ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडजनवरी में भी बारिश-बर्फबारी को तरस रहे, 13 में से देहरादून समेत 11 जिलों में आसमान से एक बूंद तक नहीं गिरी

जनवरी में भी बारिश-बर्फबारी को तरस रहे, 13 में से देहरादून समेत 11 जिलों में आसमान से एक बूंद तक नहीं गिरी

पिछले साल देहरादून जिले में 50 एमएम और 2022 में 149.6 एमएम बारिश हुई। इसके अलावा इस साल चमोली में महज 0.2 एवं नैनीताल में 0.8 एमएम बारिश दर्ज की गई है। पूरे उत्तराखंड में 99 फीसदी कम बारिश हुई है।

जनवरी में भी बारिश-बर्फबारी को तरस रहे, 13 में से देहरादून समेत 11 जिलों में आसमान से एक बूंद तक नहीं गिरी
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तानMon, 29 Jan 2024 09:31 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड में बारिश और बर्फबारी नहीं होने से सूखी ठंड पड़ रही है। कोहरे, शीतलहर से मैदान के लोग बेहाल हैं। पहाड़ों में बर्फबारी नहीं हो रही है। उत्तराखंड के देहरादून समेत 11 जिलों में जनवरी माह में एक बूंद भी बारिश नहीं हुई।

पिछले साल देहरादून जिले में 50 एमएम और 2022 में 149.6 एमएम बारिश हुई। इसके अलावा इस साल चमोली में महज 0.2 एवं नैनीताल में 0.8 एमएम बारिश दर्ज की गई है। पूरे उत्तराखंड में 99 फीसदी कम बारिश हुई है।

मौसम विभाग के मुताबिक जनवरी में सामान्य बारिश 36.6 एमएम बारिश होती है। लेकिन 28 जनवरी तक महज 0.1 एमएम बारिश दर्ज की गई। 11 जिलों में बारिश ट्रेस नहीं हुई। नवंबर से जनवरी तक सूखा नवंबर से लेकर जनवरी तक उत्तराखंड में बारिश की बेरुखी देखने को मिली है।

नवंबर में नौ तारीख से लेकर 12 तारीख तक और फिर 28 नवंबर को हल्की बारिश हुई। दिसंबर में चार और पांच दिसंबर को राज्य के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश दर्ज की गई। अक्तूबर, नवंबर और दिसंबर में 56 एमएम तक सामान्य बारिश होती है।

लेकिन इस बार 52 फीसदी कम 26.6 एमएम बारिश ही दर्ज की गई। मौसम निदेशक डॉ. बिक्रम सिंह का कहना है कि सर्दियों के महीनों में कम ही बारिश होती है, लेकिन इस बार पश्चिमी विक्षोभ बेहद कमजोर रहा और बारिश हो नहीं सकी।

जौनसार बावर में खेती पर भी पड़ा असर मौसम की बेरुखी से जहां लोग बेहाल हैं, वहीं जौनसार बावर में बारिश और बर्फबारी नहीं होने से सेब समेत अन्य नगदी फसल को भी काफी नुकसान पहुंचा है।

साल बारिश एमएम में
2014 104.4
2015 29.0
2016 0.0
2017 42.7
2018 25.2
2019 56.7
2020 125.2
2021 34.0
2022 149.6
2023  50


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें