DA Image
23 मई, 2020|9:36|IST

अगली स्टोरी

शराब की दुकानें सोमवार से अनिश्चितकाल के लिए बंद, शराब पर कोविड टैक्स हटाने सहित अन्य मांगें लंबित 

प्रदेश भर में अंग्रेजी शराब की दुकाने सोमवार से अनिश्चितकाल के लिए बंद हो जाएगी। ठेकेदारों ने शनिवार को आबकारी अधिकारियों से वार्ता के बाद बंदी वापिस लेने से इनकार कर दिया।

प्रदेशभर की दुकानों में बंदी की सूचना के पोस्टर लगा दिए गए हैं। ठेकेदारों कहना है कि लॉकडाउन के चलते शराब कारोबार बुरी तरह प्रभावित हुआ है। ऐसे में पिछले साल से करीब 40 प्रतिशत ज्यादा कोटा बेचने की बाध्यता ठेकेदार पूरी नहीं कर सकते।

कारोबारी रामकुमार जायसवाल ने बताता की संयुक्त आयुक्त से वार्ता में शनिवार को मांगों का कोई हल नहीं निकला। ऐसे में अब बंदी की के सिवा कोई विकल्प नहीं।
पिछले साल जो कोटा मुश्किल से बिका इस बार सरकार ने उसको 40 प्रतिशत बढ़ा दिया। लॉक डाउन और दुकान बंदी के चलते पहले ही भारी नुकसान हो गया।

 

ये भी हैं मांगे

  • कोविड टैक्स हटाया जाए
  • मार्च या उस से पहले का जो स्टॉक ना उठा हो उसका रिफंड मिले
  • नवीनीकरण दुकानों में अवशेष स्टॉक अधिभार का रिफंड मिले
  • शराब और बियर पर लाभ 25 प्रतिशत कर दिया जाए 
  • लॉकडाउन में नवीनीकरण फीस और लाइसेंस फीस माफ की जाए 
  • शराब कारोबारियों पर दर्ज मुकदमे वापिस हों
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:liquor shops owners to start indefinite strike from monday may 25 owwards in support of pending demands amid lockdown 4 due to corona pandemic in uttarakhand