DA Image
1 अप्रैल, 2020|9:26|IST

अगली स्टोरी

कोरोना वायरस को लेकर फैसला- मस्जिदों में नहीं पढ़ी जाएगी जुम्मे की नमाज VIDEO

namaz in mosque

कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए उत्तराखंड की मस्जिदों में की मस्जिदों में सामान्य नमाज के बाद अब जुमे की विशेष नमाज पर भी पाबंदी लगा दी गई है। देहरादून के शहर काजी मौलाना मोहम्मद अहमद कासमी ने गुरुवार को पूरे प्रदेश के इमाम ओं के नाम अपील जारी करते हुए कहा है कि वह मस्जिदे बंद कर ले और केवल एक दो कर्मचारियों के साथ नमाज अदा करते रहें।

जबरन मस्जिद में घुसने वाले लोगों के नाम पुलिस को दें ताकि पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकें। शहर काजी ने कहा कि कोरोना संक्रमण को भीड़ कम करने से ही रोका जा सकता है। इसके लिए हर व्यक्ति को सहयोग करना बहुत जरूरी है। देखा गया है कि इमाम के साथ लोग जबरदस्ती कर रहे हैं जो बेहद गलत है।

वह खुद को खतरे में पड़ी रहे हैं दूसरों को भी खतरे में डाल रहे हैं ऐसे लोगों को समझना चाहिए कि वह बहुत गलत काम कर रहे हैं उन्होंने अपील की कि अपने घरों में रहे अपने घरों में रहकर ही अल्लाह से दुआ करें नमाज़ पढ़े और एक दूसरे से दूरी बना कर रहे।

 

शहर काजी शहर मुफ्ती ने जारी किया वीडियो
जुमे की नमाज मस्जिद में न पढ़ने आने की अपील का वीडियो शहर काजी मौलाना मोहम्मद अहमद कासमी और शहर मुफ्ती मुफ्ती सलीम अहमद कासमी ने जारी किया है। उन्होंने कहा है कि जैसे जोहर की नमाज घरों पर पढ़ रहे हैं उसी तरह जुमा की नमाज़ मस्जिद में पढ़ने ना आए। घर पर ही 4 फर्ज पढ़ले अल्लाह पूरा सवाब आपको अता फरमाएंगे।  बेवजह भीड़ ना करें और अपने घरों में रहे कोरोना संक्रमण से बचे रहेंगे
 
 
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:jumma namaz would not held in wake of corona pandemic in uttarakhand