ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडशादी में DJ डांस नहीं होगा, फोटोग्रोफी पर भी रोक; उत्तराखंड में किसका ऐसा फरमान

शादी में DJ डांस नहीं होगा, फोटोग्रोफी पर भी रोक; उत्तराखंड में किसका ऐसा फरमान

बताते हैं कि बीती नौ जून को मोहल्ला चौहनान और छीपीयान निवासी दूल्हा-दुल्हन के परिवार ने एक मैरिज हॉल में शादी की। शादी में जमकर ढोल बजाया गया और आतिशबाजी की गई। महिलाओं ने खुले में डांस भी किया।

शादी में DJ डांस नहीं होगा, फोटोग्रोफी पर भी रोक; उत्तराखंड में किसका ऐसा फरमान
dulhan
Himanshu Kumar Lallजसपुर, हिन्दुस्तानSat, 22 Jun 2024 02:58 PM
ऐप पर पढ़ें

शादी में डीजे पर डांस, फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी सहित अन्य चीजों पर जमकर खर्चा करने पर दूल्हा-दुल्हन पक्ष पर ऐक्शन लिया गया है। बिरादरी की ओर से दोनों पक्षों के बहिष्कार करने का ऐलान किया गया है। यह पूरा हैरान करने वाला मामला उधमसिंह नगर जिले में सामने आया है।

छीपी बिरादरी के नियमों का उल्ल्घंन करना दूल्हा-दुल्हन पक्ष को भारी पड़ गया। बिरादरी की बैठक में दोनों पक्षों के बहिष्कार का निर्णय लिया गया। दोनों पक्षों को बिरादरी का कोई भी व्यक्ति अपने कार्यक्रम में नहीं बुलाएगा और न ही उनके यहां जाएगा। बिरादरी सदर ने इसको लेकर शुक्रवार को शहर में मुनादी भी कराई है।

19 साल पहले बनी छीपी बिरादरी की पंचायत में दूल्हा-दुल्हन पक्ष की शादी में ढोल, डीजे डांस, आतिशबाजी, फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, फिजूलखर्ची पर रोक लगाई गई थी। बिरादरी के बने नियमों को बिरादरी के दूल्हा-दुल्हन पक्ष के लोग मानकर शादी कर रहे थे।

बताते हैं कि बीती नौ जून को मोहल्ला चौहनान और छीपीयान निवासी दूल्हा-दुल्हन के परिवार ने एक मैरिज हॉल में शादी की। शादी में जमकर ढोल बजाया गया और आतिशबाजी की गई। महिलाओं ने खुले में डांस भी किया। इसके अलावा कई कार्य बिरादरी नियमों के खिलाफ किए गए।

यह सब देखकर कार्यक्रम में मौजूद बिरादरी के चौधरी ने बिरादरी सदर को इसकी जानकारी दी। सदर ने 12 जून को एक मैरिज हॉल में बैठक कर दूल्हा-दुल्हन पक्ष को बुलाया, लेकिन दोनों नहीं आए। 15 जून को पुन बैठक रखी गई, लेकिन इसमें भी दूल्हा-दुल्हन पक्ष नहीं पहुंचा।

बैठक में सैकड़ों की संख्या में मौजूद लोगों ने बिरादरी कमेटी को दूल्हा-दुल्हन पक्ष का बॉयकाट करने को कहा। शुक्रवार को बिरादरी सदर अनीस अहमद ने बताया कि दूल्हा-दुल्हन पक्ष के लोगों को सुनवाई के लिए बैठक में बुलाया गया था।

दोनों के न पहुंचने पर बिरादरी के लोगों की मांग पर कमेटी ने दोनों पक्षों की बिरादरी के किसी भी कार्यक्रम में शिरकत करने पर रोक लगा दी है। दोनों पक्षों को कोई भी अपने कार्यक्रम में नहीं बुलाएगा और न ही उनके किसी कार्यक्रम में बिरादरी का कोई आदमी जाएगा।