Muzaffarnagar train accident: Relatives worried of passengers at Haridwar station - ट्रेन हादसा : पिता ने फोन कर बताया बेटा– हमारी ट्रेन पलट गई है... DA Image
14 दिसंबर, 2019|4:14|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रेन हादसा : पिता ने फोन कर बताया बेटा– हमारी ट्रेन पलट गई है...

पुरी से हरिद्वार आ रही कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस (18478) के खतौली के पास दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर हड़कंप है। यहां हरिद्वार आ पहुंच रहे कई यात्रियों के परिजन परेशान हैं। स्टेशन के पूछताछ काउंटर पर भी भीड़ जुटने लगी है। हालांकि यात्रियों के बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं मिलने के कारण परिजन इधर-उधर भटकने को मजबूर हैं। 

हरिद्वार रेलवे स्टेशन के पूछताछ काउंटर पर भीड़ लगी है। हाथ में मोबाइल लेकर परेशान भटक रहे कबीर राठौर से जब पत्रकारों ने बातचीत की तो उन्होंने बताया कि उनके पिता महेश राठौर और रामा के साथ 50 लोगों का दल गंगा स्नान के लिए ग्वालियर मध्यप्रदेश से हरिद्वार आ रहा था। ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त होते ही उनके पिता ने फोन कर घटना की जानकारी दी। बताया कि उनकी ट्रेन रास्ते में दुर्घटनाग्रस्त हो गई है। वह सुरक्षित हैं, लेकिन ग्रुप के कुछ सदस्यों का कुछ पता नहीं चल पा रहा है। यहां इधर-उधर अपनों की तलाश की जा रही है। कबीर ने बताया कि इसके बाद से उनकी अपने पिता से बात नहीं हो पाई है। रेलवे स्टेशन पर भी उन्हें ठीक से जानकारी नहीं मिली। जब वह हरिद्वार स्टेशन पर पहुंचे तो यहां के अधिकारियों को घटना की जानकारी नहीं थी। बताया कि वह यात्रियों के दल का हरिद्वार में इंतजाम करने के लिए पहले आ गए थे।

23 बोगी की ट्रेन में सवार थे करीब आठ सौ यात्री

उधर, जीआरपी के एसपी रोशन लाल शर्मा का कहना है कि सूचना मिलने के बाद सभी जवानों को अलर्ट पर रखा गया है। रेलवे स्टेशन अधीक्षक का कहना है कि कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस 23 बोगी की बनकर ट्रेन हरिद्वार पहुंचती है। इसमें करीब सात सौ से आठ सौ यात्री सफर करते हैं। 14 बोगियां स्लीपर की रहती हैं। बाकी एसी और जनरल बोगियां लगी रहती हैं। यात्रियों के बारे में ज्यादा जानकारी जुटाई जा रही है। हरिद्वार आने वाले यात्रियों की लिस्ट निकाली गई है, जिसे चस्पा कर दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Muzaffarnagar train accident: Relatives worried of passengers at Haridwar station