DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › भारी बरसात के बाद मसूरी कैंपटी फॉल का बढ़ा जलस्तर, पुलिस की सख्ती के बाद पर्यटकों की No Entry 
उत्तराखंड

भारी बरसात के बाद मसूरी कैंपटी फॉल का बढ़ा जलस्तर, पुलिस की सख्ती के बाद पर्यटकों की No Entry 

हिन्दुस्तान टीम, देहरादूनPublished By: Himanshu Kumar Lall
Sat, 04 Sep 2021 04:57 PM
भारी बरसात के बाद मसूरी कैंपटी फॉल का बढ़ा जलस्तर, पुलिस की सख्ती के बाद पर्यटकों की No Entry 

उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश आफत बनी हुई है। मसूरी सहित आसपास के क्षेत्रों में लगातार हो रही भारी बारिश के चलते पर्यटक स्थल कैंपटी फॉल में जल स्तर बढ़ने के बाद पुलिस प्रशासन द्वारा पर्यटकों सहित स्थानीय निवासियों को फॉल में जाने से रोक दिया है। इस बारे में जानकारी देते हुए कैंपटी फॉल थाना अध्यक्ष नवीन चंद्र ने बताया कि लगातार हो रही बारिश के चलते कैंपटी फॉल ने विकराल रूप ले लिया है।  पर्यटकों को सुरक्षा के चलते फॉल में जाने से रोक दिया गया है ।

उन्होंने बताया कि बारिश के साथ पत्थर व लकड़ी के टुकड़े फॉल में आ रहे हैं जिससे फिलहाल पर्यटकों को फॉल में नहाने की अनुमति नहीं दी जा रही है। बताया कि बारिश के चलते आसपास की दुकानों को खाली करा दिया गया है। फॉल में जाने वाले रास्तों पर भी पुलिस फोर्स तैनात किया गया है ताकि कोई भी पर्यटक फॉल में न जा सके। 

दून में कोरोना मरीज धीरे-धीरे बढ़ने पर वीक एंड पर फिर सख्ती शुरू हो गई है। शनिवार और रविवार को मसूरी जाने वाले पर्यटकों की चेकिंग की जाएगी। 72 घंटे की कोरोना जांच रिपोर्ट, मसूरी में होटल की बुकिंग दिखा पाने वालों को ही मसूरी जाने दिया जाएगा।  हाल में दून में कोरोना मरीज बढ़े हैं। ऐसे में जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार ने पुलिस को पत्र लिखा है।

वीकएंड पर मसूरी जाने वाले लोगों की जांच करने और बॉर्डर चेकपोस्ट पर सख्ती बरतने का निर्देश दिया गया है। साथ ही भीड़ वाले एरिया में सोशल डिस्टेंस तोड़ने और मास्क नहीं पहनने वालों के खिलाफ कार्रवाई को कहा गया है। एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि मसूरी जाने वालों की कुठालगेट और किमाड़ी मार्ग पर चेकिंग की जाएगी।

इसके लिए शनिवार और रविवार को बैरियर लगाए जाएंगे। वहीं आशारोड़ी समेत अन्य बॉर्डर पर भी सख्ती बढ़ा दी गई है। बाहरी राज्यों के वाहनों की सघन चेकिंग की जा रही है। बिना जांच कराए आने वालों को बॉर्डर पर एंटीजन जांच कराने पर ही प्रवेश दिया जा रहा है।  

संबंधित खबरें