ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडनवरात्र 2023 पर खरीदी कार, सड़क पर आते ही चालान, पूरा मामला करेगा हैरान 

नवरात्र 2023 पर खरीदी कार, सड़क पर आते ही चालान, पूरा मामला करेगा हैरान 

नवरात्र-2023 पर ऑटोमोबाइल मार्केट में उछाल है, लोग नई गाड़ियां खरीद रहे हैं, लेकिन अति उत्साह में कुछ लोग नियम तोड़ते हुए नंबर प्लेट के बिना ही गाड़ियां सड़क पर उतार रहे हैं, जिनका पुलिस चालान कर रही।

नवरात्र 2023 पर खरीदी कार, सड़क पर आते ही चालान, पूरा मामला करेगा हैरान 
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तानSat, 21 Oct 2023 11:26 AM
ऐप पर पढ़ें

नवरात्र-2023 पर ऑटोमोबाइल मार्केट में उछाल है, लोग नई गाड़ियां खरीद रहे हैं, लेकिन अति उत्साह में कुछ लोग नियम तोड़ते हुए नंबर प्लेट के बिना ही गाड़ियां सड़क पर उतार रहे हैं, जिनका पुलिस चालान कर रही है। शहर की सड़कों पर रोजाना आठ से दस ऐसे वाहनों के चालान हो रहे हैं, जो शोरूम से बिना नंबर प्लेट निकल रहे हैं।

नये वाहनों को बगैर नंबर प्लेट सड़क पर उतारना नियम विरुद्ध है। मोटर व्हीकल ऐक्ट में ऐसे वाहनों पर 500 रुपये जुर्माने का प्रावधान है। परिवहन विभाग के साथ ही पुलिस भी कई बार लोगों को जागरूक कर चुकी है। तमाम वाहन डीलरों को दो महीने पहले बाकायदा नोटिस थमाए गए कि नंबर प्लेट लगने के बाद ही वाहन डिलीवर करें।

लेकिन, ऐसा हो नहीं रहा है। नवरात्र में ज्यादातर वाहन बिना नंबर प्लेट डिलीवर हो रहे हैं। कुछ वाहनों में नंबर प्लेट की जगह पर आगे और पीछे ‘अप्लाई फोर’ का पर्चा चस्पा किया जा रहा है, जबकि ऐसा कोई नियम नहीं है। ऐसे वाहनों के पुलिस रोज चालान कर रही है। सीपीयू इंस्पेक्टर नरेश भौर्याल ने बताया कि ऐसे आठ से दस वाहनों के चालान हो रहे हैं। 

पहले नंबर बुक करवाएं ज्यादातर डीलर वाहन खरीदने के तीन से चार दिन या एक सप्ताह के भीतर नंबर प्लेट देते हैं। लेकिन, यदि किसी को प्लेट जल्दी चाहिए तो वह वाहन खरीदने से पहले आरटीओ में नंबर बुक करवा सकते हैं। ऐसे में वाहन स्वामी चालान से बच सकते हैं। 

डीलर पर कार्रवाई संभव
सभी वाहन डीलरों को पहले ही नोटिस भेजे जा चुके हैं कि नंबर प्लेट के बिना वाहन डिलीवर ना करें। विभाग ऐसे वाहनों पर कार्रवाई करेगा। साथ ही, डीलर के ट्रेड प्रमाण-पत्र के खिलाफ भी कार्रवाई हो सकती है।
शैलेश तिवारी, आरटीओ (प्रवर्तन), देहरादून

इसलिए जरूरी है प्लेट
हर वाहन में नंबर प्लेट जरूरी है। बिना प्लेट यदि हादसा हो जाता है, क्लेम नहीं मिलता। इसके साथ ही, ऐसे वाहनों की पहचान भी मुश्किल होती है। रेड लाइट और ओवरस्पीड पर ऑनलाइन कैमरों से ऐसे वाहनों के चालान नहीं हो पाते। बिना प्लेट वाले वाहनों के जरिये अपराध की आशंकाएं भी बढ़ जाती हैं।\

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें