ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडराफ्टिंग के एडवेंचर के बाद 8 घंटे जाम की सजा, दिल्ली हाईवे पर ट्रैफिक डायवर्ट; पर्यटक फंसे

राफ्टिंग के एडवेंचर के बाद 8 घंटे जाम की सजा, दिल्ली हाईवे पर ट्रैफिक डायवर्ट; पर्यटक फंसे

वीकेंड पर रविवार को ऋषिनगरी एक बार फिर ट्रैफिक व्यवस्था बेपटरी हो गई।  सुबह करीब नौ बजे से शुरू हुआ सिलिसला देर शाम पांच बजे तक रहा। जाम के चलते करीब आठ घंटे तक पर्यटकों को परेशानी हुई।

राफ्टिंग के एडवेंचर के बाद 8 घंटे जाम की सजा, दिल्ली हाईवे पर ट्रैफिक डायवर्ट; पर्यटक फंसे
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तान टीमSun, 23 Jun 2024 07:40 PM
ऐप पर पढ़ें

देश के मैदानी शहरों में भीषण गर्मी पड़ने से लोग हिल स्टेशन की ओर रुख कर रहे हैं। दिल्ली-एनसीआर, यूपी के कई शहरों समेत अन्य राज्यों से भारी संख्या में टूरिस्ट उत्तराखंड पहुंच रहे हैं। हरिद्वार, ऋषिकेश में टूरिस्टों ने रविवार को राफ्टिंग के एडवेंचर का जमकर मजा भी लिया, लेकिन उसके बाद दिल्ली हाईवे पर आठ घंटे तक ट्रैफिक जाम की सजा मिली।

ट्रैफिक जाम की वजह से पर्यटकों, और श्रद्धालुओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। पुलिस-प्रशासन की ओर से हाईवे पर अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात कर ट्रैफिक को नियंत्रित करने की कोशिश की गई, लेकिन रविवार शाम तक जाम की स्थिति बनी रही। 

वीकेंड पर रविवार को ऋषिनगरी एक बार फिर ट्रैफिक व्यवस्था बेपटरी हो गई।  सुबह करीब नौ बजे से शुरू हुआ सिलिसला देर शाम पांच बजे तक रहा। जाम के चलते करीब आठ घंटे तक पर्यटकों और राहगीरों को जूझना पड़ा। वहीं वाहन रेंग-रेंगकर गुजरे।

जाम से नगर क्षेत्र के आंतरिक मार्ग भी पूरी तरह से प्रभावित रहे, जिससे स्थानीय लोगों को भी फजीहत झेलनी पड़ी। रविवार सुबह करीब नौ बजे से ही हाईवे समेत प्रमुख मार्गों पर वाहनों का दबाव बढ़ने से जाम लगने का सिलसिला शुरू हो गया।

इसके चलते यातायात व्यवस्था बेपटरी हो गई। कोयलघाटी तिराहे पर सुबह नौ से शाम पांच बजे तक वाहन सवार जाम में फंसते रहे, तो जयराम चौक से लेकर चंद्रभागा पुल तक भी दिनभर जाम की स्थिति बनी रही। बचने के लिए सवारी वाहनों ने तिलक रोड, हीरालाल मार्ग और अन्य आंतरिक मार्गों का रूख किया, जिससे यहां भी अव्यवस्था फैल गई।

स्थानीय लोगों को आंतरिक मार्गों पर चलने के लिए सही जगह नहीं मिल पाई। हरिद्वार और मुनिकीरेती आवाजाही के लिए जाम से लोगों को दिनभर फजीहत होती रही। यातायात को सुचारु रखने के लिए नगर क्षेत्र के मुख्य चौक-चौराहों पर होमगार्ड और ट्रैफिक पुलिस जवान तैनात दिखे, लेकिन वाहनों के बढ़ते दबाव के चलते वह भी बेबस नजर आए।

श्यामपुर में भी हाल-बेहाल
श्यामपुर में अभीतक रेलवे फाटक पर जाम लग रहा था, लेकिन यहां हाईवे और फाटक चौड़ीकरण के बाद लोगों को राहत मिली है, लेकिन श्यामपुर पुलिस चौकी के ठीक सामने से हरिद्वार बाईपास और ऋषिकेश हाईवे का कट नया जाम जोन बनता दिख रहा है।

इस कट से वाहनों के इधर-उधर जाने से जाम लग रहा है। वाहनों को पास कराने के लिए यहां कभी होमगार्ड, तो कभी पुलिस जवान तैनात रहा है, लेकिन संकरा कट होने से वाहनों की कतारें श्यामपुर में हाट बाजार तक लग रही हैं। रविवार को भी इस क्षेत्र में दिनभर जाम से लोगों के हाल-बे-हाल रहे।

वीकेंड पर बाहरी राज्यों से भारी तादाद में पर्यटक पहुंचते हैं। शहर में वाहनों का दबाव न हो, इसके लिए ज्यादातर बाहरी वाहनों को हरिद्वार बाईपास मार्ग से डायवर्ट किया जाता है, लेकिन कुछ वाहन फिर से शहर में एंट्री कर जाते हैं। मुनिकीरेती से भी पर्यटक वाहन शहर से ही हरिद्वार का रुख करते हैं, जिससे यह समस्या पैदा हो रही है।
संदीप नेगी, सीओ, ऋषिकेश

रंग-बिरंगी राफ्टों से अटी रही गंगा घाटी
वीकेंड पर राफ्टिंग के लिए मुनिकीरेती क्षेत्र में रविवार को पर्यटकों की भीड़ उमड़ी। शिवपुरी से लेकर खारास्रोत तक दिनभर पर्यटकों ने गंगा के रैपिडों पर राफ्टिंग का आनंद उठाया। सुबह से लेकर शाम तक गंगा रंग-बिरंगी राफ्टों से अटी रही। कौड़ियाला-मुनिकीरेती जोन में रिवर राफ्टिंग का सीजन छह दिन बाद खत्म होने वाला है।

इसके बाद राफ्टिंग की शौकीन बरसात के चलते दो महीने तक राफ्टिंग नहीं कर पाएंगे। सितंबर से गंगा में राफ्टिंग शुरू हो पाएगी, जिसके चलते रविवार को अन्य वीकेंड के मुकाबले पर्यटकों की ज्यादा भीड़ दिखी। इनमें अधिकतर राफ्टिंग के लिए मुनिकीरेती में पहुंचे। उन्होंने कौड़ियाला, शिवपुरी और ब्र्रह्मपुरी एंट्री प्वाइंट से गंगा में सुबह से लेकर शाम तक राफ्टिंग की।

एक दर्जन से ज्यादा रैपिडों पर राफ्टों के उछाल और गंगा में शीतल पानी ने पर्यटकों के रोमांच को दोगुना किया। एग्जिट प्वाइंट खारास्रोत में राफ्टिंग के बाद पर्यटकों के चेहरों पर रोमांच का लुत्फ साफ नजर आया। राफ्टिंग कारोबारी वैभव थपलियाल ने बताया कि इस सीजन में अच्छा कारोबार हुआ है।

अभी एक सप्ताह और बचा है, जिसमें पर्यटकों को लगातार उमड़ने की पूरी संभावना है, जिसके चलते यह सीजन आर्थिक रूप से निर्भर व्यवसायियों के लिए राहतभरा होने वाला है। सहासिक पर्यटन अधिकारी खुशहाल सिंह नेगी ने बताया कि रविवार को 3847 पर्यटकों ने राफ्टिंग की।