DA Image
2 जुलाई, 2020|11:28|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन में लौटी पहाड़ की जवानी, जून मध्य तक तीन लाख प्रवासियों की वापसी की संभावना 

कोरोना के चलते लागू लॉकडाउन ने पहाड़ को उसकी जवानी लौटा दी है। रोजगार की तलाश में सालों पहले पलायन कर गए लाखों युवा लौट आए हैं। तीन मई से शुरू यह सिलसिला अब तक जारी है।

प्रवासी रोडवेज बसों, स्पेशल ट्रेनों के अलावा टैक्सी और निजी वाहनों से पहाड़ लौट रहे हैं। उनकी वापसी ने पहाड़ को गुलजार करने के साथ अकेलेपन से जूझ रहे बूढ़े मां-बाप के कलेजे को ठंडक दी है। 

वहीं, सरकार ने उन्हें राशन और रोजगार के मौके भी खोले हैं। यही नहीं लौटे अधिकांश युवा खेती, स्वरोजगार और स्थानीय उद्योगों में काम मिलने पर पहाड़ छोड़ने के इच्छुक नहीं है, जो  कोरोनाकाल में पहाड़ के गांव-कस्बे बल्कि पूरे राज्य की उन्नति के लिए सुखद संकेत है।

 

कहां बन रहे रोजगार के मौके सरकार से : सीएम स्वरोजगार योजना के तहत मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में 25 लाख तक कर्ज, सर्विस सेक्टर में दस लाख के अलावा अधिकतम सवा छह लाख तक की सब्सिडी है। 
 

स्वरोजगार से : पशुपालन, बकरीपालन, मछली पालन, खुद की दुकान, डेयरी, मिल्क बूथ के लिए सरकारी मदद।


कृषि-बागबानी से : जैविक, औषधीय खेती व फल-सब्जियों के उत्पादन प्रोत्साहन की कार्ययोजना पर काम शुरू।

 

ऐसे करने होंगे प्रयास
उत्तराखंड सरकार ने लौटे प्रवासियों को रोजगार देने और कौशल विकास प्रशिक्षण के लिए पंजीकरण शुरू कर दिया है। इसके तहत  hope.uk.gov.in पोर्टल लांच कर दिया गया है।

यहां प्रवासी अपनी पंजीकरण करवा सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए टोलफ्री नंबर 1905 पर फोन करने के साथ  मेल skilleduttarakhnad@gmail.com पर सवाल पूछे जा सकते है।

इसके अलावा संबंधित सेवायोजन कार्यालयों के हेल्पलाइन नंबरों का भी विकल्प है। प्रवासियों को लेकर सरकार गंभीर प्रयास कर रही है। 

 

जानिए से भी 

  • 2.90 लाख अपनों के घर वापसी की उम्मीद
  • गढ़वाल : 59735 प्रवासी लौटे। 149249 की वापसी संभावित। 
  • कुमाऊं : 56480 प्रवासी लौटे। 141203 की वापसी संभावित। 
  • आत्मनिर्भर योजना में मई-जून के लिए राशन आवंटित 

गढ़वाल के लिए 1492 टन चावल। कुमाऊं के लिए 1412 टन चावल 
इससे प्रत्येक प्रवासी को हर माह पांच किलोग्राम चावल दिया जाएगा।

 

कहां कितने लौटे प्रवासी
जिला     18 मई तक लौटे      15 जून तक संभावित

अल्मोड़ा    34530        86325    
पौड़ी    23540        58850
टिहरी    12645        31613
देहरादून     9853        24633
नैनीताल    8491        21228
यूएसनगर    5998        14996
चमोली    4912        12281
रुद्रप्रयाग    3941        9852
पिथौरागढ़    2840        7101
हरिद्वार    2523        6218
बागेश्वर     2364        5910
उत्तरकाशी    2321        5802
चम्पावत    2257        5643

 

राज्य सरकार की योजना के तहत होप पोर्टल में पंजीकरण प्रक्रिया जारी है। साथ ही विभिन्न विभागों से संपर्क कर प्रशिक्षण को लेकर जानकारी जुटाई जा रही है।
सभी तरह की जानकारियां एकत्र हो जाने के बाद आवेदकों को सूचित किया जाएगा। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत भी लाभ दिया जाएगा।
 एनएस दरम्वाल, जिला सेवायोजन अधिकारी
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:migrants in large number returned back to uttarakhand amid lockdown due to corona virus pandemic in uttarakhand