DA Image
1 जनवरी, 2021|10:00|IST

अगली स्टोरी

प्रदेश में सुधरा लिंगानुपात, टॉप 10 राज्यों में उत्तराखंड भी शामिल,पढ़ें जिलों का हाल  

sex ration

साल के अंतिम दिन राज्य में जन्म के समय लिंगानुपात सुधरने की अच्छी खबर आई है। राज्य में अब प्रति एक हजार लड़कों पर लड़कियों की संख्या गत वर्ष 936 के मुकाबले 949 तक पहुंच गई है। उत्तराखंड देश के टॉप दस राज्यों में शामिल हो गया है, साथ ही देश के टॉप 30 जिलों में पांच जिले उत्तराखंड के हैं।महिला कल्याण बाल विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्य ने केंद्र सरकार की ओर से उपलब्ध कराए आंकड़े सार्वजनिक किए। उन्होंने बताया कि 2014-15 में राज्य में जन्म के समय लड़कियों का लिंगानुपात प्रति एक हजार लड़कों पर 903 था।

2017 में यह अनुपात सुधर कर 922 तक पहुचं गया था। इसके बाद सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत सघन जनजागरुकता अभियान चलाया। खुद उन्होंने देहरादून से हरिद्वार तक साइकिल के जरिए जन जागरण यात्रा निकाली। इसका परिणाम लिंगानुपात सुधार के रूप में सामने आया है। उन्होंने बताया कि उत्तराखंड देश भर में नौंवे स्थान पर आ गया है। जबकि देश के टॉप 30 जिलों में उत्तराखंड  के पांच जिले शामिल हुए हैं। 

जिलों की रैंकिंग: बागेश्वर- 06, अल्मोड़ा- 13, चम्पावत -22, देहरादून -24, उत्तरकाशी-25 वां स्थान

उत्तराखंड राज्य महिलाओं के आंदोलन के दम पर बना है, महिलाएं आज भी राज्य की सामाजिक, आर्थिकी की धुरी हैं। सरकार इसी लिए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत कई कार्यक्रम संचालित कर रही है। इसके सकारात्मक परिणाम नजर आने लगे हैं।
रेखा आर्य, महिला कल्याण बाल विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) 
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:minister of state for women empowerment child development rekha arya says sex ratio approves in uttarakhand