ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडदिल्ली-एनसीआर, UP वापस लौटने में छूटे पसीने, हाईवे पर लंबा ट्रैफिक जाम; हरिद्वार में गंगा दशहरा पर भीड़

दिल्ली-एनसीआर, UP वापस लौटने में छूटे पसीने, हाईवे पर लंबा ट्रैफिक जाम; हरिद्वार में गंगा दशहरा पर भीड़

ट्रैफिक जाम की वजह से भक्तों और पर्यटकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा पुलिस-प्रशासन की ओर से अतिरिक्त फोर्स भी तैनात किया गया था, लेकिन  पर्यटकों और तीर्थ यात्रियों को कुछ खास राहत नहीं मिली।

दिल्ली-एनसीआर, UP वापस लौटने में छूटे पसीने,  हाईवे पर लंबा ट्रैफिक जाम; हरिद्वार में गंगा दशहरा पर भीड़
Himanshu Kumar Lallहरिद्वार, हिन्दुस्तानSun, 16 Jun 2024 08:31 PM
ऐप पर पढ़ें

गंगा दशहरा स्नान पर्व पर रविवार को हरिद्वार में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। दिल्ली-एनसीआर, यूपी, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा आदि राज्यों में श्रद्धालुओं को वापस लौटने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। दिल्ली-हरिद्वार हाईवे पर कई किलोमीटर लंबा ट्रैफिक जाम लगा रहा।

ट्रैफिक जाम की वजह से भक्तों और पर्यटकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा पुलिस-प्रशासन की ओर से अतिरिक्त फोर्स भी तैनात किया गया था, लेकिन  पर्यटकों और तीर्थ यात्रियों को कुछ खास राहत नहीं मिली। यूपी, दिल्ली-एनसीआर सहित अन्य राज्यों से आने वाली गाड़ियों को डायवर्ट कर पार्किंग स्थल की ओर भेजा गया। रविवार दोपहर बाद हाईवे पर लंबा जाम होने पर ट्रैफिक डायवर्ट किया गया।   

गंगा दशहरा को श्रद्धालुओं की भारी भीड़
पुलिस-प्रशासन के अनुसार दोपहर दो बजे तक पंद्रह लाख श्रद्धालु गंगा में डुबकी लगा चुके थे। सुबह चार बजे हरकी पैड़ी के गंगा घाटों पर स्नान शुरू हुआ। स्थानीय लोगों के अनुसार रविवार की भीड़ कुंभ 2010 और कांवड़ मेले के अंतिम दिनों की तरह रही। पुलिस के अनुमान से अधिक श्रद्धालु पहुंचे।

वाहनों का दबाव बढ़ने के कारण हाईवे पर दिन भर जाम की स्थिति रही। ब्रह्ममुहूर्त पर सुबह चार बजे से हरकी पैड़ी के ब्रह्मकुंड पर श्रद्धालुओं ने स्नान शुरू किया। इसके साथ ही सुभाष घाट, मालवीय घाट, नाईसोता घाट, बिरला घाट और सीसीआर टावर पास के घाट पर भी जबरदस्त भीड़ रही। देर शाम तक गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं तांता लगा रहा। दिन चढ़ने के साथ श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती रही।

इन राज्यों से पहुंचे भक्तजन
गंगा दशहरा स्नान के लिए दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और हिमाचल से बड़ी संख्या में श्रद्धालु हरिद्वार पहुंचे। शनिवार शाम से ही श्रद्धालुओं के आने का क्रम शुरू हो गया था। स्नान पर्व होने के साथ स्कूलों में गर्मियों का अवकाश और रविवार होने के चलते भीड़ अधिक रही। 

बस स्टैंड के बाहर जाम
बस स्टैंड के बाहर भी जाम की स्थिति रही। अधिकांश बसों को बाहर से बस स्टैंड के भीतर पहुंचने में एक घंटे का समय लग गया। सड़क पर जाम के कारण पैदल चलने वाले लोग भी परेशान रहे।

मनसा देवी सीढ़ियों वाला मार्ग किया बंद
गंगा दशहरा और रविवार होने के कारण भीड़ दोगुनी हो गई। मनसा देवी सीढ़ियों वाले मार्ग को पुलिस को बंद करना पड़ा। पैदल मार्ग पर भीड़ इस कदर उमड़ी की रोपवे का टिकट लेने के लिए तीन घंटे का समय लग रहा था।

दोपहर में हुई अपर रोड का वीडियो देख हर किसी ने कुंभ 2010 की 14 अप्रैल बैशाखी स्नान को याद किया। जब हरिद्वार के इतिहास की सबसे अधिक भीड़ उमड़ी थी। 43 डिग्री से अधिक तापमान होने के बाद भी सड़क पर पैर रखने की जगह तक नहीं थी। 60 वर्षीय व्यापारी सुधीर शर्मा बताते है कि रविवार को उमड़ी भीड़ ने कुंभ मेले की यादों को ताजा कर दिया।

2021 के कुंभ में तो इतनी भीड़ नहीं थी, लेकिन 2010 के कुंभ में इसी तरह की भीड़ उमड़ी थी। राकेश कुमार ने बताया कि कई सालों से वह अपर रोड पर दुकान किराये पर लेकर चला रहे हैं। इस तरह की भीड़ कांवड़ मेले के अंतिम दिनों में दिखती है, जब डाक कांवड़ हरिद्वार पहुंचती है।

होटल और धर्मशाला पैक
गंगा दशहरा के दिन शहर के होटल और धर्मशाला पूरी तरह पैक रहे। रेस्टोरेंट और बाजार में प्रसाद और अन्य सामग्री बेचने वाले कारोबारियों के चेहरे खिल गए। श्रद्धालुओं की आमद लगातार बनी रही।

Advertisement