ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडनवजात बच्ची को लगा दी 1 महीने पुरानी एक्सपायरी डेट की वैक्सीन, अस्पताल में जिंदगी-मौत के बीच जारी जंग

नवजात बच्ची को लगा दी 1 महीने पुरानी एक्सपायरी डेट की वैक्सीन, अस्पताल में जिंदगी-मौत के बीच जारी जंग

नवजात बच्ची को एक महीने पुरानी वैक्सीन लगाने का मामला सामने आया है। पीएचसी में प्रसव कराने वाली स्टाफ नर्स ने 16 नवंबर को बच्ची को वैक्सीन लगाई। इसके बाद से बच्ची की तबीयत बिगड़ने लगी।

नवजात बच्ची को लगा दी 1 महीने पुरानी एक्सपायरी डेट की वैक्सीन, अस्पताल में जिंदगी-मौत के बीच जारी जंग
Himanshu Kumar Lallअल्मोड़ा, हिन्दुस्तानTue, 21 Nov 2023 10:00 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड के पर्वतीय जिलों में स्वास्थ्य सुविधाओं का क्या हाल है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक नवजात बच्चे को एक्सपायरी डेट का वैक्सीन लगा दिया। नवजात को इंजेक्शन लगने के बाद वह अब मेडिकल कॉलेज में जिंदगी और मौत  के बीच जंग लड़ रहा है।

नवजात के  परिजनों ने गंभीर आरोप भी लगाए हैं। यह पूरा हैरान करने वाला मामला अल्मोड़ा जिले का है। ताकुला स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एक्सपायरी डेट की वैक्सीन लगाने से एक नवजात की हालत बिगड़ गई।

यह अबोध बच्ची अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के बेस अस्पताल के एनआईसीयू में जिंदगी की जंग लड़ रही है। नवजात के परिजनों ने इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग पर गंभीर आरोप लगाए हैं। ताकुला निवासी विरेंद्र सिंह ने बताया कि 15 नवंबर रात करीब साढ़े नौ बजे उनकी पत्नी विमला देवी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया था।

पीएचसी में प्रसव कराने वाली स्टाफ नर्स ने 16 नवंबर को बच्ची को वैक्सीन लगाई। इसके बाद से बच्ची की तबीयत बिगड़ने लगी। स्वस्थ बच्ची की हालत एकाएक बिगड़ने से परिजन घबरा गए। जांच में पता चला कि बच्ची को लगाई गई वैक्सीन की एक्सपायरी डेट एक महीने पहले की है।

बच्ची को आनन-फानन में अल्मोड़ा बेस अस्पताल लाया गया। यहां डॉक्टरों ने बच्ची की हालत देखते हुए उसे एनआईसीयू में भर्ती कर लिया। बीते तीन दिन से यह अबोध एनआईसीयू में जिंदगी की जंग लड़ रही है। उधर, पीएचसी की प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ.दीपिका का कहना है कि वह मामले में कुछ नहीं कह सकती हैं।

नवजात बच्ची में जन्म से ही कम वजन सहित अन्य दिक्कतें थीं। बच्ची को वैक्सीन ओवरडेट लगा है, लेकिन इससे नवजात के स्वास्थ्य पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ा है। उसका स्वास्थ्य अन्य कारणों से खराब हुआ था।
डॉ.दीपांकर डेनियल, एसीएमओ, अल्मोड़ा।