ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडभगवान राम का उदाहरण देकर बोलीं प्रियंका गांधी- ...इसे परिवारवाद नहीं कहते

भगवान राम का उदाहरण देकर बोलीं प्रियंका गांधी- ...इसे परिवारवाद नहीं कहते

प्रियंका ने कहा, भगवान राम मर्यादा पुरुषोत्तम इसलिए कहे जाते हैं, क्योंकि वो अपने परिवार की मर्यादा, गरिमा और कुल की रक्षा के लिए लड़े, तभी अपने देश व प्रजा की रक्षा की। यही हमारे धर्म की परंपरा है।

भगवान राम का उदाहरण देकर बोलीं प्रियंका गांधी- ...इसे परिवारवाद नहीं कहते
Sourabh Jainलाइव हिन्दुस्तान,रुड़कीSat, 13 Apr 2024 07:50 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को उत्तराखंड में एक रैली को संबोधित किया, जिसमें उन्होंने लोगों से बहकावे में ना आकर लोकसभा चुनाव में बदलाव के लिए वोट डालने को कहा। अपने भाषण में उन्होंने भगवान राम का उदाहरण देते हुए बताया कि पीढ़ी दर पीढ़ी देश की सेवा करने को परिवारवाद नहीं कहते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि एक शहीद होता है तो दूसरा उठ खड़ा होता है, इसे देश भक्ति कहते हैं, प्रधानमंत्री मोदी इसे नहीं समझ पाएंगे। 

उत्तराखंड के रुड़की में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रियंका ने कहा, 'मैं इनसे पूछना चाहती हूं कि भगवान राम ने क्या किया, वो मर्यादा पुरुषोत्तम क्यों कहलाए, क्योंकि अपने परिवार की मर्यादा उन्होंने रखी। अपने परिवार के उसूलों के लिए लड़े, अपने परिवार की गरिमा के लिए लड़े, अपने कुल की रक्षा की और तभी उन्होंने अपने देश की रक्षा की। अपने लोगों और अपनी प्रजा की रक्षा की। ये एक पुरानी हिन्दू परम्परा है, ये हमारे धर्म की परम्परा है। इसको परिवारवाद नहीं कहते, इसको सेवाभाव कहते हैं।'

'एक शहीद होता है तो दूसरा उठ खड़ा होता है'

आगे उन्होंने कहा, 'जो पीढ़ी दर पीढ़ी इस देश की सेवा करता है। इसको देश भक्ति कहते हैं कि एक शहीद होता है तो दूसरा खड़ा होता है। और दूसरा शहीद होता है तो तीसरा खड़ा होता है। और तीसरा शहीद होगा तो चौथा खड़ा होगा। कुछ नहीं चाहिए हमें आपसे, आपने बहुत दे दिया है। आपने इतना दे दिया है कि दस पीढ़ी नहीं चुका सकती। आप हमें नहीं चाहते तो कोई बात नहीं, तब भी हम सेवा करेंगे, हम मांगेंगे नहीं। हम जितना कर सकते हैं करेंगे।'

'मोदीजी नहीं समझेंगे, आप जरूर समझेंगे'

प्रियंका ने आगे कहा, 'एक सच्ची आस्था होती है, एक सच्ची श्रद्धा होती है, ये मोदी जी नहीं समझ पाएंगे लेकिन आप समझौगे, क्योंकि आपने सरहद पर अपने बेटों को भेजा है। इसलिए आप समझौगे, आपके बेटे कुमाऊं रेजीमेंट, गढ़वाल रेजीमेंट के बेटे हैं, इस देश के लिए शहीद होने के लिए तैयार हैं। इस देश के लिए पीढ़ी दर पीढ़ी शहीद हुए हैं, इसलिए इस भावना को आप समझ सकते हैं, मोदीजी नहीं समझ सकते हैं। उन्होंने इस देश के लिए कुछ त्याग नहीं किया है। त्याग आपने किया है, इस देश की धरती के लिए इस देश की मिट्टी के लिए। आप समझ सकते हैं कि एक परिवार इस देश के लिए त्याग करता है, इस देश के लिए शहीद होता, उसका क्या मतलब है और उसके दिल में देश के लिए कैसी श्रद्धा होगी।'

'भई तुम हमसे इतना क्यों डर रहे हो'

अपने परिवार के खिलाफ चल रहे केसों और विभिन्न कार्रवाई को लेकर प्रियंका ने कहा, 'मैं इन सबको बताना चाहती हूं, आप केस डाल दो, संसद से निकाल दो, घर से निकाल दो, आप हमें भ्रष्टाचारी बोलो, तमाम केस डाल दो, एजेंसियों को हमारे पास भेज दो, मेरी 75 साल की माता जी को भेज दो ईडी के पास पूछताछ कराने के लिए, मेरे पति को भेज दो, मेरे भाई को भेज दो, हमारे पूरे परिवार को भेज दो, हमें कोई परवाह नहीं है। पता है हमें क्या दिखता है, हमें आपका भय दिखता है, हमें आपका भय दिखता है कि भई तुम इतना डर क्यों रहे हो हमसे।'
 

'आप नहीं जागे तो 5 साल और भुगतना पड़ेगा'

लोगों से कांग्रेस को वोट देने की अपील करते हुए प्रियंका ने कहा, 'इस देश का सत्य, इस देश की जनता के संघर्ष में है, जिसे देश की जनता को पहचानना होगा। आपको उठना पड़ेगा, आपको जागना पड़ेगा, जागो और तय करो कि इस बार जो आप सरकार लाओगे वो आपकी सरकार होगी। वो एक ऐसी सरकार होगी जो आपके लिए काम करेगी, जिसकी योजनाएं आपके लिए बनेंगी, बड़े-बड़े उद्योगपतियों के लिए नहीं। जो आपके लोन पास करेगी, आपके कर्ज माफ करेगी, सिर्फ बड़े-बड़े उद्योगपतियों के नहीं। आप समझ लीजिए कि अब समय आ गया है। अगर आज आप नहीं जागोगे तो 5 साल आपको और भुगतना पड़ेगा। आप अच्छी-अच्छी चीजें देखोगे लेकिन आपका जीवन नहीं बदलेगा और मैं आपसे पूछना चाहती हूं, सच्चाई बताओ मुझे, पिछले 10 सालों में कितना बदलाव आया आपके जीवन में? क्या आप खुश हो? फिर से भाजपा की सरकार चाहते हो? तो बदलाव लाओ, मन बनाओ, किसी के बहकावे में ना आओ।'