ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडहल्द्वानी हिंसा में हमले के बाद भीड़ को उकसाया, मोकिन सैफी ने सिपाही को पानी पिलाकर बनाया हमदर्दी वाला वीडियो

हल्द्वानी हिंसा में हमले के बाद भीड़ को उकसाया, मोकिन सैफी ने सिपाही को पानी पिलाकर बनाया हमदर्दी वाला वीडियो

हद्वानी के वनभूलपुरा के उपद्रव के दिन ही मोकिन सैफी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वीडियो में मोकिन हिंसाग्रस्त इलाके में फंसे एक सिपाही को पानी पिलाते और उसकी चोट पोंछते दिखाई दे रहा है।

हल्द्वानी हिंसा में हमले के बाद भीड़ को उकसाया, मोकिन सैफी ने सिपाही को पानी पिलाकर बनाया हमदर्दी वाला वीडियो
Himanshu Kumar Lallहल्द्वानी, हिन्दुस्तानTue, 20 Feb 2024 01:30 PM
ऐप पर पढ़ें

हल्द्वानी हिंसा के दौरान वनभूलपुरा में पेट्रोल बम के इस्तेमाल से लेकर पत्थरबाजी की घटना के बाद पुलिस-प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है। हल्द्वानी के वनभूलपुरा की हिंसा के नौ वांटेड घोषित एक आरोपी मोकिन सैफी का बच निकलने का मंसूबा कामयाब होता दिखाई नहीं दे रहा है।

भीड़ को हिंसा के लिए उकसाने के मोकिन के तमाम वीडियो फुटेज पुलिस के हाथ लगे हैं। वहीं दूसरी तरफ खुद को आरोपों से बचाने के लिए सुनियोजित तरीके से उसने एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल करा दी। फिलहाल मोकिन जेल में है लेकिन पुलिस उसके खिलाफ और सबूत जुटाने में लगी है।

बीती आठ फरवरी को हद्वानी के वनभूलपुरा के उपद्रव के दिन ही मोकिन सैफी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वीडियो में मोकिन हिंसाग्रस्त इलाके में फंसे एक सिपाही को पानी पिलाते और उसकी चोट पोंछते दिखाई दे रहा है। वहीं जब वांटेड घोषित होने के बाद कोर्ट से कुर्की की कार्रवाई का आदेश हुआ, उससे पहले ही मोकिन पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

यह भी पढ़ें:हिंसा मामले में हल्द्वानी के पेट्रोल पंपों पर रडार, वनभूलपुरा में जमकर चले थे ‘बोतल बम’

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, उसकी गिरफ्तारी से पहले ही कई ऐसे वीडियो फुटेज पुलिस के हाथ लग गए थे, जिनमें मोकिन हिंसा के दौरान भीड़ में आगे बढ़कर पथराव करते और लोगों को भड़काते हुए दिखाई दे रहा है। जब पुलिस ने छानबीन की तो कई जगहों पर सीसीटीवी फुटेज में भी वह लोगों को भड़काते दिखाई दिया।

पुलिस सूत्रों की मानें तो खुद को उपद्रव में नामजद होने और आरोपियों की सूची से बचाने को मोकिन ने हिंसा में घायल एक सिपाही को घर के अंदर करके उसे पानी पिलाया और उसकी चोट पोंछते हुए वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। लेकिन उपद्रव के बाद वह फरार हो गया था। पुख्ता सबूत पुलिस के हाथ लगे तो जांच टीम ने और भी साक्ष्य जुटाने शुरू कर दिए।

हिंसा में शामिल दंगाइयों को पकड़ने के लिए कई टीमें 
हल्द्वानी हिंसा में शमिल दंगाइयों को पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमें काम कर रहीं हैं। पुलिस की टीमें सर्विलांस के साथ ही अपने सोर्स की मदद से आरोपियों को पकड़ रही है। आरोपियों को पकड़ने के लिए सीसीटीवी फुटेज सहित मोबाइल वीडियो भी देखे जा रहे हैं।  

हल्द्वानी हिंसा का मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक- बेटा अब्दुल मोईद फरार
हल्द्वानी हिंसा में शामिल फरार आरोपियों को पुलिस ने पकड़कर जेल भेज दिया है। लेकिन, हिंसा का मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक और उसका बेटा अब्दुल मोईद घटना के बाद से फरार हैं। यूपी, दिल्ली, हरियाणा से लेकर महाराष्ट्र तक पुलिस की कई टीमें फरार मलिक की गिरफ्तार को दबिश दे रही है। 

हिंसा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई 
हिंसा भड़काने वाला चाहें कोई भी हो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। जो निर्दोष हैं, उन्हें डरने की जरूरत नहीं है। नैनीताल एसएसपी, पीएन मीणा ने कहा कि हर आरोपी के खिलाफ पुख्ता सबूत टीमें जुटा रही हैं। बिना सत्यता की जानकारी के सूचनाओं का प्रचार-प्रसार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें