ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड2 बच्चों की मौत के बाद 3 दिन नाइट पौड़ी जिले के खिर्सू ब्लॉक कर्फ्यू, गुलदार के हमले से गई थी जान 

2 बच्चों की मौत के बाद 3 दिन नाइट पौड़ी जिले के खिर्सू ब्लॉक कर्फ्यू, गुलदार के हमले से गई थी जान 

उपजिलाधिकारी श्रीनगर ने बताया कि मंगलवार को भी नर्सरी रोड से पौड़ी बस अड्डा और  बुधाणी रोड में गुलदार की चहलकदमी व घुर्राने की आवाजे सुनी गई। गंगा दर्शन मोड़ पर गुलदार द्वारा एक गाय को शिकार बनाया।

2 बच्चों की मौत के बाद 3 दिन नाइट पौड़ी जिले के खिर्सू ब्लॉक कर्फ्यू, गुलदार के हमले से गई थी जान 
Himanshu Kumar Lallपौड़ी श्रीनगर, हिटी।Wed, 07 Feb 2024 12:31 PM
ऐप पर पढ़ें

गुलदार की दहशत के बीच डीएम ने खिर्सू ब्लॉक के कई इलाकों मे तीन दिन तक नाईट कर्फ्यू लगाने के साथ ही बुधवार को अवकाश घोषित कर दिया है। एसडीएम श्रीनगर और उप वन संरक्षक, गढ़वाल वन प्रभाग पौड़ी की रिपोर्ट के बाद डीएम ने नाइट कफ्र्यू लगाने के आदेश जारी किए हैं।

उपजिलाधिकारी श्रीनगर ने बताया कि मंगलवार को भी नर्सरी रोड से पौड़ी बस अड्डा और  बुधाणी रोड में गुलदार की चहलकदमी व घुर्राने की आवाजे सुनी गई। दिन में  गंगा दर्शन मोड़ पर गुलदार द्वारा एक गाय को अपना शिकार बनाया गया है। इसके साथ ही उप वन संरक्षक, गढ़वाल वन प्रभाग, पौड़ी ने अप्रिय घटना से बचने के लिए विकास खण्ड खिर्सू के अन्तर्गत श्रीनगर नगर क्षेत्र, ग्राम श्रीकोट, ग्राम ढिकवालगांव, ग्राम सरणा, ग्राम बुधाणी, ग्राम जलेथा, ग्राम भटोली, ग्राम ग्वाड, ग्राम रैतपुर, ग्राम कोठगी, ग्राम खिसूं में नाइट कफ्र्यू लगाए जाने का उल्लेख किया है।

बताया कि उपजिलाधिकारी, श्रीनगर एवं उप वन संरक्षक, गढ़वाल वन प्रभाग, पौड़ी की आख्या के आधार पर तहसील श्रीनगर के विकास खण्ड खिर्स के अन्तर्गत श्रीनगर नगर क्षेत्र, ग्राम श्रीकोट, ग्राम ढिकवालगांव, ग्राम सरणा, ग्राम बुधाणी, ग्राम जलेथा, ग्राम भटोली, ग्राम ग्वाड, ग्राम रैतपुर, ग्राम कोठगी, ग्राम खिसूं में  बुधवार (आज) से 9 फरवरी की शाम 6 बजे से सुबह  6 बजे तक के समय ग्रामवासियों का आवागमन पूर्णरूप से प्रतिबन्धित किया जाता है। इसके साथ ही बुधवार को खिर्सू ब्लॉक के सभी स्कूलों के साथ ही आंगनबाड़ी केदो में अवकाश घोषित किया जाता है। 

ये सावधानी बरतें गुलदार प्रभावित क्षेत्र के लोग
सायं अथवा रात्रि के समय छोटे बच्चों को अकेले न छोड़े ।
आवसीय परिसरों एवं गौशालाओं के चारों ओर यथासम्भव झाड़ियों, घास को साफ करवा दें।
आवासीय परिसरों एवं गौशालाओं के चारों ओर रात्रि में रोशनी रखें
गुलदार देखे जाने की स्थिति में घबराए नहीं और अफवाहों पर ध्यान ना दें ।
पालतू पशुओं के वास-स्थल के पास सुरक्षा बाड़ लगायें। 
गुलदार के घायल किये जाने पर तत्काल 108 को सूचित करें
वन क्षेत्रों व गुलदार प्रभावित क्षेत्रों में यथासंभव समूह में ही आवागमन करें। 

क्षेत्र में दहशत को देखते हुए ग्वाड़ में 2 पिंजरे और लगा दिए गए हैं। साथ ही दोनों घटनाओं के दृष्टिगत ग्वाड़ (खिर्सू) और ग्लास हाउस श्रीनगर में तीन -तीन लोगों की गश्त टीम बड़ा दी गई है। जिसमें दोनों जगह अब वन विभाग के आठ-आठ लोग नजर बनाए हुए हैं। साथ ही गुलदार की चहलकदमी को देखते हुए आमजनमानस से प्रचार प्रसार के जरिए अपील की जा रही है कि अंधेरा होने के पश्चात घरों से जरूरी हो तो ही बाहर निकलें।
ललित मोहन सिंह नेगी, वन क्षेत्राधिकारी

चौबीस घंटे गुलदार पर नजर रख रहा वन विभाग 
गढ़वाल वन प्रभाग की पौड़ी रेंज के ग्वाड़ व श्रीनगर के ग्लास हाउस मोहल्ले में गुलदार की दहशत बरकरार है। ग्रामीणों को अभी तक गुलदार की दहशत से निजात नहीं मिल पाई। यहां ग्रामीण गुलदार की दहशत में जीने को मजबूर हैं।  हालांकि विभाग का दावा है कि ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए है।

प्रभावित क्षेत्रों में टीम तैनात करने के साथ ही ग्रामीणों को सतर्क रहने के लिए घर-घर जाकर जागरूक अभियान चलाया जा रहा है। बीते दिनों गुलदार ने खिर्सू ब्लाक के ग्वाड़ व श्रीनगर के ग्लास हाउस में एक-एक बच्चे को निवाला बना दिया था। जिसके बाद इन क्षेत्रों में गुलदार की दहशत बनी हुई है।

दोनों मासूम को निवाला बनाए जाने के बाद हरकत में आते हुए वन विभाग ने यहां पर गश्त बढ़ाने, पिंजरा लगाने के साथ ही ट्रैप कैमरे लगा दिए है। गढ़वाल वन प्रभाग के डीएफओ स्वप्निल अनिरुद्ध ने बताया कि दोनो गुलदार प्रभावित क्षेत्रों में 24 घंटे गुलदार की गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। पिंजरा लगाने के साथ ही लोगों से सतर्क रहने की अपील भी की जा रही है।  


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें