DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेई भर्ती मामला: नियुक्ति से वंचित चयनितों ने लगाई न्याय की गुहार

jobs 2

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की जेई भर्ती परीक्षा में धांधली के आरोप के चलते नियुक्ति से वंचित चयनितों में भारी रोष व्याप्त है। चयनितों ने मामले राजनीतिक दबाव बनाये जाने का आरोप लगाया है। कहा कि केवल संदेह के आधार पर जी तोड़ मेहनत कर सफल हुए अभ्यर्थियों को उनके हक से वंचित किया जा रहा है। उन्होंने मामले की निष्पक्ष जांच करने एवं उनके उनके द्वारा प्रस्तुत तथ्यों को ध्यान में रखकर न्याय करने की गुहार लगायी है। यहां प्रेस क्लब में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए भर्ती में चयनित विवेक बिष्ट, विनोद नेगी, आशीष शर्मा व सुप्रिया बडोनी ने कहा अधीनस्त सेवा चयन आयोग ने वर्ष 2016 में 252 पदों पर जेई भर्ती को विज्ञप्ति जारी थी। वर्ष 2017 में परीक्षा के बाद 2018 में परीक्षा परिणाम जारी किया गया।

जिसमें असफल हुए कुछ अभ्यर्थियों ने कोर्ट में याचिका दायर का धांधली का आरोप लगाया। उनका कहना था कि परीक्षा में रूड़की के एक कोचिंग सेंटर से 66 अभ्यर्थी सफल हुए। कहा कि मामले में तत्कालीन हरिद्वार डीएम ने भी जांच की। जिसमें भर्ती प्रक्रिया पर संदेह जताया गया। चयनितों ने केवल संदेह के आधार पर भर्ती प्रक्रिया को गलत ठहराने पर रोष जताया। कहा कि कोर्ट ने मामले की जांच ऊर्जा सचिव को सौंप दी है। उन्होंने ऊर्जा सचिव से चयनितों के तथ्यों को जांच में शामिल कर न्याय करने की मांग की। कहा कि यदि उन्हें न्याय नहीं मिला तो वह कोर्ट जाने को मजबूर होंगे। इस मौके पर काजल रावत, हरेन्द्र  करन, संदीप, अजय भंडारी, मिथुन कुमार, रूबी पंवार, संध्या, अवनीश राज, सोनी कटारिया आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:je selected candidates seek justice in dehradun