DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राहुल गांधी ने उत्तराखंड के फौजी मतदाताओं के साथ जोड़े तार

dehradun  congress president rahul gandhi interacts with party workers during parivartan rally

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी शनिवार को पहली बार देहरादून में उत्तराखंड की जनता से रूबरू हुए। बतौर राजनेता उनका निशाना एकदम सटीक था। इस रैली में दिया गया भाषण हो या फिर इसके बाद शहीदों के परिजनों से मिलने का कार्यक्रम, राहुल सैन्य परिवारों की बहुलता वाले उत्तराखंड में सेना और सैनिकों के प्रति लोगों की भावनाओं के साथ खड़े नजर आए।

परेड मैदान में 36 मिनट के लंबे भाषण की शुरुआत में राहुल गांधी ने उत्तराखंड को पवित्र भूमि बताते हुए कहा कि उन्हें यहां आकर खुशी हो रही है। फिर वो बोले कि उत्तराखंड के लोगों ने सेना सहित देश की सुरक्षा के बाकी मोर्चों पर भी शानदार योगदान दिया है, इसके लिए पूरा देश दिल से आपका धन्यवाद करता है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के युवा रोज ही सेना, वायुसेना, नेवी, पैरा मिलिट्री के जरिये देश की रक्षा करते हैं। इस तरह अपने भाषण के शुरुआती दो मिनट उन्होंने उत्तराखंड की वीरता को याद किया। फिर राफेल सौदे पर उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की जनता और यहां के युवाओं को राफेल सौदे की सच्चाई मालूम होनी चाहिए, क्योंकि, आप युवाओं को भारतीय सेना, वायु सेना और जल सेना में भेजते हो।

 

Lok Sabha Election 2019: अमर सिंह ने मोदी के लिए गंगा पूजन किया

जीतते आए हैं फौजी बैकग्राउंड के अफसर

राज्य की सियासत में फौजी बैकग्राउंड के अधिकारियों की एंट्री सन् 1991 में गढ़वाल सीट पर मेजर जनरल (सेनि) भुवन चंद्र खंडूड़ी की जीत के साथ हुई। इसी सीट से लेफ्टिनेंट जनरल (सेनि) टीपीएस रावत भी सांसद निर्वाचित हुए। फौजी वोटरों का ही जलवा है कि एक बार फिर गढ़वाल सीट पर दो-दो पूर्व सैन्य अधिकारी भाजपा से टिकट के लिए जोर-आजमाइश कर रहे हैं।

फौजी वोटर इसलिए अहम

राज्य में सर्विस वोटरों की संख्या 88 हजार 600 है। डेढ़ लाख के आसपास पूर्व सैनिक वोटर भी हैं। 77 लाख मतदाताओं के बीच यह संख्या भले ही कम नजर आ रही हो, लेकिन इसमें इनके परिवारों के वोट भी यदि जोड़ दिए जाएं तो ये मतदाता कई जगह खासे प्रभावशाली हो जाते हैं।

उत्तराखंड में मिला कांग्रेस को नया हथियार, बसपा में भी सेंधमारी

किसानों से भी जुड़ने का प्रयास

राज्य में किसानों की कर्ज माफी पर राहुल बोले, प्रधानमंत्री ने उत्तराखंड आकर डबल इंजन की सरकार बनने पर किसानों की कर्जमाफी का वायदा किया था। लेकिन, ऐसा अब तक नहीं हो पाया। मगर, मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने के दस दिन के भीतर किसानों का कर्ज माफ कर दिया गया।

मेक इन उत्तराखंड का नारा

बेरोजगारी के मुद्दे पर राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने हर साल दो करोड़ रोजगार देने का वायदा किया था, लेकिन उल्टे बेरोजगारों के हाथ से काम ही छिन गया है। उन्होंने कहा कि वो युवाओं को लोन देकर उन्हें मेन इन देहरादून, मेक इन उत्तराखंड का सपना सच करते हुए चीन से टक्कर लेने लायक बनाएंगे। राज्य के छोटे व्यापारियों का उल्लेख करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि जीएसटी और नोटबंदी ने इन व्यापारियों का कारोबार चौपट कर दिया। हम इससे राहत दिलाने का प्रयास करेंगे।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rahul Gandhi connects with army background voters in Uttarakhand