ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडपीएम मोदी ने ‘शिव के घर’के किए थे दर्शन, आदि कैलास के लिए श्रद्धालुओं में बढ़ा क्रेज; टूर पैकेज पर बना प्लान

पीएम मोदी ने ‘शिव के घर’के किए थे दर्शन, आदि कैलास के लिए श्रद्धालुओं में बढ़ा क्रेज; टूर पैकेज पर बना प्लान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड दौरे के दौरान पिथौरागढ़  स्थित आदि कैलास के दर्शन किए थे।  पीएम मोदी के आदि कैलास पहुंचने के बाद श्रद्धालुओं में यहां के दर्शन की चाहत बढ़ गई है।

पीएम मोदी ने ‘शिव के घर’के किए थे दर्शन, आदि कैलास के लिए श्रद्धालुओं में बढ़ा क्रेज; टूर पैकेज पर बना प्लान
Himanshu Kumar Lall  नैनीताल। दीपक पुरोहितThu, 19 Oct 2023 09:30 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड दौरे के दौरान पिथौरागढ़  स्थित आदि कैलास के दर्शन किए थे।  पीएम मोदी के आदि कैलास पहुंचने के बाद श्रद्धालुओं में यहां के दर्शन की चाहत बढ़ गई है। पीएम की यात्रा के बाद आदि कैलास को लेकर कुमाऊं मंडल विकास निगम (केएमवीएन) के पास आने वाली पूछताछ में करीब 30 फीसदी तक का इजाफा हो गया है।

इसके अलावा निजी ट्रैवल ऑपरेटर भी अब आदि कैलास यात्रा के टूर पैकेज बनाने में जुटे हैं। दरअसल अब तक आदि कैलास व ओम पर्वत की यात्रा करना काफी मुश्किल था। 2019 तक करीब 150 किलोमीटर की यात्रा पैदल ही होती थी। इसके बाद सड़क बनी पर अब भी मार्ग पूरी तरह से ठीक नहीं है।

वहीं पीएम की यात्रा के बाद इस इलाके में सड़कों को ठीक करने का काम तेज हो गया है। संचार सुविधा से दूर इलाके में मोबाइल बजने लगा है। ऐसे में अब दूरस्थ इलाके में रह रहे ग्रामीण भी मोबाइल और इंटरनेट की सुविधा का फायदा उठा सकते हैं। 

ट्रैवल एजेंसियां भी पैकेज बनाने में जुटीं
अब तक आदि कैलास की यात्रा केएमवीएन ही करवाता था। पर सड़क मार्ग से पहुंच हो जाने के बाद स्थानीय ट्रैवल एजेंसियां भी इस यात्रा के पैकेज तैयार करने लगी हैं। वाईटीडीओ नामक कंपनी के संचालक वीएमएस खाती के अनुसार आदि कैलास तक की यात्रा अब सुगम हो रही है। वहीं इस साल केएमवीएन 25 दलों को आदि कैलास की यात्रा करवा चुका है। इस बार कुल 34 दलों को यात्रा करनी है

ऐसे पहुंचें आदि कैलास व ओम पर्वत
5945 मीटर की ऊंचाई पर स्थित आदि कैलास व ओम पर्वत जाने के लिए जून 2024 के बाद का समय ठीक रहेगा। दिल्ली से यात्री सीधे वाहन से धारचूला पहुंचते हैं। यहां से वाहन किराए पर लेकर चार दिन की यात्रा पर चीन सीमा से महज कुछ किमी की दूरी पर स्थित ओम पर्वत व आदि कैलास को रवाना होते हैं।

सड़क व मोबाइल नेटवर्क बेहतर होने से इलाके में श्रद्धालुओं व साहसिक पर्यटन के शौकीनों का पहुंचना आसान होगा। पीएम मोदी के पहुंचने के बाद से इलाके का प्रचार भी काफी हो गया है। इसलिए यात्रा को लेकर काफी लोग पूछताछ भी कर रहे हैं। 
एपी बाजपेयी, महाप्रबंधक, केएमवीएन

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें