DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरिद्वार-रुड़की रेल स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी,लश्कर-ए-तैयबा कमांडर के नाम से भेजा पत्र, पुलिस की नहीं टूटी नींद

1 / 2हरिद्वार रेलवे स्टेशन को मंगलवार को बम से उड़ाने की धमकी मिलने के बावजूद सुरक्षा कर्मी प्लेटफॉर्म में तैनात नहीं मिले।

2 / 2हरिद्वार रेलवे स्टेशन को मंगलवार को बम से उड़ाने की धमकी मिलने के बावजूद निकासी द्वार पर सुरक्षा कर्मी मुस्तैद नहीं मिले।

PreviousNext

लश्कर-ए-तैयबा के कथित आतंकी कमांडर मौलवी अमानी सलीम के नाम से भेजे गए पत्र में हरिद्वार समेत 12 स्टेशनों को 20 अक्तूबर को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। धमकी भरा पत्र मिलने के बाद हरिद्वार की इंटेलीजेंस एजेंसी, जीआरपी, आरपीएफ में हड़कंप मच गया है। पत्र में 10 नवंबर को हरकी पैड़ी समेत तमाम धार्मिक स्थलों को भी बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। पांच अक्तूबर को रेलवे स्टेशन हरिद्वार के स्टेशन अधीक्षक के नाम पर एक पत्र हरिद्वार स्टेशन पहुंचा। धमकी भरे पत्र को मंगलवार सुबह स्टेशन अधीक्षक महावीर सिंह ने खोला। पत्र आतंकी मौलवी अमानी सलीम के नाम से भेजा गया है। पत्र में लिखा है कि आतंकी 20 अक्तूबर को हरिद्वार, देहरादून, रुड़की, लक्सर, रामपुर, मुरादाबाद, बरेली, काठगोदाम, सहारनपुर, अलीगढ़, मेरठ, मुजफ्फरनगर सहित उत्तराखंड के रेलवे स्टेशनों में बम धमाके करेंगे।  यह भी लिखा है कि दस नवंबर को आतंकी हरिद्वार में हरकी पैड़ी, ऋषिकेश के लक्ष्मण झूला और चार धाम मार्ग समेत कई धार्मिक स्थलों पर धमाके करेंगे। साथ ही उत्तराखंड के मुख्यमंत्री को लेकर भी टिप्पणी की गई है। धमकी भरा पत्र मिलने के बाद हरिद्वार में रेलवे स्टेशन समेत आसपास के इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। साथ ही जिन स्टेशनों को धमकी मिली है वहां के स्टेशनों को हरिद्वार से जानकारी दे दी गई है। पत्र मिलने के बाद इंटेलीजेंस, जीआरपी, आरपीएफ समेत अन्य पुलिस अलर्ट हो गई है। उधर, एसपी जीआरपी रोशनलाल शर्मा ने बताया कि पत्र मिलने के बाद सुरक्षा बढ़ा दी गई है। ऐसे पत्र पूर्व में भी मिल चुके हैं। जांच शुरू कर दी गई है। अन्य स्टेशनों को भी पत्र मिलने की जानकारी दे दी गई है। 

स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी के बाद सुरक्षा बढ़ाई 
हरिद्वार के रेलवे स्टेशन अधीक्षक को भेजे गए पत्र में रुड़की सहित कई  स्टेशनों को उड़ाने की धमकी के बाद पुलिस सतर्क हो गयी है। पुलिस का कहना है कि ऐहतियातन सुरक्षा बढ़ा दी गई है। आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के नाम से 5 अक्तूबर को रुड़की रेलवे स्टेशन के अधीक्षक को धमकी भरा पत्र भेजा गया है। पत्र में रुड़की, हरिद्वार सहित उत्तराखंड के कई अन्य रेलवे स्टेशनों सहित यूपी के स्टेशनों को बम से उड़ाने की धमकी दी गई। आतंकी संगठन के नाम पर पहले भी हरिद्वार के एसएस को धमकी भरे पत्र भेजे जाते रहे हैं। पत्र में तीस अक्तूबर को स्टेशनों को उड़ाने की धमकी दी गई। इसके बाद पुलिस सतर्क हो गयी है।  रुड़की रेलवे स्टेशन से प्रतिदिन करीब 43 जोड़ी ट्रेनें जाती है। एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि ऐहतियातन रेलवे स्टेशन, बस अड्डे और अन्य सार्वजनिक जगहों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।  रेलवे स्टेशन पर जीआरपी, आरपीएफ के साथ ही स्थानीय पुलिस को नजर रखने को कहा गया है। बताया कि हरिद्वार के एसएस के नाम पहले भी धमकी भरे पत्र आ चुके हैं। 

पत्र मिलने के बाद नहीं सुरक्षा के इंतजाम  
हरिद्वार रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी भरा पत्र मिलने के बाद भी स्टेशन पर सुरक्षा के कोई खास इंतेजाम नहीं दिखाई दिए। स्टेशन पर जीआरपी और आरपीएफ के जवान कुछ स्थानों को छोड़कर अन्य जगहों पर नजर नहीं आए। ऐसे में रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा व्यवस्था रामभरोसे नजर आई। 

हिन्दुस्तान ने रेलवे स्टेशन के आसपास की पड़ताल 

  • शाम 06 बजे प्लेटफार्म के मुख्यद्वार पर सुरक्षा के लिहाज से तैनात नहीं दिखाई दिए पुलिसकर्मी। 
  • शाम 06:05 बजे दूसरे द्वार पर भी मौजूद नहीं मिले सुरक्षाकर्मी। 
  • शाम 06:08 पार्किंग के आसपास खड़े दर्जनोंभर चौपहिया वाहन आसपास यात्रियों की भारी भीड़ और संदिग्ध घूमते हुए लोग।  
  • शाम 06:15 बजे एक नंबर प्लेटफार्म पर यात्रियों से पूछताछ करते जीआरपी के जवान। 
  • शाम 06:18 बजे नंबर एक प्लेटफार्म पर स्केलेटर से आगे खड़ी ट्रेन के आसपास सुरक्षाकर्मी नहीं दिखे। स्केलेटर के आसपास बैठे कुछ भिखारी और संदिग्ध। 
  • शाम 06:22 बजे दो, तीन, चार नंबर प्लेटाफार्मो पर भी नहीं कोई सुरक्षाकर्मी मुस्तैद। 
  • शाम 06:25 बजे टिकट घर के आसपास भी नहीं दिखे सुरक्षाकर्मी।    
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lashkar-e-Taiba letter threatening bomb blast in haridwar roorkee railway station