DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मातृसदन ने डीएम समेत पांच पर दर्ज कराया मुकदमा ! जानिए क्या है कारण ?

मातृसदन आश्रम के परमाध्यक्ष शिवानंद सरस्वती ने कहा कि आश्रम में धारा 144 लगाने पर मातृसदन ने जिलाधिकारी दीपक रावत, सिटी मजिस्ट्रेट मनीष सिंह, तत्कालीन अपर सिटी मजिस्ट्रेट संगीता कन्नौजिया, सीओ कनखल स्वप्न किशोर सिंह और तहसीलदार हरिद्वार सुनैना राणा पर जिला न्यायालय के आदेशों की अवमानना का मुकदमा दर्ज कराया। शिवानंद ने कहा कि बीते जनवरी माह में जिला न्यायालय ने मातृसदन में धारा 144 लगाने पर रोक लगाई थी। कहा कि इसके बावजूद भी प्रशासन ने कोर्ट के आदेश की अवेहलना करते हुए आश्रम में धारा 144 लगाई। मातृसदन आश्रम में परमाध्यक्ष शिवानंद सरस्वती ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि प्रशासन मातृसदन में तप करने वाले जिस भी संत को उठाकर ले गया, उसकी मौत हो गई। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी शीतकालीन सत्र के दौरान सदन में गंगा ऐक्ट सदन के पटल पर रखेंगे। पर इस बिल के माध्यम से सरकार दिवंगत ज्ञानस्वरूप का अपमान कर रही है। कहा कि गंगा की अविरलता के लिए प्राणों की आहूति देने वाले सानंद ने सरकार से संशोधित गंगा ऐक्ट लागू करने की मांग की थी। शिवानंद ने कहा कि एम्स दिल्ली में गोपालदास को प्रताड़ित कर अनशन समाप्त करने का प्रयास किया जा रहा है। कहा बीते जनवरी माह में जिला जज ने एडीएम के धारा 144 के नोटिस पर स्टे लगाया था। आरोप लगाया कि इसके बाद भी प्रशासन और पुलिस कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करती रही।  उन्होंने कहा कि मातृसदन की ओर से आश्रम में धारा 144 लगाने पर चार प्रशासनिक और एक पुलिस अधिकारी के खिलाफ जिला न्यायालय में कोर्ट के आदेशों की अवहेलना का मुकदमा दर्ज कराया गया है। आत्मबोधानंद के स्वास्थ्य परीक्ष्यण के लिए मातृसदन पहुंची टीम: हरिद्वार। शुक्रवार को मातृसदन आश्रम में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद का स्वास्थ्य परीक्षण किया। जांच के दौरान टीम ने उनका स्वास्थ्य सामान्य पाया। हालांकि बीते 18 दिनों से अनशनरत होने के बाद भी चिकित्सकों ने उनको फाइबर और प्रोटीन युक्त डाइट लेने की सलाह दी। आत्मबोधानंद गंगा को अविरल बनाने के लिए संशोधित गंगा ऐक्ट लागू करने की मांग को लेकर अनशन कर रहे हैं। शुक्रवार को  जिला अस्पताल के नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. चंदन मिश्रा की अगुवाई में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आत्मबोधानंद के स्वास्थ्य की जांच की। जांच के दौरान उनका पल्स रेट 88, डाइस्टोलिक ब्लड प्रेशर 110 और सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर 90 पाया गया। जांच में  मामूली कमजोरी के साथ उनका वजन 58 किलोग्राम मापा गया। चिकित्सकों के अनुसार आत्मबोधानंद ने खून का सैंपल देने से इनकार कर दिया।   

 
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:matrasadan registers case against haridwar district magistrate including five persons