी शामिल हैं।

इसके लिए जो लोग खुद आवेदन करते हैं, उन्हें प्रमाणपत्र बनने के बाद ईमेल पर भेज दिया जाता है। लेकिन ज्यादातर लोग इसके लिए सीएससी नेटवर्क पर निर्भर हैं, इस कारण उन्हें वापस प्रमाणपत्र लेने के लिए सीएससी के पास ही जाना पड़ता है।

ग्रामीण क्षेत्रों में सीएससी की कम उपलब्धता के कारण दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। लेकिन अब आईटीडीए ने उक्त प्रमाणपत्र आवेदक के व्हाट्सएप नंबर पर भी भेजने की व्यवस्था कर दी है। लोग अपनी सुविधा से इसे कहीं भी प्रिंट करा सकते हैं।

इसके लिए आईडीए ने मैसेजिंग प्लेटफार्म के साथ अनुबंध किया है, जो मेटा के साथ तालमेल कर संबंधित यूजर के व्हाट्सएप पर प्रमाणपत्र उपलब्ध करा देगी।

उक्त सभी सेवाएं चूंकि सेवा का अधिकार के तहत नोटिफाइड हैं, इसलिए सभी प्रमाणपत्र तय समय के भीतर सीधे यूजर के पास पहुंच जाएंगे। गपशप अपने चैटबॉक्स के जरिए लोगों की शंकाओं का भी समाधान करेगा।

व्हाट्सएप एक ज्यादा यूजर फ्रेंडली माध्यम है। इसके चलते व्हाट्सएप के जरिए प्रमाणपत्र भेजने की व्यवस्था शुरू की जा रही है। लोग अपनी सुविधानुसार प्रमाणपत्र कहीं से भी प्रिंट करा सकते हैं। उन्हें इसे लेने को कहीं जाने की जरूरत नहीं है। 
विनीत कुमार, निदेशक, आईटीडीए
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें