DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मां-बेटे ने एक साथ लिया 9 वीं कक्षा में एडमिशन

पढ़ने और सीखने की कोई उम्र नहीं होती, इसके लिए जरूरत है तो सिर्फ जज्बे की। ऐसा ही जज्बा दिखाया त्यूणी की रेखा ने। उन्होंने शिक्षा विभाग के प्रवेशोत्सव कार्यक्रम से प्रेरित होकर राजकीय इंटर कॉलेज त्यूणी में एडमिशन ले लिया। खास बात यह है कि इसी स्कूल में उनका बेटा और बेटी भी पढ़ रहे हैं। अपने इस फैसले के चलते रेखा क्षेत्र में लोगों के लिए प्रेरणास्रोत बनी हुई हैं। क्षेत्र के सरनाड़ पानी गांव निवासी पैंतीस वर्षीय रेखा अपने पति धर्म सिंह के साथ मेहनत-मजदूरी कर अपने परिवार का भरण-पोषण करती हैं। इस बार अप्रैल में शैक्षिक सत्र शुरू होने पर शिक्षा विभाग ने प्रवेशोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया था। 

इस कार्यक्रम से प्रेरित होकर रेखा ने स्कूल जाने की ठान ली। उन्होंने अपने पति की अनुमति के बाद राजकीय इंटर कॉलेज, त्यूणी में कक्षा नौ में प्रवेश ले लिया। उनका बेटा संदीप उन्हीं के साथ कक्षा नौ में है जबकि, उनकी बेटी प्रीति भी इसी स्कूल में कक्षा दस की छात्रा है। बच्चों के साथ स्कूल आ रही रेखा खुशी और उत्साह से लबरेज हैं। रेखा ने बताया कि स्कूल में सारे शिक्षक और छात्र उसका पूर्ण सहयोग कर रहे हैं। स्कूल में अध्यापक नैन सिंह पंवार ने बताया कि रेखा ने गृह विज्ञान के स्थान पर गणित विषय में प्रवेश लिया है, और लगातार विद्यालय आकर शिक्षा ग्रहण कर रही हैं। खंड शिक्षा अधिकारी डॉ. शूलचंद ने भी रेखा की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि रेखा जैसी महिलाएं ग्रामीण और पिछड़ी महिलाओं के लिए प्रेरणास्रोत है। उन्होंने रेखा को बधाई भी दी। 


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:mother and son secures admission in ninth class in government school in tyuni in dehradun