DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Lok Sabha Election 2019 : बेहड़ जी! मैंने ही कांग्रेस में शरण दिलाई थी: इंदिरा

राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत के साथ विवाद अभी शांत भी न हुए थे कि नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश की अब पूर्व मंत्री तिलकराज बेहड़ के साथ ठन गई। बीते रोज बेहड़ ने इंदिरा पर इशारों इशारों में ही तीखे प्रहार किए थे, अब इंदिरा ने बेहड़ पर जोरदार पलटवार कर दिया। परिवर्तन रैली की तैयारियों के लिए शुक्रवार को राजीव भवन पहुंची इंदिरा ने बेहड़ की नाराजगी पर मीडिया के साथ बातचीत की। मीडिया ने जब इस बाबत पूछा तो इंदिरा ने कहा कि बेहड़ को पुराने दिन नहीं भूलने चाहिए। उन्हें याद रखना चाहिए कि जब भाजपा ने उन्हें निकाल दिया था, तब मैंने ने ही कांग्रेस में शरण दिलाई थी। बताओ बेहड़ जी, क्या यह गलत है? इंदिरा ने काफी तल्ख लहजे में कहा कि यह वक्त मतभेदों का नहीं है। यह वक्त चुनाव का है और सभी को एकजुट होकर कांग्रेस की ताकत बनने का काम करना होगा। उन्होंने कहा कि अगर पार्टी के नेता इसी प्रकार मनमुटावों में फंसे रहे तो फिर भला राहुल गांधी जी को प्रधानमंत्री बनाने का ख्वाब कैसे पूरा हो सकेगा ?

 

इसलिए नाराज हैं तिलक राज बेहड़
बेहड़ प्रदेश कांग्रेस संगठन में इंदिरा के बढ़ते प्रभाव से परेशान हैं। बीते रोज मीडिया से बातचीत में उन्होंने अपनी पीड़ा खुलकर जाहिर की। बकौल बेहड़, तराई की राजनीति में हल्द्वानी का कुछ ज्यादा ही दखल है। सीनियर नेताओं को बाईपास किया जा रहा है। प्रदेश नेतृत्व से कुछ पूछा जाता है तो जवाब मिलता है कि हल्द्वानी बात कर लें। हल्द्वानी से बेहड़ का मतलब इंदिरा से था। पिछले दो विस चुनाव हार चुके बेहड़ इस बार नैनीताल लोकसभा सीट  से टिकट के दावेदार हैं।

 

 


 
 


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:leader of opposition indira hridayesh leaves no chance to corner former cabinet minister tilak raj behard in uttarakhand