DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डूबती पत्नी को बचाने के लिए पति ने नदी में लगाई छलांग, जानिए फिर क्या हुआ

भागीरथी नदी में डूबती पत्नी को बचाने के लिए पति ने नदी में छलांग लगा दी। जिसके बाद दोनों नदी की तेज धारा में बह गए। पुलिस ने दीपा का शव व्यास घाट के पास से बरामद किया। जबकि राहुल की तलाश जारी है।   थानाध्यक्ष विनोद राणा ने बताया कि गुरुवार सुबह मेरठ से दो बाइकों पर एक दम्पति जोड़ा अपने दो मित्रों के साथ देवप्रयाग पहुंचा। जिसमें  कोटद्वार मूल (पौड़ी गढ़वाल) के राहुल (40) व दीपा (30) पत्नी राहुल हाल निवासी भोलारोड कृष्ण विहार निकट कलावती पब्लिक स्कूल परतापुर मेरठ स्नान के लिए पुराने पुल के समीप भागीरथी तट पर उतरे। जबकि उनके साथी ललित पुत्र राम किशन व अमित पुत्र हरिकृष्ण निवासी घाट पांचली थाना परतापुर मेरठ देवप्रयाग बस स्टेशन पर फ्रेस होने के लिए रुक गए।

दोनों लोग करीब 15 मिनट के बाद 250 मीटर आगे पुराने लाल पुल के पास पहुंचे। जहां उन्होंने दीपा को भागीरथी नदी में फिसलते देखा। अपनी पत्नी को बचाने के लिए राहुल को नदी में कूदते भी देखा। सुबह करीब आठ बजे हुई इस घटना की सूचना दोनों लोगों ने थाना देवप्रयाग को दी। दोनों लोगों ने पुलिस को बताया कि दम्पति अपने दो बच्चों बेटा अथर्व और बेटी अनन्या को लेकर बुधवार दोपहर को मेरठ से ऋषिकेश के लिए चले थे, इसी बीच उनकी देवप्रयाग घूमने की बात हुई। दम्पति द्वारा अपने दो बच्चों को बीते रात हरिद्वार में किसी संबंधी के यहां छोड़ दिया गया और वह ऋषिकेश आ गए। जिसके बाद चारों लोग गुरुवार सुबह देवप्रयाग के लिए निकले। घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने बिना नंबर की नई बाईक सहित नदी के किनारे पड़े पर्स, आधार कार्ड, एटीएम आदि को अपने कब्जे में ले लिया। बताया कि दम्पति को नगरवासियों द्वारा भागीरथी की तेज धारा में बहते देखा गया।  पुलिस टीम ने तत्काल दम्पति की तलाश में रेस्क्यू अभियान शुरू किया। दोपहर करीब डेढ़ बजे देवप्रयाग से 18 किमी. आगे व्यास घाट के निकट से पुलिस ने दीपा का शव बरमद किया। बताया शव का पंचनामा कर पीएम के लिए भेजा दिया। पुलिस राहुल की तलाश में जुटी हुई है। रेस्क्यू टीम में एसआई हाकम सिंह तोमम, सुधांशु कौशिक,शाहिदा परवीन शामिल है। 

 

कोटद्वार के ग्वाड गांव के मूल निवासी थे दम्पति
देवप्रयाग। भागीरथी नदी में बहे दंपति कोटद्वार के समीप ग्वाड गांव मूल निवासी है। राहुल बलूनी के पिता रमेश चंद्र बलूनी वर्षों पहले मेरठ चले गए थे। तीन बेटियों में राहुल उनका इकलौता पुत्र था। अपनी पत्नी दीपा के साथ वह मेरठ में मैरिज ब्यूरो का काम करते थे। उसके पिता परतापुर मेरठ में एक स्कूल चलाते हैं। राहुल की मां सरोजनी देवी को कुछ दिन पूर्व हार्टअटैक पड़ने के कारण दिल्ली एम्स में उनका उपचार चल रहा है। राहुल ने देवप्रयाग आते समय अपने दोनों बच्चों को हरिद्वार में अपनी बहन के पास छोड़ दिया था। 

 

केंद्रीय जल आयोग नापता है नदी का जल स्तर 
भागीरथी नदी तट पर जिस स्थान से दम्पति की बहने की घटना हुई। वहां पर केंद्रीय जल आयोग द्वारा नदी का जल स्तर नापा जाता है। इस स्थान का उपयोग स्नान के लिए नहीं किया जाता है। अनजाने में दम्पति वहां नहाने के लिए उतर गए, और नदी में बह गए। 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:man jumps into river bhagirathi to save drowning wife in devprayag in uttarakhand