ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडकेदारनाथ-बदरीनाथ, गंगाेत्री-यमुनोत्री चारधाम पर जाने से पहले टैक्सी का बनाएं ग्रीन कार्ड, नहीं तो हो जाएंगे परेशान 

केदारनाथ-बदरीनाथ, गंगाेत्री-यमुनोत्री चारधाम पर जाने से पहले टैक्सी का बनाएं ग्रीन कार्ड, नहीं तो हो जाएंगे परेशान 

चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालु अपने वाहनों के लिए ग्रीन और ट्रिक कार्ड चार अप्रैल से बनवा सकेंगे।एक मई से उत्तराखंड के सभी यात्रा मार्गों पर अस्थायी चेकपोस्ट स्थापित कर दी जाएंगी।

केदारनाथ-बदरीनाथ, गंगाेत्री-यमुनोत्री चारधाम पर जाने से पहले टैक्सी का बनाएं ग्रीन कार्ड, नहीं तो हो जाएंगे परेशान 
char dham road
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तानSat, 23 Mar 2024 01:53 PM
ऐप पर पढ़ें

चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए बहुत बड़ा अपडेट सामने आया है। केदारनाथ, गंगोत्री, बदरीनाथ समेत चारों धामों में दर्शन को जाने वाले तीर्थ यात्रियों को यह काम करना अनिवार्य है नहीं तो उनकी यात्रा पूरी नहीं हो पाएगी।

दिल्ली-एनसीआर, यूपी, राजस्थान समेत अन्य राज्यों से चारधाम पर टैक्सी में आने वाले श्रद्धालुओं को अपनी गाड़ियों के लिए ग्रीन कार्ड बनवाना अनिवार्य है। ऐसा नहीं करने पर उन्हें चारधाम यात्रा पर जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालु अपने वाहनों के लिए ग्रीन और ट्रिक कार्ड चार अप्रैल से बनवा सकेंगे।एक मई से उत्तराखंड के सभी यात्रा मार्गों पर अस्थायी चेकपोस्ट स्थापित कर दी जाएंगी। चारधाम यात्रा मई के दूसरे सप्ताह से शुरू होने जा रही है। परिवहन विभाग ने यात्रा की तैयारियों को शुरू कर दिया।

 परिवहन आयुक्त सनत कुमार सिंह ने अधिकारियों को तैयारियां शुरू करने के निर्देश जारी किए। उन्होंने बताया कि चार अप्रैल से ग्रीन और ट्रिप कार्ड के लिए ऑनलाइन व्यवस्था की जा रही है। यात्री अपने वाहनों के लिए ऑनलाइन ही औपचारिकताएं पूरी कर सकते हैं।यात्रा के लिए तय नोडल,अपर नोडल और सहायक नोडल कार्यालय में यात्रा सेल का गठन किया जाएगा। यह सेल यात्रियों की समस्याओं का समाधान करेगा।

मालूम हो कि 10 मई अक्षय तृतीया के दिन यमुनोत्री और गंगोत्री के कपाट खुल जाएंगे। पिछले साल चारधाम यात्रा में रिकार्ड संख्या में श्रद्धालु आए थे। पिछले साल चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 50 लाख के पार चली गई थी। इस बार भी अधिक से अधिक संख्या में यात्री उत्तराखंड के चारधाम आएं, इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं।

ऋषिकेश-हरिद्वार से 100 बसें चलाएगा रोडवेज
उत्तराखंड रोडवेज ने चारधाम यात्रा की तैयारी शुरू कर दी है। यात्रा में इस बार 100 बसें चलेंगी। यात्रा में बसों की कमी ना हो इसके लिए 130 नई बसों की खरीद के लिए ऑर्डर दिया गया है। यात्रा शुरू होने तक नई बसें रोडवेज के बेड़े में शामिल हो जाएंगी।

इस बार दस मई से चारधाम यात्रा का शुरू होगी। मई, जून महीने में यात्रा पीक पर रहती है। बड़ी संख्या में यात्री चारधाम पहुंचते हैं। ऐसे में प्राइवेट बसें कम पड़ जाती हैं। इससे यात्रियों को ऋषिकेश और हरिद्वार में कई दिनों तक बसों का इंतजार करना पड़ता है।

यात्रियों की सुविधा के लिए रोडवेज पीक सीजन में बसें चारधाम यात्रा पर भेजता है, लेकिन बेड़े में बसों की कमी के कारण पर्याप्त बसों का संचालन नहीं होता है। इस बार रोडवेज ने यात्रा तक 130 नई बसें खरीदने की तैयारी कर दी है। इसके लिए कंपनी को बस डिलीवर करने का ऑर्डर दे दिया है।

मई महीने तक बसों के बेड़े में शामिल होने की उम्मीद है। नई बसें मिलने के बाद चारधाम यात्रियों के साथ ही लोकल रूटों के यात्रियों को भी फायदा मिलेगा। सीजन में बसों की कमी दूर हो जाएगी। महाप्रबंधक (संचालन), रोडवेज दीपक जैन ने बताया कि चारधाम यात्रा के लिए 100 बसों का इंतजाम किया जा रहा है।