ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडजान बचाकर भागते पुलिसकर्मी और पेट्रोल बम से हमला, हल्द्वानी का खौफनाक VIDEO

जान बचाकर भागते पुलिसकर्मी और पेट्रोल बम से हमला, हल्द्वानी का खौफनाक VIDEO

 सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह, सहायक नगर आयुक्त गणेश भट्ट, कर अधीक्षक महेश पाठक की अगुवाई वाली टीम गुरुवार शाम करीब चार बजे जेसीबी- अन्य वाहन लेकर पहुंची। पुलिस कर्मियों पर पेट्रोल बम से हमला हुआ।

जान बचाकर भागते पुलिसकर्मी और पेट्रोल बम से हमला, हल्द्वानी का खौफनाक VIDEO
Himanshu Kumar Lallहल्द्वानी, हिन्दुस्तानThu, 08 Feb 2024 11:55 PM
ऐप पर पढ़ें

हल्द्वानी में अतिक्रमण के खिलाफ पुलिस-प्रशासन के सख्त ऐक्शन के बाद लोगों का भी रिऐक्शन हुआ है। अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई करने के बाद वापस लौटती पुलिस कर्मियों पर कुछ उपद्रवियों ने पेट्रोल बम से हमला कर दिया। पेट्रोल बम के हमले से पुलिसकर्मी बाल-बाल बचे।

हल्द्वानी में नजूल भूमि पर बने मदरसा और धार्मिक स्थल को तोड़ने के विरोध में गुरुवार को जमकर बवाल हुआ। उपद्रवियों ने वनभूलपुरा थाने में आग लगा दी। क्षेत्र की हर गली-मोहल्ले में खड़े दोपहिया वाहनों को भी फूंक दिया। करीब तीन घंटे तक हर घर की छत से पत्थर और ईंटें पुलिसकर्मियों पर लगातार बरसते रहे।

बवाल के बीच प्रशासन और नगर निगम के अफसरों को जान बचाकर भागना पड़ा। सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह, सहायक नगर आयुक्त गणेश भट्ट, कर अधीक्षक महेश पाठक की अगुवाई वाली टीम गुरुवार शाम करीब चार बजे जेसीबी और अन्य वाहन लेकर वनभूलपुरा पहुंची।

यहां मलिक का बगीचा क्षेत्र में नजूल भूमि पर बने एक मदरसे और धार्मिक स्थल को ध्वस्त किया जाना था। बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की सुरक्षा में अफसर और नगर निगम की टीमें भी पहुंचीं। यहां चारों तरफ की हर गली में सैकड़ों की संख्या में युवा और महिलाओं ने पहुंचकर कार्रवाई का विरोध करना शुरू कर दिया।

पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर उन्हें रोकने की कोशिश की। वहीं, दूसरी तरफ कई थाने के प्रभारियों ने कार्रवाई रोकने पहुंचे लोगों को बातचीत कर मनाने की कोशिश की। करीब एक घंटे बाद बमुश्किल उपद्रवियों को पीछे खदेड़कर चार जेसीबी मौके पर पहुंचाई गईं।

वहीं, अतिक्रमण स्थल को घेरकर खड़े लोगों को पुलिस ने बल प्रयोग कर पीछे हटाया। जेसीबी ने जैसे ही निर्माण तोड़ना शुरू किया हर एक गली और घरों की छत से पत्थरबाजी शुरू हो गई। उपद्रवियों ने एक गली में नगर निगम का ट्रैक्टर फूंक दिया गया।

इसके बाद तो बवाल ऐसा बढ़ा कि अतिरिक्त फोर्स अपने साथ लेकर एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा और एसपी सिटी हरबंश सिंह को भी मौके पर पहुंचना पड़ा। पुलिस कई घंटों तक उपद्रवियों और पत्थरबाजों से जूझती रही। इसमें पुलिस के सीओ ऑपरेशन समेत 30-40 पुलिसकर्मी चोटिल हुए हैं।

मौके का फायदा उठाकर उपद्रवियों ने कई दोपहिया वाहन और सरकारी वाहनों में भी आग लगा दी। मामला बढ़ता देखकर अफसरों को अतिक्रमण ध्वस्तीकरण की कार्रवाई बीच में रोककर वापस लौटना शुरू कर दिया।

पत्थरबाजी में सीओ स्पेशल ऑपरेशन नितिन लोहनी समेत कई दरोगा, कांस्टेबल और मीडियाकर्मी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। वापस लौटते समय पुलिस फोर्स और अफसरों के काफिले पर जमकर पथराव किया गया।

पुलिस कर्मियों समेत एक महिला हुई घायल:
अतिक्रमण हटाने के दौरान हुई पत्थरबाजी के दौरान 7 पुलिस कर्मियों समेत एक स्थानीय महिला घायल हो गई। जिसमें रोहन सिंह बर्थवाल पीएसी, हरीश फर्त्याल पुलिस लाइन नैनीताल, मोहन चंद्र, एएसआई रामनगर, बबिता एसआई कोतवाली रामनगर, कमल चौहान सिपाही काठगोदाम, गौरव जोशी एसआई चौकी बिन्दुखत्ता, तरुण मेहता सिपाही लालकुआं थाना शामिल हैं। स्थानी महिला शमीमजहां भी पत्थरबाजी के दौरान घायल हो गई।

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें