ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडजिंदगी की जरूरतों पर बढ़ी पीएफ की निर्भता, महंगाई में प्रोविडेंट फंड का खूब मिल रहा साथ

जिंदगी की जरूरतों पर बढ़ी पीएफ की निर्भता, महंगाई में प्रोविडेंट फंड का खूब मिल रहा साथ

महंगाई के दौर में जिंदगी की तमाम जरूरतें पूरी करने के लिए आम लोग जद्दोजहद कर रहे हैं। ऐसे में बड़े घरेलू कार्यों शादी-विवाह, त्योहार तथा अन्य जरूरतों को पूरा करने के लिए लोगों की बचत पर निर्भता बढ़ी।

जिंदगी की जरूरतों पर बढ़ी पीएफ की निर्भता, महंगाई में प्रोविडेंट फंड का खूब मिल रहा साथ
Himanshu Kumar Lallहल्द्वानी, चन्द्र प्रकाश आर्याMon, 11 Dec 2023 03:58 PM
ऐप पर पढ़ें

महंगाई के दौर में जिंदगी की तमाम जरूरतें पूरी करने के लिए आम लोग जद्दोजहद कर रहे हैं। ऐसे में बड़े घरेलू कार्यों शादी-विवाह, त्योहार तथा अन्य जरूरतों को पूरा करने के लिए लोगों की भविष्य के लिए की गई बचत पर निर्भरता लगातार बढ़ती जा रही है।

जरूरतें पूरी न होने पर लगनों के इस सीजन में एक माह के भीतर कुमाऊं मंडल के 27 हजार से अधिक कामगारों ने प्रोविडेंट फंड (भविष्य निधि) की निकासी के लिए आवेदन किया। क्षेत्रीय भविष्य संगठन (ईपीएफओ) के क्षेत्रीय कार्यालय हल्द्वानी ने स्वीकृति के बाद करीब 21 हजार 229 आवेदकों को 42.33 करोड़ की राशि जारी कर दी है।

आसमान छूती महंगाई के बीच आम लोगों के लिए जिंदगी की जरूरतें पूरी करने की चुनौती बना है। जिस कारण शादी-ब्याह सहित विभिन्न कामकाजों व बड़े त्योहारों पर कामगार अपने भविष्य निधि खाते से बचत की धनराशि निकालने को मजबूर हो रहे हैं।

इनमें निजी क्षेत्र की कंपनियों में कार्य करने वाले कार्मिकों की संख्या अधिक होती है। जानकारों की मानें तो निजी क्षेत्र की कंपनियों में कार्यरत कार्मिकों को अल्प वेतन ही मिल पाता है। सिडकुल की कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारियों को भी न्यूनतम वेतन से ही अपना गुजारा करना पड़ता है।

इससे रोजमर्रा की जरूरतों के अलावा वह शायद बड़ी बचत नहीं कर पाते हैं। ऐसे में घर में बड़े काम करने के लिए या तो उन्हें लोन का सहारा है या फिर वह अपनी बचत को निकाल रहे हैं। यही वह है कि शादियों के सीजन में ईपीएफओ के क्षेत्रीय कार्यालय में नवंबर में 27,033 कार्मिकों ने भविष्य निधि से पैसा निकालने के लिए आवेदन किया था।

हालांकि दस्तावेज पूर्ण मिलने पर 21,229 कार्मिकों के आवेदन स्वीकृत हुए, जिन्हें कुल 42 करोड़ 33 लाख की धनराशि जारी की गई है। इससे पहले दिवाली से पूर्व भी 28,373 कार्मिकों ने पीएफ के लिए आवेदन किया था, जिनमें से आवेदन स्वीकृति के बाद ईपीएफओ की ओर से 19,798 कार्मिकों को 57.5 करोड़ की राशि जारी की गई थी।

नवंबर में भविष्य निधि से पैसा निकालने के लिए 27,033 कार्मचारियों ने आवेदन किया था, इनमें से स्वीकृत 21,229 आवेदकों को 42.33 करोड़ पीएफ का पैसा जारी कर दिया गया है।  
आदित्य साह, क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें