DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  कोरोना पॉजिटिवों की बढ़ेंगी मुश्किलें, NHM कर्मियों ने होम आइसोलेशन जाकर शुरू की दो दिनी हड़ताल

उत्तराखंडकोरोना पॉजिटिवों की बढ़ेंगी मुश्किलें, NHM कर्मियों ने होम आइसोलेशन जाकर शुरू की दो दिनी हड़ताल

हिन्दुस्तान टीम, देहरादूनPublished By: Himanshu Kumar Lall
Tue, 01 Jun 2021 05:18 PM
कोरोना पॉजिटिवों की बढ़ेंगी मुश्किलें, NHM कर्मियों ने होम आइसोलेशन जाकर शुरू की दो दिनी हड़ताल

उतराखंड में भले ही कोरोना का ग्राफ कम हो रहा हो लेकिन कोविड सेंटर में भर्ती पॉजिटिवों व होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों की परेशानी कम नहीं होने वाली है। लंबित मांगों के निस्तारण के लिए आंदोलनरत एनएचएच ( राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन) के कर्मचारी होम आइसोलेशन पर चले गए हैं। उत्तराखंड में शुरू दो दिनी आंदोलन के पहले दिन कर्मचारियों के काम नहीं करने से पॉजिटिवों सहित राष्ट्रीय कार्यक्रम पर असर पड़ा है। एनएचएम के डाक्टर एवं कर्मचारी मंगलवार से दो दिन की हड़ताल पर चले गये।  प्रदेश में करीब 4500 कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार किया। सभी कर्मियों ने घरों में होम आइसोलेशन में रहकर तख्ती लेकर आक्रोश जताया और सोशल मीडिया में अपनी फोटो साझा की।

दून समेत सभी जिलों में स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित नजर आई। दून के सीएमओ कार्यालय, दून अस्पताल, रायपुर, प्रेमनगर, मेहूंवाला, नेहरू ग्राम, कोरोनेशन, गांधी अस्पताल समेत अन्य अस्पतालों एवं फील्ड में डाक्टर एवं कर्मचारी होम आइसोलेशन में रहे। बुधवार को भी उनका बहिष्कार रहेगा। यहां पर टीकाकरण, सैंपलिंग, कोरोना सर्विलांस, होम आइसोलेशन किट वितरण, होम आइसोलेशन मॉनिटरिंग, रिपोर्टिंग प्रभावित हुई। एनएचएम संविदा कर्मचारी संगठन के प्रदेश अध्यक्ष सुनील भंडारी ने बताया कि कर्मचारी दो दिन के लिए होम आइसोलेशन में गये हैं। लॉयल्टी बोनस का आदेश किया, लेकिन उसमें भी धोखा कर दिया गया है। इसके अलावा अन्य मांगों पर कोई अमल करने को तैयार नहीं है। जिससे कर्मचारियों में आक्रोश है।

सीएमओ ने माना कार्य प्रभावित हो रहा
दून समेत कई जिलों के सीएमओ ने एनएचएम कर्मचारियों की मांगों को लेकर डीजी हेल्थ को चिट्ठी लिखी है। जिसमें सीएमओ ने माना है कि एनएचएम कर्मचारियों की वजह से टीकाकरण, सैंपलिंग, डाटा एंट्री, ओपीडी समेत अन्य कार्य प्रभावित हो रहे हैं। इनके मसले को जल्द से जल्द सुलझा लिया जाए।

ये हैं 9 सूत्रीय मांगें
-सामूहिक स्वास्थ्य बीमा/गोल्डन कार्ड सुविधा दी जाए।
- सेवा के दौरान मृत्यु पर कर्मी के परिवार को आर्थिक मदद व रोजगार।
- वर्ष 2018 से लंबित लॉयल्टी बोनस का भुगतान करें।
-कर्मियों की वेतन विसंगति दूर करें।
- विभागीय ढांचे में कर्मियों के लिए ‘‘एक्स कैडर’’ का गठन।
- सेवा नियमावली/एच.आर. पॉलिसी लागू करें।
- आउटसोर्स/ठेके पर नियुक्ति का फैसला रद्द करें।
- ढांचागत पदों की नियुक्ति में एनएचएम कर्मियों को प्राथमिकता।
- वार्षिक वेतन वृद्धि 5% से बढ़ाकर 10% की जाए।

संबंधित खबरें