ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडकेदारनाथ धाम में फिर हुई हेलीकॉप्टर इमरजेंसी लैंडिंग, दर्शन को जाने के लिए 6 यात्री थे सवार

केदारनाथ धाम में फिर हुई हेलीकॉप्टर इमरजेंसी लैंडिंग, दर्शन को जाने के लिए 6 यात्री थे सवार

हेलीकॉप्टर में पायलट सहित छह यात्री सवार थे। बताया जा रहा है कि  हेलीकॉप्टर में तकनीक खराबी आने से यह दिक्कत हुई। पायलट की सूझबूझ से बड़ी दुर्घटना होने से बची। राहत की बता रही कि किसी की जान नहीं गई।

केदारनाथ धाम में फिर हुई हेलीकॉप्टर इमरजेंसी लैंडिंग, दर्शन को जाने के लिए 6 यात्री थे सवार
Himanshu Kumar Lallरुद्रपुर, हिन्दुस्तानFri, 24 May 2024 09:58 AM
ऐप पर पढ़ें

केदारनाथ धाम में एक बार फिर हेलीकॉप्टर हादसा हादास हुआ है। धाम को दर्शन को जा रहे हेलीकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई है। हादसे के वक्त दर्शन को जाने के लिए 6 यात्री सवार थे। हेलीकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग शुक्रवार सुबह 7 बजे हुई है।

केदारनाथ धाम में क्रिस्टल एविएशन के हेलीकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग हुई है। दुर्घटना होने से बचने के लिए पायलट ने हेलीकॉप्टर की  केदारनाथ हेलीपैड से 100 मीटर पहले ही इमरजेंसी लैंडिंग कराई।  हेलीकॉप्टर शेरसी हेलीपैड से केदारनाथ धाम के लिए उड़ा था।

हेलीकॉप्टर में पायलट सहित छह यात्री सवार थे। बताया जा रहा है कि  हेलीकॉप्टर में तकनीक खराबी आने से यह दिक्कत हुई। पायलट की सूझबूझ से बड़ी दुर्घटना होने से बची। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने बताया कि सुबह 7 बजे करीब हेलीकॉप्टर में तकनीकी खराबी आई थी।

जिसकी वजह से हेलीकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग हुई है। सभी यात्री सुरक्षित बच गए हैं। जबकि हेलीकॉप्टर को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। सभी यात्रियों को मौके से केदारनाथ हेलीपैड पर ले जाया गया।

केदारनाथ धाम में दर्शन को पहुंच रहे सबसे ज्यादा श्रद्धालु
चारधाम यात्रा की शुरुआत होने के साथ ही भारी संख्या में तीर्थ यात्री दर्शन करने को पहुंच रहे हैं। 10 मई से शुरू यात्रा में केदारनाथ धाम में दर्शन को सबसे ज्यादा तीर्थ यात्री पहुंच रहे हैं। केदारनाथ धाम में अब तक 391590 श्रद्धालुओं ने दर्शन किया है। बदरीनाथ धाम में अब तक 178521 तीर्थ यात्री पहुंचे हैं। गंगोत्री और यमुनोत्री धामों में 151490 और 164132 तीर्थ यात्रियों ने दर्शन किए हैं।

केदारनाथ में अचानक मौसम बिगड़े तो पैदल पड़ावों पर दें सूचना
पुलिस अधीक्षक डॉ. विशाखा अशोक भदाणे ने केदारनाथ पहुंकर यहां सुरक्षा व्यवस्था को परखा। गुरुवार को एसपी ने कहा पुलिस कर्मियों को कहा कि तीर्थयात्रियों से सौम्य व्यवहार किया जाए। एसपी ने लाइन में लगे तीर्थयात्रियों से बातचीत की।

इसी बीच उन्होंने प्रत्येक प्वाइंट पर ड्यूटीरत पुलिस बल से भी बात की। मन्दिर परिसर में दर्शन के लिए कतारबद्ध व्यवस्था में ही दर्शन कराने को कहा। कहा कि मौसम में अचानक हो रहे परिवर्तन के कारण हो रही बारिश की सूचना तत्काल नीचे के पैदल पड़ावों को दी जाए ताकि उनके स्तर से तीर्थयात्रियों को इसकी जानकारी दी जा सके।

उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा चलाए गए ऑपरेशन मुस्कान में निरंतर कार्य हो रहा है। केदारनाथ धाम सहित पैदल मार्ग में बिछड़ने वाले श्रद्धालुओं व परिजनों से संबंध में मंदिर परिसर सहित पीए सिस्टम के माध्यम से अनाउंसमेंट कर मदद की जा रही है।

जबकि खोया पाया केंद्रों को और भी मजबूत किया गया है। एसडीआरएफ व एनडीआरएफ के बीच बेहतर समन्वय रखा जाए। यात्रा व्यवस्थाओं के संचालन में किसी भी तरह की समस्या आने पर तत्कालन अधिकारियों को सूचित करने को कहा।

केदारनाथ यात्रा मार्ग पर 13 दुकानों का चालान 
खाद्य सुरक्षा और बाट माप विभाग की ओर से गुरुवार को केदारनाथ यात्रा मार्ग पर 13 दुकानों के चालान किए गए। खाद्य पदार्थो की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए विभाग की टीम ने  फाटा से सोनप्रयाग के बीच 13 प्रतिष्ठानों के चालान किए।

जबकि कई दुकानों पर रेट लिस्ट भी चस्पा कारवाई गई। जिला अभिहित अधिकारी मनोज सेमवाल एवं वरिष्ठ बाट माप निरीक्षक जगदीश सिंह के नेतृत्व में यह कार्रवाई की गई। मनोज सेमवाल ने बताया कि निरीक्षण के दौरान 5 दुकानदारों को नोटिस जारी किया गया।

साथ ही रेट लिस्ट की जाँच की गई एवं प्रतिष्ठानों पर मौके पर रेट चस्पा कराये गए। वरिष्ठ बाट माप निरीक्षक जगदीश सिंह ने बताया कि 8 दुकानों में ओवररेटिंग पर चालान कर 7500 रूपए का जुर्माना वसूला गया।